मॉबलिंचिंग / बच्चा चोर कहकर विक्षिप्त महिला को पोल में बांधकर पीटा, पुलिस ने बचाई जान



पोल से बांधकर आक्रोशितों ने महिला को पीटा। पोल से बांधकर आक्रोशितों ने महिला को पीटा।
X
पोल से बांधकर आक्रोशितों ने महिला को पीटा।पोल से बांधकर आक्रोशितों ने महिला को पीटा।

  • भीड़ ने एक विक्षिप्त महिला को अपना शिकार बनाया
  • बच्चा चोर की अफवाह पर लोग महिला की जान लेने को उतारू थे

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 10:53 AM IST

जमुई. न कहीं बच्चे की चोरी हुई, न किसी ने चोरी की शिकायत जिले के किसी थाने में दर्ज कराई है। बच्चा चोरी की अफवाह में बुधवार को विक्षिप्त महिला को लोगों को मॉबलिंचिंग का शिकार बनाया। पुलिस के पहुंच जाने से महिला को उपद्रवियों के चंगुल से मुक्त करा लिया गया। मामला सोनो प्रखंड के सारेबाद पंचायत के अगहरा तहबला गांव का है। जहां भीड़ ने एक विक्षिप्त महिला को अपना शिकार बनाया। लोगों ने उस महिला की पिटाई कर दी। 

भीड़ में शामिल लोग इतने आक्रोशित थे कि बच्चा चोर की अफवाह पर वे महिला की जान लेने को उतारू दिख रहे थे। तभी मौके पर पुलिस पहुंच गई और अधमरी अवस्था में विक्षिप्त महिला को भीड़ से बचाया। गंभीर अवस्था में घायल महिला को पुलिस द्वारा इलाज के अस्पताल लाया गया जहां उसका इलाज कराया जा रहा है।

 

पुलिस कर रही जागरूक, भीड़ फिर भी है उन्मादी 
एसपी जगुन्नाथ रेड्‌डी ने बताया कि मॉब लिंचिंग को लेकर पिछले महीने सभी थाने को लोगों को जागरूक करने का निर्देश दिया गया था। इसके बाद प्रखंड स्तरीय मायकिंग भी की गई है। हर शनिवार को थाने में लगने वाले जनता दरबार में भी इसे लेकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। अभी मुहर्रम को लेकर शांति समिति की बैठक की गई उसमें भी लोगों को इसके प्रति जागरूक किया गया। इस सप्ताह विभिन्न पंचायत में मुखिया, वार्ड मेम्बर, पंचायत सचिव सहित अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर ग्रामीणों को भी पुलिस जागरूक करने का प्रयास किया है। पुलिस द्वारा बनाए गए साइबर सेनानी ग्रुप में भी इस तरह की अफवाह से बचने के लिए पोस्ट डाले जा रहे हैं। बावजूद लोग अगर इस तरह की घटना को अजाम दे रहे हैं तो पुलिस द्वारा भीड़ में शामिल लोगों की पहचान कर उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जा रही है और कार्रवाई भी की जा रही है।

 

संतोषजनक जबाव नहीं देने पर खंभे में बांधा
बताया जाता है कि अगहरा तहबला में एक वृद्ध विक्षिप्त महिला घूम रही थी। विक्षिप्त होने के कारण वह ठीक से कुछ बता भी नहीं पा रही थी। स्थानीय लोगों की नजर जब उस महिला पर पड़ी तथा उसकी जानकारी लेनी चाही तो महिला अपनी विक्षिप्तता के कारण संतोषजनक जवाब न दे पा रही थी। लोगों ने उसे बच्चा चोर समझ लिया तथा उसकी पिटाई कर दी। भीड़ से बचकर जब महिला भागने लगी तो भीड़ ने उसे पकड़ कर बिजली के खंभे से बांध दिया और उसकी जमकर पिटाई की। घटना की सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष राजेश कुमार, एएसआई रामाशीष प्रसाद यादव पुलिस जवानों के साथ तहबला पहुंचे तथा उस महिला को भीड़ से मुक्त कराया।

 

जमुई, झाझा, चकाई में भीड़ ने विक्षिप्त के साथ की मारपीट
इससे पहले भी भीड़ ने टाउन थानाक्षेत्र के सतगामा के पास एक विक्षिप्त युवक को पेड़ से बांधकर जमकर पिटाई की थी। युवक लखीसराय जिले का निवासी था और वह मानसिक रूप से विक्षिप्त था। पूछताछ में उसने अपना पता सही नहीं बताया और भीड़ ने बच्चा चोर बता उसकी जमकर पिटाई की थी। झाझा थानाक्षेत्र के धमना गांव में भी एक विक्षिप्त की पिटाई की गई, बाद में पुलिस द्वारा उसे भीड़ से बचाया और उसका इलाज करवाया। 

 

5 सितंबर को चकाई थानाक्षेत्र के जमनी गांव में एक विक्षिप्त महिला की जमकर पिटाई कर दी। बाद में पुलिस द्वारा भीड़ से महिला को छुड़ाकर उसका इलाज कराया गया। 5 सितंबर को ही चकाई के भगौन गांव में भी बच्चा चोरी का आरोप लगाते हुए एक विक्षिप्त व्यक्ति की जमकर पिटाई कर दी। बाद में उसे अधमरा होने पर पुलिस के हवाले कर दिया जहां पुलिस द्वारा उक्त व्यक्ति का इलाज कराया गया। इसी प्रकार विभिन्न प्रखंडों में भी आए दिन इस तरह की घटना को भीड़ अंजाम दे रही है, लेकिन अबतक भीड़ पर किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जा सकी है।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना