--Advertisement--

प्रेम-प्रसंग / एक साल से था प्यार, बिना दान-दहेज के मौलाना ने थाने में पढ़ाया निकाह, बाइक पर विदा हुई दुल्हन



विवि थाने में निकाह के बाद महताब अहमद बेग और सविया सूफी बेगम। विवि थाने में निकाह के बाद महताब अहमद बेग और सविया सूफी बेगम।
X
विवि थाने में निकाह के बाद महताब अहमद बेग और सविया सूफी बेगम।विवि थाने में निकाह के बाद महताब अहमद बेग और सविया सूफी बेगम।

  • साहेबगंज के पुराना टोला निवासी महताब अहमद बेग और सविया सूफी बेगम का हुआ निकाह 
  • थानेदार और पार्षद प्रतिनिधि बने इसके साक्षी

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 11:45 AM IST

भागलपुर.   विवि थाने में गुरुवार को साहेबगंज के पुराना टोला निवासी महताब अहमद बेग और सविया सूफी बेगम का निकाह कराया गया। एक साल से दोनों के बीच प्रेम-प्रसंग चल रहा था। लड़की के घरवाले शादी को राजी थे, लेकिन लड़के वालों को यह शादी मंजूर नहीं थी। 

 

गुरुवार को विवि थानेदार संतोष कुमार शर्मा, पार्षद प्रतिनिधि इफ्तेखार हुसैन उर्फ पोपल व अन्य गणमान्य लोगों की मौजूदगी में मौलाना हाफिज सादाब ने निकाह पढ़वाया। दान-दहेज और बैंड-बाजे के बगैर यह शादी हुई। इस दौरान वर-वधू दोनों पक्षों के लोग भी थाने में मौजूद थे। निकाह के बाद दुल्हन सविया बेगम थाने से पति महताब के साथ बाइक से ससुराल को विदा हुई। 

 

पार्षद प्रतिनिधि इफ्तेखार हुसैन ने बताया कि लड़का-लड़की दोनों बालिग हैं। लड़का गोवा में काम करता है। दोनों में प्यार था। बुधवार रात को लड़की महताब के साथ उसके हबीबपुर स्थित घर चली गई थी। जब देर रात लड़की अपने घर नहीं पहुची तो घरवालों ने उसकी तलाश शुरू की। परिजनों को पता चला कि सविया महताब के साथ गई है। इसके बाद परिजनों को सारा माजरा समझ में आ गया। 

 

लड़की के परिजन महताब के हबीबपुर स्थित नए वाले घर पहुंचे तो वहां सविया मौजूद थी। लड़का-लड़की को एक साथ देख लड़की वाले आक्रोशित हो गए। दोनों को पकड़ कर साहेबगंज मोहल्ला लाया गया, जहां इस विवाद से दोनों पक्षों में तनातनी हो गई। मारपीट की नौबत आ गई।

 

तनाव की जानकारी पाकर पार्षद प्रतिनिधि इफ्तेखार हुसैन ने दोनों पक्षों को समझाया और मामले की जानकारी विवि पुलिस को दी। लड़के को पुलिस के हवाले कर दिया गया। इसके बाद दोनों पक्षों में सुलह हो गया। 

 

मोहल्लेवासियों के सहयोग से दोनों पक्ष शादी को हुए तैयार
आखिरकार मोहल्लेवासियों के सहयोग से दोनों पक्ष शादी को तैयार हो गए। दोपहर में विवि थाने में मौलाना को बुलाया गया और निकाह पढ़वाया गया। निकाह के बाद लड़की के चाचा ने उसे ससुराल के लिए विदा किया। इस दौरान लड़की मां नाजिनी, भाई व अन्य परिजन मौजूद थे।

 

साविया मारवाड़ी कॉलेज से ग्रेजुएशन कर चुकी है। जबकि महताब ने पुणे से एनिमेशन में डिग्री हासिल की है। महताब और सविया ने बताया कि उन दोनों ने अपनी राजी खुशी से शादी की है। ग्रामीणों का कहना है कि पूर्व में भी कई बार दोनों को एक साथ देखा गया था। दोनों शादी करना चाहते थे। मगर लड़के वाले शादी के लिए राजी नहीं थे।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..