शाेध में नकल पर यूजीसी के मानक के लिए तैयार हाेगा ड्राफ्ट रेगुलेशन

Bhagalpur News - टीएमबीयू के शिक्षक अभी शाेध थीसिस में 35 प्रतिशत तक नकल की छूट पाते रहेंगे। लेकिन इस सीमा से ज्यादा नकल या समानता...

Oct 13, 2019, 06:55 AM IST
टीएमबीयू के शिक्षक अभी शाेध थीसिस में 35 प्रतिशत तक नकल की छूट पाते रहेंगे। लेकिन इस सीमा से ज्यादा नकल या समानता मिलने पर उन्हें अब तीन महीने में ही इसे सुधार कर दाेबारा जमा करना हाेगा। पहले यह अवधि छह महीने तक की थी। शनिवार काे कुलपति प्राे. एके राय की अध्यक्षता में हुई डीन की कमेटी की बैठक में यह तय किया गया। बैठक मुख्य रूप से दाे वजहाें से बुलाई गई थी। एक वजह यह थी कि यूजीसी के शाेध में नकल पर जारी 2018 रेगुलेशन काे फाॅलाे करने पर विचार अाैर दूसरी वजह थी कि एक ही थीसिस में दाे बार नकल हाे ताे क्या किया जाए। विवि के पीअारअाे डाॅ. एसडी झा ने बताया कि बैठक में तय किया गया कि सॉफ्टवेयर थीसिस में 35 प्रतिशत से अधिक नकल पाता है, तो शोधार्थी को थीसिस तीन महीने के अंदर सुधार कर दाेबारा जमा करना हाेगा। सूत्राें ने बताया कि बैठक में यह भी तय किया गया कि शाेध में नकल के यूजीसी के रेगुलेशन काे फाॅलाे करने के लिए विवि के स्तर पर ड्राफ्ट तैयार कर इसे राजभवन भेजा जाए। राजभवन की अनुमति मिलने के बाद यूजीसी का रेगुलेशन फाॅलाे किया जाए। दरअसल यूजीसी के 2018 रेगुलेशन में 10 प्रतिशत तक ही नकल या समानता की छूट दी गई है अाैर इससे ज्यादा नकल पर दंड का प्रावधान भी तय किया गया है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना