खुलासा / ड्राइवर ने खुद रची थी मुर्गा और कैश लूट कांड की झूठी कहानी, केस करने वाला ही हुआ गिरफ्तार

गिरफ्तार ड्राइवर के कारनामे की जानकारी देते सिटी डीएसपी राजवंश सिंह। गिरफ्तार ड्राइवर के कारनामे की जानकारी देते सिटी डीएसपी राजवंश सिंह।
X
गिरफ्तार ड्राइवर के कारनामे की जानकारी देते सिटी डीएसपी राजवंश सिंह।गिरफ्तार ड्राइवर के कारनामे की जानकारी देते सिटी डीएसपी राजवंश सिंह।

  • पुलिस ने ड्राइवर के बयान पर लूटी गई सवारी गाड़ी को कोलाखुर्द गांव से किया बरामद
  • बांका के पदमपुर में मुर्गा बेच कर ड्राइवर ने कहा-लूट हो गई है, जीरोमाइल थाने में दर्ज कराया था मामला

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 10:49 AM IST

भागलपुर. इंजीनियरिंग कॉलेज के पास छह क्विंटल मुर्गा और कैश लूट मामले का जीरोमाइल पुलिस ने 24 घंटे के भीतर खुलासा कर दिया है। मुर्गा लूट की पूरी घटना झूठी थी। पुलिस ने मुर्गा लूट का केस करने वाले सवारी गाड़ी के ड्राइवर मो. अजमत को ही गिरफ्तार कर लिया है। वह गोराडीह के पिथना गांव का रहने वाला है।

पुलिस ने उसकी निशानदेही पर मुर्गा वाहन को जगदीशपुर के कोलाखुर्द गांव के बरामद कर लिया है। लूटा मुर्गा और कैश बरामद नहीं हो पाया है। ड्राइवर अजमत ने बांका के पदमपुर गांव में उदय कुमार के पॉल्ट्री फॉर्म मुर्गा को बेच लूट की झूठी कहानी बनाई और जीरोमाइल थाने में केस दर्ज करा दिया। लेकिन पुलिस की जांच में अजमत का फर्जीवाड़ा पकड़ा गया।

बयान बदलता रहा ड्राइवर, घटनास्थल पर लगा था कैमरा
सिटी डीएसपी ने बताया कि कथित लूट की घटना के बाद जीरोमाइल थानेदार राज रतन, सबौर थानेदार अजय कुमार अजनबी अौर दारोगा जवाहर लाल सिंह समेत पूरी टीम हरकत में आ गई। पीड़ित ड्राइवर को लेकर पुलिस इंजीनियरिंग कॉलेज के पास गई, जहां घटनास्थल बताया जा रहा था। लेकिन संयोग से वहां कैमरा लगा था। ड्राइवर ने पुलिस को बताया कि यहीं हथियार के बल पर उससे मुर्गा समेत वाहन और कैश लूटा गए हैं। लेकिन पुलिस ने जब कैमरा होने की जानकारी ड्राइवर को दी तो उसने तुरंत घटनास्थल बदल लिया। पुलिस को शक हो गया। कड़ाई से से पूछा तो झूठ की कहानी का पर्दाफाश हो गया।

बचने के लिए एक लाख रुपए मालिक को दे दिया
ड्राइवर को जब यह पता चल गया कि उसकी झूठी कहानी पकड़ी गई है तो उसने एक लाख रुपए अपने मालिक अमजद को भिजवा दिया। अमजद जयखूंट गांव का रहने वाला है। अमजद का मुर्गा और पैसे लेकर वह कहलगांव जाने के लिए निकला था। पुलिस के मुताबिक, नवगछिया से मुर्गा लेकर वह कहलगांव जाने के बदले सीधे बांका चला गया। जहां उदय के यहां मुर्गा देकर लौटा और गाड़ी को कोलाखुर्द गांव में छिपा दिया। इसके बाद जीरोमाइल पुलिस को जाकर लूट की झूठी कहानी बताई और केस दर्ज कराया। 

पुलिस बांका के पदमपुर गांव भी गई, जहां ड्राइवर ने मुर्गा अनलोड दिया था। आसपास के लोगों ने बताया अमजत ही गाड़ी से मुर्गा लेकर आया था और उदय को दिया। पुलिस को यह भी पता चला कि उदय से पैसे देकर ड्राइवर ने मुर्गा बेचा है। वहां पहले से और मुर्गा था, इस कारण यह पता नहीं चल सका कि कौन मुर्गा ड्राइवर ने बेचा था और कौन वहां पहले से था।

ड्राइवर पर चलेगा झूठा केस करने का मुकदमा
सिटी डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार ड्राइवर पर झूठा केस करने का मुकदमा चलेगा। उसके खिलाफ 182/211 के तहत अभियोजन चलाने के लिए संबंधित कोर्ट को लिखा जाएगा। इसके अलावा मुर्गा खरीदने वाले उदय को भी लूट की झूठी साजिश में राजदार मान कर आरोपी बनाया जाएगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना