--Advertisement--

भागलपुर में सिल्क कारोबारी की बाइक सवार 2 बदमाशों ने गोली मार की हत्या

पिता की हत्या का बदला लेने के लिए पंकज अक्सर सार्जन को हत्या करने की धमकी देता था

Danik Bhaskar | Sep 08, 2018, 11:11 AM IST

नाथनगर (भागलपुर). मधुसूदनपुर के राघोपुर में शंकर गैस गोदाम के पास दिग्घी पूरबटोला निवासी सिल्क कारोबारी सार्जन मंडल (45 वर्ष) की बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। गोली उसके सिर के दाहिने तरफ लगी। घटना उस समय हुई जब सार्जन शुक्रवार की सुबह साढ़े 7 बजे अपनी बेटी को स्कूल छोड़कर लौट रहा था। उसे मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उसे सिलीगुड़ी रेफर कर दिया। सिलीगुड़ी ले जाने के दौरान नवगछिया में ही उसकी मौत हो गई।

सार्जन की पत्नी विमला देवी ने दिग्घी निवासी पंकज मंडल व एक अन्य अज्ञात पर हत्या का आरोप लगाया है और उसके खिलाफ एफआईआर कराई है। पंकज ललमटिया के नसरतखानी में रहता है। सिटी डीएसपी ने बताया कि पंकज की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। बरारी पुलिस को विमला ने बताया कि उसके पति छोटी बेटी को कबीरपुर के बालवीर चाइल्ड स्कूल में छोड़ घर आ रहे थे। गैस गोदाम के पास मोटरसाइकिल पर एक अन्य अज्ञात व्यक्ति के साथ बैठे पंकज ने पीछे से उनके सिर में गोली मार दी।

हत्या के आरोप में जेल भी जा चुका था कारोबारी
सार्जन भी पूर्व में आपराधिक प्रवृत्ति का था। परिजनों के मुताबिक 25 वर्ष पूर्व पंकज के पिता रमेश मंडल की हत्या कर दी गई थी, जिसमें सार्जन नामजद था। वह जेल की सजा भी काट चुका था। जेल से निकलने के बाद वह सिल्क के कपड़े व सूत की फिनिशिंग का व्यापार करता था। पिता की हत्या का बदला लेने के लिए पंकज अक्सर सार्जन को हत्या करने की धमकी देता था।

2002 में भी कारोबारी को मारी गई थीं दो गोलियां
सार्जन के छोटे भाई नन्दू ने बताया कि 2002 में भी बदमाशों ने सार्जन को दो गोली मार दी थी। एक गोली छाती और दूसरी कनपट्टी में लगते हुए बाहर निकल गई थी। आरोप इलाके के ललन सिंह, सिकंदर, टुनटुन व निरंजन पर लगाया था। इलाज के बाद वह बच गया था। हालांकि परिजनों ने बताया कि पूर्व में गोली मारने वाले आरोपियों का सार्जन की हत्या से कोई लेना-देना नहीं है।