भागलपुर / दहेज के लिए दिव्यांग को दिया तीन तलाक, पत्नी ने की शिकायत, पति पर एफआईआर का आदेश

खुर्शिदा खातून। खुर्शिदा खातून।
X
खुर्शिदा खातून।खुर्शिदा खातून।

  • खुर्शिदा खातून को उसके पति शकील रजा ने कई लोगों के सामने तीन तलाक दिया
  • खुर्शिदा से जानवरों की तरह खेत में काम करवाया जाता था

दैनिक भास्कर

Sep 13, 2019, 10:51 AM IST

भागलपुर. तीन तलाक बिल लागू होने के बाद बांका के अमरपुर प्रखंड स्थित सुभहानपुर-कटोरिया गांव में तीन तलाक का पहला मामला सामने आया है। गांव की बीबी खुर्शिदा खातून को उसके पति मो. शकील रजा ने कई लोगों के सामने तीन तलाक दे दिया। महिला का मायका जगदीशपुर प्रखंड के खागा नगर, पुरैनी में है। उसके पिता का नाम मो. महमूद है। महिला दिव्यांग है। इस कारण उसके पति ने उसे तीन तलाक दे दिया। गुरुवार को महिला अपने पिता के साथ डीआईजी विकास वैभव से मिली।

 

जानवरों की तरह खेत में काम करवाया जाता था
डीआईजी ने बांका एसपी को मामले में केस दर्ज कर कार्रवाई का निर्देश दिया है। महिला ने बताया कि 29 अक्टूबर, 2016 को उसकी शादी मो. शकील रजा से हुई थी। दिव्यांग रहने के कारण उनके पिता ने अपनी हैसियत से ज्यादा उपहार ससुरालवालों को दिया था। इसके बाद भी पति, सास, ननद मुझे ससुराल में प्रताड़ित करते थे। 

 

जानवरों की तरह खेत में काम करवाया जाता था। ससुरालवाले दहेज की मांग करते थे। पैसे नहीं देने पर तलाक की धमकी देने लगे। कई बार पंचायत हुई, लेकिन प्रताड़ना का दौर जारी रहा। चार सितंबर को पति व अन्य ससुरालवालों ने बुरी तरह से पीटा और घर से बाहर निकाल दिया। ग्रामीणों ने मेरे पिता को सूचना दी तो वे ससुराल पहुंचे। पति और ग्रामीणों की मौजूदगी में मेरे पति ने मुझे तीन तलाक दे दिया। तब ग्रामीणों ने बताया कि नया कानून बन गया है, उसका सहारा लो। वह पिता के साथ मायके लौट आई।

 

केस की मॉनिटरिंग बांका एसपी खुद करेंगे
तीन तलाक बिल लागू होने के बाद बांका में तीन तलाक का पहला मामला आया है। वहां के एसपी को निर्देश दिया गया है कि नए कानूनी प्रावधानों के तहत कार्रवाई करें। केस की मॉनिटरिंग खुद एसपी को करने को कहा है। तीन तलाक की बात कैसे साबित होगी, इस दिशा में भी सबूत जुटाने का निर्देश दिया गया है। -विकास वैभव, डीआईजी।

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना