घर-घर जाकर वोटर स्लीप बांटे गए, बूथ पर बीएलओ से भी आप ले सकते हैं पर्ची

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 06:55 AM IST

Bihar Sharif News - पमतदाताओं की सुविधा के लिए घर-घर जाकर फोटो वोटर स्लीप बांटे गए हैं। जिले के लगभग सभी मतदाताओं को अब तक वोटर स्लीप...

Bihar Sharif News - voter slips were distributed from house to house you can take slips from blo on booth
पमतदाताओं की सुविधा के लिए घर-घर जाकर फोटो वोटर स्लीप बांटे गए हैं। जिले के लगभग सभी मतदाताओं को अब तक वोटर स्लीप दिए जा चुके हैं। अगर किसी को फोटो वोटर स्लिप नहीं मिले है वे चुनाव के दिन बूथ पर उपस्थित बीएलओ से पर्ची ले सकते हैं। मतदान के दिन पॉलिटिकल पार्टी के लोग 200 मीटर के बाहर पर्ची दे सकते हैं। मतदान को लेकर धारा 144 लागू रहेगी।

वाहन चेकिंग में 14 लाख 59 हजार की वसूली :

एसपी ने बताया कि अब तक वाहन चेकिंग के दौरान 14 लाख 59 हजार रुपए की वसूली गयी है। जिसे सरकार के खाते में जमा करा दिया गया है।

वाहन परिचालन पर रोक नहीं लगी है

डीएम ने कहा है कि चुनाव के दिन वाहन परिचालन पर कोई रोक नहीं है। लेकिन वाहन से वोटरों को ढोते पकड़े जाने पर वाहन जब्त कर लिया जाएगा। साथ ही उस पर सवार व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया जाएगा।

केन्द्रीय पुलिस बलों के साथ बैठक : स्वच्छ और शांतिपूर्ण चुनाव सम्पन्न कराने के लिए जिले में केन्द्रीय पुलिस बल की 11 कंपनी, बीएमपी की 6 कंपनी, मध्य प्रदेश सैप की 4 कंपनी तथा जिला पुलिस बल के करीब 6 हजार पुलिस बल तैनात किये गये हैं। शुक्रवार को डीएम योगेन्द्र सिंह और एसपी निलेश कुमार ने इनके पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रणनीति तैयार की। असामाजिक तत्वों के साथ इन्हें सख्ती से पेश आने का निर्देश दिया गया है।

कैंडिल मार्च निकालकर किया गया जागरूक :

मतदाताओं को जागरूक करने के लिए कई जगहों पर महिलाओं द्वारा कैंडिल मार्च निकाला गया। जीविका से जुड़ी महिलाओं ने कैंडिल मार्च निकालकर वोटरों को जागरूक किया। बिंद, हरनौत, हिलसा सहित सभी प्रखंडों में कैंडिल मार्च निकालकर 19 मई को अनिवार्य रूप से मतदान करने की अपील की गयी।

सखी मतदान भवन पर रहेगा सेल्फी जोन| सखी मतदान केन्द्र वाले भवन पर सेल्फी जोन रहेगा। वोट देने वाले मतदाता वहां पर अपनी सेल्फी ले सकते हैं।

अंतिम दिन सिर्फ मांझी की सभा

चुनाव प्रचार के अंतिम दिन जिले में किसी बहुत बड़े स्टार प्रचारक का कार्यक्रम नहीं हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने रहुई में जनसभा की। उन्होंने कहा कि 23 मई को भाजपा शोक दिवस मनायेगी। उन्होंने कहा कि बीजेपी झूठ की राजनीति करती है।

चंडी | चंडी में नहीं हुई किसी बड़े नेता की सभा

राजनीति में हमेशा चर्चा में रहे चंडी में इस बार एक भी चुनावी सभा नहीं हुई। संभवत: यह पहला बार है जब किसी मैदान या सार्वजनिक स्थल पर किसी भी पार्टी के स्टार प्रचारक की सभा नहीं हुई। एक दौर में चंडी विधानसभा हुआ करता था। 1952 से चंडी विधानसभा की राज्य की राजनीति में दखल रही है। कलांतर में चंडी से कटकर नगरनौसा और थरथरी प्रखंड बना। बाद में चंडी परिसीमन की भेंट चढ़ गया और हरनौत विधानसभा में शामिल हो गया। इस बार लोकसभा में किसी भी दल के बड़े नेता का यहां सभा नहीं होना चर्चा का विषय बना हुआ है। सामाजिक कार्यकर्ता उपेन्द्र सिंह, सत्येन्द्र नारायण सिंह, कपिल शर्मा, धर्मेन्द्र कुमार सहित कई ने कहा कि इसके लिए स्थानीय नेता ही जिम्मेवार हैं। चंडी का राजनीतिक इतिहास बड़ा रहा है। स्व. तारकेश्वरी सिन्हा, संकुल शिक्षा प्रणाली के जन्मदाता पूर्व शिक्षा मंत्री स्व. डा. रामराज सिंह, 1977 विधानसभा चुनाव में रिकार्ड मत से जीतने वाले हरिनारायण सिंह जैसे चर्चित चेहरे हैं।

X
Bihar Sharif News - voter slips were distributed from house to house you can take slips from blo on booth
COMMENT