पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नप की बैठक में उठा एलईडी लाइट में गड़बड़ी का मुद्दा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
76 दिन बाद गुरुवार को प्रखंड मुख्यालय परिसर स्थित यात्री धर्मशाला में नगर परिषद समान्य बोर्ड की बैठक सभापति दयावती देवी की अध्यक्षता में हुई। इसमें उप सभापति मनीष कुमार, नप कार्यपालक पदाधिकारी शशिभूषण प्रसाद सहित नौ महिला एवं ग्यारह पुरुष पार्षद शामिल हुए। बैठक में वार्डों में लगाए जा रहे एलईडी लाइट की गुणवत्ता पर सवाल खड़ा करते हुए इसमें धांधली का आरोप लगाया। पार्षदों ने कहा कि वार्डों में कब तक लाइट लगाए जाएंगे व लाइट लगाने के तरीके पर पार्षदों द्वारा सवाल खड़े किए। इस पर लाइट लगा रहे नप के मिस्त्री दिलीप साह ने सदन को बताया कि कुल पचीस वार्ड के 2499 बिजली पोल पर लाइट लगाई जानी है। अब तक 1612 लाइट लगाई गई है। कार्यपालक पदाधिकारी ने सदन को बताया कि जो कंपनी एलईडी लगा रही है,उसे सात वर्ष तक मेंटेन करना है। लाइट खराब होने पर उसे 72 घंटा के अंदर बदलना है। इसके अलावा जय माता दी एजेंसी पर विचार मुख्यमंत्री निश्चय योजना सबके लिए आवास वार्ड सत्रह से पचीस तक शहरी बिजली फीडर सुल्तानगंज में जोड़ने पर विचार हुआ। वहीं सम्राट अशोक भवन निर्माण वार्ड 16 व 25 में नल-जल योजना के अनुमोदन, छूटे गली-नली योजना आदि पर विचार किया गया। कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि पिछले छह माह में जो भी प्रस्ताव लिया गया है,उसे अलग से समीक्षा कर क्रियान्वयन किया जाय। बैठक में वार्ड स्तर पर नियुक्त सफाई मजदूर की हाजिरी पार्षद करेंगे। वार्ड 25 के पार्षद चुनेश्वर मंडल ने कार्यपालक को पासबुक दिखाते हुए शौचालय निर्माण की राशि खाते में अब तक नहीं भेजे जाने की शिकायत की।

बैठक में शामिल सभापति दयावती देवी, उप सभापति मनीष कुमार व अन्य।

जल-नल कार्य नहीं होने पर पार्षद ने दी धरना की चेतावनी
नगर परिषद वार्ड ग्यारह की पार्षद नीलम देवी ने सदन को बताया कि मेरे वार्ड में जल-नल का कार्य अगर नहीं होगा, तो हम धरना-प्रदर्शन के लिए विवश हो जाएंगे। वहीं पूर्व कार्यपालक व वर्तमान प्रधान सहायक पर अन्यान्य के दौरान दिए गए आवेदन पर चर्चा हुई। जिसमें उन्होंने हस्ताक्षर स्केनिंग कर इस्तेमाल करने जैसे कई आरोप लगाया। जिसपर प्रधान सहायक इस आरोप को सदन में निराधार बताते हुए कहा कि ये जान बुझकर दबाव बनाने के लिए पार्षदों के एक कमिटी बताकर इसकी जांच हो और झूठा आरोप लगाने वाले पर कार्रवाई हो।सदन में इस मामले में प्रधान सहायक को स्पष्टीकरण देने को कहा गया। बैठक में पार्षद सरिता देवी, बीबी गुलशन आरा, नजमा परवीन, पिंकी देवी, नीलम देवी, रामायण शरण, रामानंद पासवान, मनोज कुमार यादव, निरंजन कुमार चौधरी, चंद्रशेखर झा, चुनेश्वर मंडल, नवीन कुमार बन्नी आदि थे।

खबरें और भी हैं...