सत्यापन में 5521 अभ्यर्थियों की पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति फंसी, 25 तक डेडलाइन

Bihar Sharif News - 103 संस्थान नहीं मान रहे हैं विभाग का आदेश जिले के शैक्षणिक संस्थानों की लापरवाही से 5521 अभ्यर्थियों का भविष्य...

Jan 24, 2020, 08:46 AM IST
Nalanda News - 5521 candidates post matric scholarship stuck in verification deadline up to 25
103 संस्थान नहीं मान रहे हैं विभाग का आदेश

जिले के शैक्षणिक संस्थानों की लापरवाही से 5521 अभ्यर्थियों का भविष्य अंधर में फंसा है। विभाग द्वारा कई बार आदेश दिये जाने के बाद भी अध्ययनरत संस्थानों द्वारा अभ्यर्थियों का वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा एवं अतिपिछड़ा वर्ग के पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति के लिए सत्यापन का कार्य पूरा नहीं हुआ है। अभ्यर्थियों के ऑनलाइन सत्यापन में 103 शिक्षण संस्थानों की ओर से उदासीनता बरती जा रही है। जिला स्तर पर सत्यापन का कार्य पूरा नहीं होने के कारण हर रोज सैकड़ों छात्र-छात्राएं योजना के लाभ के लिए विभाग का चक्कर लगा रहे हैं। विभाग ने संस्थानों के सत्यापन के लिए अंतिम मौका दिया है। संभाग प्रभारी अभय कुमार विकास ने बताया कि विभाग द्वारा कई बार शैक्षणिक संस्थानों को एससी, एसटी और बीसी, ईबीसी वर्ग के छात्रों की छात्रवृत्ति के सत्यापन के लिए मेल व पत्र के माध्यम से सूचना भेजी गई है। इसके बावजूद अभी भी 103 संस्थानों के 5521 अभ्यर्थियों का सत्यापन का कार्य पूरा नहीं हो पाया है। जो संस्थान समय सीमा के अंदर सत्यापन नही करा सकेंगे, उन संस्थानों के छात्रों को इस योजना के लाभ से वंचित होना पड़ सकता है। उन्होने बताया कि जिन संस्थानों के यूजर और पासवर्ड में कोई त्रुटि हो वे डीईओ कार्यालय आकर सुधार करवा सकते है। डीईओ मनोज कुमार ने बताया कि निदेशक माध्यमिक शिक्षा ने संस्थानों द्वारा सत्यापन के लिए अंतिम डेडलाइन 25 जनवरी तय कर दी है। उन्होने कहा कि संस्थान के स्तर पर लंबित आवेदनों का तुरंत निष्पादन कराने का निर्देश दिया गया है ताकि योग्य लाभुकों को छात्रवृत्ति का लाभ दिया जा सके। उन्होने कहा कि यदि इस बार भी संस्थानों द्वारा सत्यापन कर नहीं दिया जाएगा तो अभ्यर्थी योजना के लाभ से वंचित रह जाएंगे।

भास्कर एक्सक्लूसिव

सत्यापन में संस्थान बरत रहे है लापरवाही : संस्थानों की लापरवाही के कारण अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा एवं अति पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों के आगे की पढ़ाई बाधित होगी। विभाग ने कड़ा रुकल्ह अख़्तियार करते हुए हिदायत दी है कि संस्थान 25 जनवरी तक सत्यापन का कार्य पूरा कर रिपोर्ट ऑनलाइन दें। नही तो लापरवाह संस्थानों पर भी कार्रवाई होगी।


65 आवेदन हुए रद्द : संभाग प्रभारी ने बताया कि जिले में इस वर्ष 41159 आवेदन आया था। जांच के दौरान 916 आवेदन में गड़बड़ी मिली है। 65 आवेदन को रद्द कर दिया गया है। उन्होने बताया कि एनपीएस पोर्टल से ऑन लाइन आवेदन करने के दौरान छात्रों ने बड़ी संख्या में आवेदन भरने में गलती की है। जिसके कारण आवेदन रद्द किए गए हैं। आवेदन सत्यापित होने के बाद अभ्यर्थियों को छात्रवृति की राशि सीधे लाभुक के खाते में दी जाएगी।


इन शैक्षणिक संस्थानों में है ज्यादा लंबित आवेदन

शैक्षणिकसंस्थानों के नाम बीसी/ईबीसी एससी एसटी कुल

नालंदा कॉलेज 561 120 03 684

सोगरा कॉलेज 195 39 234

स्नातक कॉलेज इसलामपुर 102 22 124

भीएम काॅलेज पावापुरी 229 70 04 303

विद्या विहार हाई स्कूल एकसारा 86 22 01 109

एसपी कॉलेज हिलसा 725 176 04 905

आरबीएचएस हिलसा 137 40 02 179

एलएसटीजी औंगारीधाम 661 146 10 817

किसान कॉलेज 297 81 03 381

एमएम काॅलेज चंडी 64 21 85

हाई स्कूल मई 67 10 77

हाई स्कूल नेपुरा बेरौटी 70 08 01 97

जीडीएम कॉलेज हरनौत 133 25 01 169

चकदीन हाई स्कूल 23 19 02 44

भगवान बुद्ध प्राईवेट आईटीआई 38 03 41

प्लस टू हाई स्कूल पावापुरी 47 07 54

X
Nalanda News - 5521 candidates post matric scholarship stuck in verification deadline up to 25
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना