अंकल, इस वार्ड में भी टीवी लगवा दीजिए न, ताकि अपने पसंद का चैनल देख सकूं

Bhagalpur News - एक ओर जहां कोरोना वायरस से पूरा विश्व सहमा हुआ है, वहीं कुछ ऐसे भी योद्धा हैं जो अपनी जान की परवाह किए बिना इस...

Mar 29, 2020, 06:45 AM IST

एक ओर जहां कोरोना वायरस से पूरा विश्व सहमा हुआ है, वहीं कुछ ऐसे भी योद्धा हैं जो अपनी जान की परवाह किए बिना इस महामारी से पीड़ित मरीजों की सेवा में लगे हुए हैं। मायागंज अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मुंगेर का 12 साल का बच्चा जब भी वहां पर खाना और नाश्ता लाने वाले को देखता है, सिर्फ यही कहता है... अंकल यहां पर भी टीवी लगवा दीजिए न ताकि अपने पसंद का चैनल मैं देख सकूं। वह रोज नहाने की जिद भी करता है। कभी खिड़की में लगे शीशे से बाहर की दुनिया को देखने की कोशिश करता है तो कभी बेड से नीचे कूदकर अपने मन को बहलाता है। इतना ही नहीं, वह खाना पहुंचाने वाले को भी पहचान लिया है। गेट पर कर्मचारी के पहुंचते ही वह भीतर से ही आवाज लगाता है कि अंकल खाना लेकर आ गए। इसी कमरे में उसके साथ उसके गांव की एक महिला भी भर्ती है। वह उसकी हरकतों को देख कभी खुश होती है तो कभी मायूस, क्योंकि बच्चे के परिवार वाले उसके साथ नहीं हैं। वह बच्चे को अक्सर यही कहती हैं कि जल्द हमदोनों इस कमरे से निकलकर अपने गांव जाएंगे।

आवाज लगाते ही खाना लेने आ जाता है बच्चा : बबलू

भाेजन एजेंसी के कर्मचारी बबलू कुमार गुप्ता तीन दिन से रोज बच्चे और महिला को खाना पहुंचा रहे हैं। दोनों को सुबह नाश्ता, दोपहर और रात को भोजन दिया जाता है। बबलू ने बताया कि उनके भी चार बच्चे हैं। अगर अपना कोई बीमार हो जाए तो उसे घर से बाहर तो नहीं कर देते। उसकी भी सेवा करते। उन्होंने बताया कि वह जब भी खाना लेकर आइसोलेशन वार्ड में जाते हैं, बच्चा दौड़ा-दौड़ा चला आता है। उसे देखकर दया भी अाती है पर सुकून भी मिलता है, क्योंकि जब वह यहां आया था तो काफी सुस्त था लेकिन अब धीरे-धीरे वह स्वस्थ हो रहा है। जब तक वह पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाता, यहीं पर रहेगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना