घटनास्थल पर मिले चूड़ी और सिगरेट के टुकड़े भी दे सकते हैं अपराधियों के सुराग

Bhagalpur News - अनुमंडल के सभी थानाध्यक्षों और पुलिस अफसरों को प्रखंड कार्यालय के ट्रायसेम भवन में रविवार को एसडीपीओ दिलनवाज...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 03:56 AM IST
Khalganv News - cases of bunts and cigarette pieces found at the scene
अनुमंडल के सभी थानाध्यक्षों और पुलिस अफसरों को प्रखंड कार्यालय के ट्रायसेम भवन में रविवार को एसडीपीओ दिलनवाज अहमद ने वैज्ञानिक व आधुनिक तरीके से अनुसंधान करने के गुर सिखाए। उन्होंने घटनास्थल पर साक्ष्य संग्रह के तरीके पर कहा कि बारीकी से जांच करें साथ ही उस स्थान का बार बार चक्कर लगाएं। आप को जरूर कोई न कोई सुराग हाथ लग जायेगा।

उन्होंने बताया कि घटनास्थल पर मिले कपड़े, चूड़ी, व बीड़ी, सिगरेट के टुकड़े या बाल से भी आपको अपराधियों तक पहुंचने में लीड मिलेगी। उन्होंने कहा कि आप साक्ष्य के सामान को खाली हाथ नहीं उठाएं। बीना दस्ताने के कुछ भी नहीं छुएं, घटना स्थल पर आम लोगों के आने जाने पर रोक लगा दें। गीले खून और सूखे खून को उठाने की विधि, 24 घंटे के अंदर जांच सुनिश्चित करने, साथ को सादे लिफाफे में रखने, बाल का डीएनए कराकर अपराधियों तक पहुंचने जैसे कई बिन्दुओं के बारे में विस्तार से बताया। कार्यक्रम के नोडल पदाधिकारी सह कहलगांव थानाध्यक्ष वेदनाथ पाठक वैदिक ने बताया कि प्रथम दृष्टया प्रासंगिक चीजों को कवर करें। उसे मैन हैंडलिंग से बचाएं। साक्ष्य के आधार पर सजा दिलाएं, संकलित साक्ष्यों को अलग अलग पैकेट में रखें। रेप की घटना में सबसे पहले लड़का और लड़की के कपड़े को जब्त करे,गीले कापड़ो को सामान्य तापमान में सुखाएं।तथा जल्द ही उसे सजा दिलाने के लिए कोर्ट में पेश करे। मौके पर पीरपैंती इंस्पेक्टर कुणाल आनंद चक्रवर्ती, कहलगांव के सर्किल इंस्पेक्टर भूपेन्द्र नारायण सिंह, अमडंडा थानाध्यक्ष राकेश कुमार ने अपने अनुभव शेयर किये। वहीं सुजय कुमार सिंह ने भी अपने विचार रखे।

कहलगांव में पुलिस अफसरों को टिप्स देते एसडीपीओ व अन्य।

X
Khalganv News - cases of bunts and cigarette pieces found at the scene
COMMENT