बायोफ्लाॅक विधि से मछली पालन कर सालाना 50 हजार रुपए तक कर सकते हैं कमाई

Bhagalpur News - बायोफ्लाॅक विधि से मछली पालन और इस बार का अाम बजट बिहार के लिए एक साैगात लेकर अाया है। बायोफ्लाॅक में मत्स्य पालन...

Feb 11, 2020, 06:56 AM IST
Bhagalpur News - you can earn up to 50 thousand rupees annually by following fish from bioflake method

बायोफ्लाॅक विधि से मछली पालन और इस बार का अाम बजट बिहार के लिए एक साैगात लेकर अाया है। बायोफ्लाॅक में मत्स्य पालन विभाग सब्सिडी दे रहा है।

केन्द्र सरकार की योजना अार्या अटैरक्टिंग एंड रिटेनिंग यूथ इन एग्रीकल्चर के तहत बायाेफ्लाॅक मछली पालन के लिए बिहार में भागलपुर और औरंगाबाद का चयन किया गया है। बीएयू इसकी इम्प्लीमेंटेशन एजेंसी है।

बायोफ्लाॅक मछली पालन का एक ऐसी विधि है जिससे कम से कम खाद्य देकर ज्यादा से ज्यादा मछली उत्पादन किया जाता है। इसमें पोखर के तुलना में आधा खाद्य लगता है और उत्पादन पांच गुना होता है। पानी की भी बचत हाेती है। इसमें पोखर खोदने की जरूरत नहीं हाेती। चोरी या जहर से मछली के मर जाने का भी डर नहीं रहता है।

नए बजट में दाे लाख टन उत्पादन का सूबे काे मिला है लक्ष्य

बिहार में मछली की खपत अाैसतन प्रति व्यक्ति प्रति साल 7.5 किलो है, जबकि उत्पादन 5 किलो है। बाकी की जरूरत दूसरे राज्याें से पूरी करते हैं। बायाेफ्लाॅक फिश फार्मिंग के लिए नए बजट में दो लाख टन लक्ष्य सूबे काे दिया गया है। साथ ही और 500 मछली उत्पादक संघ का बनने का ऐलान किया गया है।

(जैसा कि डॉ. देबज्योति मुखर्जी ने बताया। वह युवाअाें के बीच स्वराेजगार पर काम कर रहे हैं)

टैंक में पाल सकते हैं मछली, खाना भी देना पड़ता है कम, उत्पादन भी होता है ज्यादा

इस विधि में 4000 से 10000 लीटर के टैंक बनाकर उसमें मछली पालन किया जाता है। टैंक खेत, आंगन या छत कहीं भी बनाए जा सकते हैं । इसमें मछली अपनी ही विस्टा (जो टैंक में छोड़े गए बैक्टीरिया द्वारा प्रोटीन में परिवर्तित हो जाता है) खाती है। इसीलिए बाहर से खाना देने की जरूरत कम होती है। इसमें सभी प्रकार की मछली पाली जा सकती है। इस विधि में मछली पालन कम से कम 4 माह और ज्यादा से ज्यादा 7 महीने लगते हैं। दस हजार लीटर टैंक से औसतन छह माह में दस हजार रुपये से पचीस हजार तक की कमाई हो सकती है।

डॉ. देबज्योति मुखर्जी

X
Bhagalpur News - you can earn up to 50 thousand rupees annually by following fish from bioflake method

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना