भागलपुर / मजार कमेटी के व्यवस्थापक ने कमरे में खुद को गोली से उड़ाया शव पर रखा था अवैध पिस्टल

प्रभाष कुमार सिंह की फाइल फोटो। प्रभाष कुमार सिंह की फाइल फोटो।
X
प्रभाष कुमार सिंह की फाइल फोटो।प्रभाष कुमार सिंह की फाइल फोटो।

  • पत्नी और बेटे ने कहा हमेशा तनाव में रहते थे, हत्या के बिंदु पर भी जांच

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2020, 10:14 AM IST

भागलपुर. बरारी पुल घाट के कुशवाहा टोला के 48 साल के प्रभाष कुमार सिंह ने बंद कमरे में खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। उसने बाईं कनपट्टी में खुद को एक गोली मारी है। प्रभाष कुमार सिंह पुल घाट के समीप स्थित एक मजार के व्यवस्थापक भी थे और आम का बगान लीज पर लेते थे। घटना गुरुवार की सुबह तीन बजे के बाद की है।

बरारी पुलिस ने प्रभाष के शव के ऊपर रखा देसी पिस्टल बरामद किया है, जो अवैध है। कमरे से तीन गोली व एक खोखा भी मिला है। पुलिस ने फिलहाल इसे खुदकुशी का मामला मान कर परिजनों के बयान को आधार बना केस तो दर्ज कर लिया है, लेकिन पूरे मामले में परिस्थितिजन्य सबूतों को भी ध्यान में रखकर हत्या के बिंदु पर भी जांच कर रही है। इसलिए उसने वैज्ञानिक अनुसंधान का सहारा लिया है। 

मौके पर एफएसएल टीम को बुलाया, जिसने कमरे में जाकर खून के सैंपल लिये और जरूरी जांच की, तस्वीरें लीं। प्रभाष कुमार सिंह की पत्नी कनकलता कुमारी ने पुलिस को बताया कि उसके पति मानसिक रूप से बीमार चल रहे थे। तनाव के कारण उन्होंने खुदकुशी कर ली है। वह ऊपर के कमरे में सोए थे। उसने तीन बजे सुबह तक पति को कमरे में सोए देखा था, लेकिन सुबह छह बजे वह उन्हें जगाने गई तो कमरा बंद पाया। उसने खिड़की से देखा कि पति खून से लथपथ हैं। किसी ने गोली चलने की आवाज नहीं सुनी। प्रभाष के बड़े बेटे आशीष सिंह का कहना है कि उसके पिता हमेशा तनाव में रहते थे। हमेशा कहते थे अब नहीं बचेंगे। उन्होंने खुदकुशी की है।

पुलिस का कहना है कि प्रभाष कुमार सिंह को बाईं कनपट्टी में गोली लगी है। ये संदेहास्पद लगता है। कोई दाहिने हाथ से अगर खुद को गोली मारेगा तो वह दाहिनी कनपट्टी में लगेगा। प्रभाष सिंह अधिकतर काम दाएं हाथ से करते थे। पिस्टल भी अवैध है। पुलिस बंद कमरे को खोलकर अंदर गई तो पाया कि मृतक के शव पर पिस्टल रखा हुआ था। यह भी संदेह पैदा करता है कि पिस्टल शरीर पर कैसे रखा था। 

गोली चलने की आवाज भी परिजनों ने नहीं सुनी। प्रभाष सिंह जिस मजार की कमेटी के प्रबंधक थे उस पर 22 फरवरी को उर्स होने वाला है। सिटी डीएसपी राजवंश सिंह ने बताया कि हत्या के एंगल से भी जांच चल रही है। एफएसएल टीम ने कमरे से खून के सैंपल लिये हैं। वैज्ञानिक तरीके से मामले की जांच भी की है। डॉग स्वाक्यड की टीम भी मौके पर पहुंची, लेकिन खोजी कुत्ता कमरे से नीचे घर में ही आकर रुक गया। एसएसपी आशीष भारती ने बताया कि हर एंगल से पुलिस मामले की जांच कर रही है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना