जिले के पांच हाईस्कूलों की वैधता की होगी जांच शर्तों पर खरा नहीं उतरने पर खत्म होगी मान्यता

Bihar Sharif News - एजुकेशन रिपोर्टर | बिहारशरीफ़ खराब मैट्रिक और इंटर रिजल्ट की आंच विद्यालयों तक पहुंचने लगी है। जिले के माध्यमिक...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:55 AM IST
Nalanda News - the validity of the five high schools in the district will be valid if the conditions are not met
एजुकेशन रिपोर्टर | बिहारशरीफ़

खराब मैट्रिक और इंटर रिजल्ट की आंच विद्यालयों तक पहुंचने लगी है। जिले के माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालयों की बुनियादी संरचनाओं की जांच की जाएगी। जो विद्यालय शर्तों पर खरे नहीं उतरेंगे उनकी मान्यता समाप्त की जाएगी। इस संबंध में बिहार विद्यालय शिक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने डीएम को पत्र भेजा है। इसके पूर्व बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के पूर्व अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद पर लगे आरोपों की आंच नालंदा के हाईस्कूलों तक पहुंच गयी थी। बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने डीएम को पत्र लिखकर जिले के पांच हाईस्कूलों की वैधता की जांच का आदेश दिया था। जांच के बाद सभी संबंधित विद्यालयों के छात्रों को दूसरे विद्यालयों से टैग कर दिया गया था। बोर्ड के अध्यक्ष ने डीएम को पत्र लिखकर जिले के पांचहाईस्कूलों की वैधता की जांच का आदेश दिया है। डीएम ने डीईओ की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच टीम बनायी है। अध्यक्ष ने कहा है कि जल्द से जल्द हर हाल में जांच रिपोर्ट बोर्ड को भेज दी जाये। स्थलीय निरीक्षण कर भूमि, भवन, वर्ग कक्ष, प्रयोगशाला, पुस्तकालय, उपस्कर, खेलकूद के मैदान, निर्धारित मानक के अनुरूप योग्य शिक्षक, शिक्षकेत्तर कर्मचारी से संबंधित रिपोर्ट बनानी है। यह चेतावनी दी गयी है कि रिपोर्ट का निर्माण किसी भी सूरत में भौतिक सत्यापन के बिना नहीं बनायी जाएगी।

इन शर्तों की होगी गहन जांच

1. संस्थान की स्थापना सोसाइटिज रजिस्ट्रेशन अधिनियम अथवा ट्रस्ट के अनुरूप होना चाहिए।

2. इसके सदस्यों के नाम, पेशा व आपसी संबंध का ब्योरा।

3. संस्थान प्रबंधन समिति की संरचना, सदस्यों के नाम, पेशा और उनके संबंधों के शपथ पत्र।

4.  प्राचार्य, शिक्षक व कर्मियों की योग्यता, जन्म तिथि और उनके कार्य बंटवारे का ब्योरा।

5. निरीक्षण के वक्त प्रमाण पत्रों की मूल प्रति दिखानी होगी।

6.  छात्रों के नामांकन व उनकी गतिविधियों का ब्योरा।

7.  शिक्षकों व कर्मियों के बीच 10 तारीख के पहले वेतन भुगतान का सबूत।

8. संस्थान की आय व व्यय।

9. कम से कम 2 एकड़ जमीन।

जांच टीम में ये अधिकारी हैं शामिल |
इन हाईस्कूलों की वैधता की होगी जांच



इन मानकों पर उतरना होगा खरा




















हार्ड व सॉफ्ट कॉपी मांगी गयी है


इन शर्तों का भी करना होगा पालन | माध्यमिक व उच्च माध्यमिक वर्गों की छह-छह क्लासरूम, प्रिंसिपल कक्ष, 20 शिक्षकों के लिए स्टाफ कक्ष, तीन प्रयोगशालाएं, कम्प्यूटर कक्ष, गणित कक्ष, पुस्तकालय, बहुद्देश्यीय कक्ष, खेलकूद उपकरण, भंडार कक्ष, चिकित्सा कक्ष, प्रशासनिक कक्ष, बरामदा, छह प्रसाधन कक्ष, सुरक्षा गार्ड क्वार्टर। इन सबों का क्षेत्रफल 1110 वर्ग मीटर होना चाहिए।

कमेटी की गतिविधियों पर भी पैनी नजर


योगेंद्र सिंह, डीएम

शिक्षकों व कर्मियों की योग्यता की होगी बारीकी जांच

हाईस्कूल में तैनात प्राचार्य से लेकर शिक्षकों व गैर शैक्षणिक कर्मियों की योग्यता की वैधता की भी जांच ऑरिजिनल प्रमाण पत्र की जाएगी। शिक्षकों व कर्मियों की बहाली से संबंधित कागजात व उनको दिये गये वेतन की पीरी विवरणी सूक्ष्मता से जांची जाएगी। हर माह की 10 तारीख के पहले वेतन का भुगतान चेक से किया जाना चाहिए। बहाली में आरक्षण का पालन किया गया है कि नहीं।

X
Nalanda News - the validity of the five high schools in the district will be valid if the conditions are not met
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना