समाज के सभी क्षेत्रों के कार्य में महिला-पुरुष के बीच है भेदभाव

Bihar Sharif News - बिहार पुलिस एकेडमी के प्रांगण में महिलाओं और बच्चों को संवेदनशील बनाने के लिए दो दिवसीय बाल सुरक्षा प्रशिक्षण का...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 08:51 AM IST
Rajgir News - discrimination between women and men in the work of all areas of society
बिहार पुलिस एकेडमी के प्रांगण में महिलाओं और बच्चों को संवेदनशील बनाने के लिए दो दिवसीय बाल सुरक्षा प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दूसरे दिन मंगलवार को सभी प्रशिक्षु सब इंस्पेक्टर सहित एकेडमी के पदाधिकारी शामिल हुए। कार्यक्रम का उद्घाटन बिहार पुलिस एकेडमी के प्राचार्य डीआईजी प्रवेज अख्तर ने दीप प्रज्जवलित कर किया। इस मौके पर ट्रेनर डा. स्मिता ने कहा कि जाति क्या है। पुरुष या महिला होने के साथ जो सामाजिक गुण अवसर मौके और सुविधाएं जुड़े हुए हैं वह जाति है। लड़के, लड़कियां, पुरुष, महिलाएं जो आपस में रिश्ते बनाते हैं वह भी जाति है। हम एक विशिष्ट लिंग में पैदा तो होते हैं लेकिन हमारी जाति का विभाजन सामाजिक शिक्षा पालन पोषण और उम्मीदों से होता है। उन्होंने कहा कि जाति हमारे जीवन के हर एक मोड़ पर बताता चलता है कि अगर आप एक महिला हैं तो क्या करें और एक पुरुष है तो क्या करें। समाज के हर एक क्षेत्र और दर्जे ने महिला और पुरुष से जुड़े कार्यों में अंतर और भेदभाव स्थापित कर रखा है। एक महिला क्या निर्णय लेती है। क्या जिम्मेदारियां संभालती हैं। किन साधनों का उपयोग करती हैं। यहां तक कि क्या कपड़े पहनती हैं। इसे समाज ने अपनी नीतियों में बांध रखा है।

प्रशिक्षु सब इंस्पेक्टर और एकेडमी के पदाधिकारी हुए शामिल

प्रशिक्षण में शामिल पुलिस पदाधिकारी

देश में महिला पुलिस पदाधिकारियों की संख्या 5 प्रतिशत

आज पूरे देश में महिला पुलिस पदाधिकारियों की संख्या मात्र 5 प्रतिशत ही है। जिसके कारण बस ड्यूटी थाना ऑफिस तक ही सिमटकर रह जाती है। उन्होंने कहा कि देश के सभी राज्यों और केंद्र की सरकार इस बात पर ध्यान दें कि पुलिस प्रशासनिक विभाग में महिलाओं को अधिक से अधिक के सहभागिता दे। इससे समाज व देश में काफी फायदे होंगे। उन्होंने कहा कि गया और पटना जिला के 50 थानों में भी हमलोग ट्रेनिंग दे रहे हैं। ताकि महिला पुलिस पदाधिकारी अधिक से अधिक जागरूक हो सके। उन्होंने कहा कि समाज में पुलिस का बहुत महत्वपूर्ण रोल होता है। महिलाओं के साथ अच्छा व्यवहार करें।

महिलाओं के साथ लगातार हो रही घटनाएं

उन्होंने कहाक समाज में महिलाओं के साथ कई प्रकार के घटनाएं लगातार घटती है। उसमें भी काफी कमी आएगी। आरोपी को कड़ी सजा मिलेगी। जब थानों में महिला और बच्चे कोई घटना से जुड़े अपने शिकायत दर्ज करने आते हैं तो उनके साथ मधुर संबंध रखते हुए उनकी बातों को पूर्ण रूप से सुने। आज लोगों में पुलिस के प्रति गलत भावना बैठी हुई है। उन्होंने कहा कि घर से छोटे-छोटे बच्चों को लोग काम करने के लिए बाहर भेजते हैं। इसमें सबसे बड़ा कोई दोषी है तो उसका परिवार है। आज यह घटना भी समाज के लिए बहुत चुनौतीपूर्ण है। इसे भी रोकना होगा। बच्चों को शिक्षा से जोड़कर समाज का एक अच्छा नागरिक बनाने के लिए प्रयास करने का जरूरत है। इस अवसर पर एसपी रामाशंकर राय, डीएसपी वीरेंद्र कुमार, ट्रेनर अंकित, इंस्पेक्टर निर्मल कुमार सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

X
Rajgir News - discrimination between women and men in the work of all areas of society
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना