--Advertisement--

छठ महापर्व की तैयारी में जुटे श्रद्धालु,बाजारों में उमड़ी भीड़, लगा जाम

छठ पूजा से पहले शनिवार को बाजारों में खरीदारों की भारी भीड़ उमड़ी। कहलगांव से एकचारी रेलवे स्टेशन के पास तक वाहनों...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 03:32 AM IST
Khalganv - the pilgrims gathered in the preparation of the chhath mahaprabhu the crowds in the markets
छठ पूजा से पहले शनिवार को बाजारों में खरीदारों की भारी भीड़ उमड़ी। कहलगांव से एकचारी रेलवे स्टेशन के पास तक वाहनों की लंबी लाइन लगी रही। जाम से झारखंड व बिहार के सीमावर्ती इलाकों के लोग घंटों फंसे रहे। कहलगांव व महगामा सहित झारखंड की ओर से आने-जाने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इधर, जाम हटाने के लिए एक भी पुलिस जवान नहीं दिखा, जो यातायात को सुचारू करवा सके। इस संबंध में एसडीपीओ दिलनवाज अहमद ने बताया की जाम से निपटने के लिए शहर के सभी चौक- चौराहों पर पुलिस बल को तैनात किया गया है। लोगों को भी अपने वाहनों को भीड़भाड़ वाले रास्ते में ले जाने से परहेज करना चाहिए।

तीन घाटों पर होगा छठ,अफसरों ने किया निरीक्षण

सुल्तानगंज|लोक आस्था के महापर्व छठ पूजा की तैयारी जोर शोर से शुरू हो गई है । इस बार नगर परिषद की ओर से घाटों पर अधिक भीड़ बढ़ने के कारण इस वर्ष तीन घाटों का निर्माण करा रही है । जिसमे जहाज घाट , अजगैबीनाथ मुख्य घाट और नया अजगैबीनाथ पश्चिम का निर्माण कराया जा रहा है । इसको लेकर शनिवार को कार्यपालक पदाधिकारी शशिभूषण प्रसाद सभापति दयावती देवी उपसभापति मनीष कुमार ने सभी घाटो का निरीक्षण किया । कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि तीनों घाटों पर छठव्रतियों के लिए बेरिकेडिंग लगा दिया गया है । नगर परिषद की ओर से घाटों तक पहुंचने वाली एप्रोच पथ की मरम्मत कराई गई है । तीनों घाटो पर कुल 10 चेजिंग रूम महिलाओं के लिए निर्माण कराया जाएगा । सभी घाटों पर एसडीआरएफ और गोताखोर की व्यापक व्यवस्था रहेगी । मेडिकल टीम और एबुलेंस की तैनाती दोनों दिन घाट पर मौजूद रहेंगे । खतरनाक घाट को चिन्हित कर उसे बेरिकेडिंग कर पोस्टर के द्वारा चिह्नित किया जाएगा। शनिवार को घाट निरीक्षण करने पहुंची सभापति दयावती देवी ने बताया कि इस वर्ष श्रद्धालुओं को कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी । जरूरत के हिसाब से तैयारी में कोई कमी नहीं होने दी जाएगी । घाट पर सफाई के लिए मजदूरों की संख्या बढ़ा दी गई है । मजदूरों को निर्देश दिया गया है गंगा किनारे से पॉलिथीन पूरी तरह से साफ कर दिया जाए । कार्यपालक पदाधिकारी शशिभूषण प्रसाद ने लोगों से अपील की है कि गंगा की साफ सफाई और शहर को पॉलिथीन मुक्त बनाने में नगर परिषद का सहयोग करें । सुरक्षित घाट पर ही स्नान व पूजा करें ।

सुल्तानगंज घाट का निरीक्षण करते कार्यपालक पदाधिकारी।

घाटों पर पटाखे छोड़ने पर लगाई गई रोक

कहलगांव | एसडीओ सुजय कुमार सिंह ने छठ पूजा को लेकर समूचे अनुमंडल क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दिया है। इसके तहत समूचे अनुमंडल क्षेत्र में किसी भी प्रकार के आग्नेयास्त्र एवं घातक हथियारों पर पूर्णत: प्रतिबंध रहने की बात कही गई है।कोई भी ऐसा आचरण नहीं किया जायेगा जिससे किसी के भी धार्मिक भावनाओं को ठोस पहुंचे। घाटों पर किसी भी सूरत में पटाखा न बेचे जाय न ही छोड़ा जाय।किसी भी प्रकार की प्रतिकूल परिस्थिति के लिए प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी व पुलिस बल जिम्मेदार होंगे। बिना अनुमति के सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं कराया जाय।

स्नान के लिए घाटों पर जुटे श्रद्धालु

नवगछिया | छठ रविवार को नहाए खाए के साथ शुरू होगा। छठ को लेकर जहान्वी चौक स्थित गंगा घाट पर स्नान के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी थी। गंगा स्नान के लिए नवगछिया सहित आसपास के जिले कटिहार, पूर्णिया, सहरसा, सुपौल, मधेपुरा आदि जिलों से श्रद्धालु गंगा स्नान के लिए पहुंचे हुए थे। शनिवार को जहान्वी गंगा घाट पर हजारों की संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान किया और गंगाजल भरकर अपने घर ले गए। गंगा स्नान को लेकर पहुंचे श्रद्धालुओं की भीड़ को लेकर विक्रमशिला पुल एवं पहुंच पथ पर सुबह से ही जाम की स्थिति बनी हुई थी। पुल व पहुंच पथ पर दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई थी।

सूखी नदी को खोदकर पानी डालने की व्यवस्था में जुटे करहरिया के ग्रामीण

सुल्तानगंज | छठ पर्व को लेकर गंगा स्नान करने छठ व्रतियों के सुल्तानगंज आने का सिलसिला शनिवार को भी जारी रही।चार दिवसीय सूर्योपासना का महापर्व छठ अनुष्ठान रविवार से नहाय खाय के साथ प्रारंभ हो जाएगी।पर्व को लेकर कद्दू एवं फलों की कीमतों में बढ़ोतरी देखी जा रही है।गंगा घाट को सुव्यवस्थित एवं सुदृढ़ बनाने में नगर परिषद लगे हुए है। इधर बाथ के करहरिया पंचायत स्थित बड़ूआ एवं गहिरा नदी में छठ पर्व करने आसपास के दस गांवों के छठ व्रतियों एवं काफी संख्या में श्रद्धालु आते है।तथा छठ मइया को अर्ध्य देते हैं। लेकिन इस बार सुखाड़ के कारण लोगों के सामने भगवान भास्कर को अर्ध्य देने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करनी पड़ रही है। अराजी,देवधा एवं देवता के लोग बदुआ नदी में छठ पूजा करते हैं। बदुआ में पानी रहने के कारण उनके सामने कोई समस्या नहीं है।शेष करहरिया,देशावर,पीपरा,बड़हरा,शरीफा,पैसराहा,दिग्घी एवं किरणपुर के लोगों के सामने सूखी नदी को खोदकर पानी डालने के सिवा कोई चारा नहीं है।कहीं जेसीबी से नदी खोदा जा रहा है तो कहीं लोग खुद से ही गड्ढा खोद रहे हैं।इसी में पोलीथीन बिछाकर बोरिंग से पानी भरा जायेगा।इधर पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि संजीव कुमार सिंह ने बताया कि इस पंचायत में कुल चौंतीस सौ परिवार हैं।इसमें से लगभग तीन हजार घर-परिवार में लगभग आठ हजार सूप छठी मइया को चढ़ाया जाता है।

X
Khalganv - the pilgrims gathered in the preparation of the chhath mahaprabhu the crowds in the markets
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..