--Advertisement--

स्टूडेंट ने सुसाइट के पहले बॉयफ्रेंड को भेजी सेल्फी, पिता ने कहा वो ऐसा नहीं कर सकती

छात्रा ने कई बार रजौन के रहने वाले युवक से की थी बात।

Danik Bhaskar | Nov 17, 2017, 07:22 AM IST

पूर्णिया। मरंगा थाना क्षेत्र के एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज की छात्रा कंचन कुमारी की मौत के मामले की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है और इस मामले के आरोपी छात्र अमित कुमार रंजन को पुलिस ने भोपाल से गिरफ्तार कर पूर्णिया ले आई है। इस संबंध में मरंगा थानाध्यक्ष देवराज राय ने बताया कि फिलहाल छात्र को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

- जांच में यह बात सामने आई है कि मौत से पहले कंचन ने बांका के रजौन निवासी अमित कुमार रंजन को सेल्फी भेजी थी। अमित भोपाल में इंजीनियरिंग का पढ़ता है। जांच में इस बात की पुष्टि हुई कि दोनों के बीच प्रेम-प्रसंग का मामला चल रहा था।

- कंचन के मोबाइल को आधार मानकर पुलिस जांच पड़ताल शुरू की। पता चला कि किसी एक नंबर पर कंचन ने आत्महत्या करने के पहले अपनी एक सेल्फी भेजी है। पुलिस ने इसी को आधार मानकर अगली कार्रवाई की और नंबर का सीडीआर निकाला तो पता चला कि एक मोबाइल नंबर का लोकेशन भोपाल और बांका जिला था। उस पर कई बार बात की गई है।

- इसके बाद पुलिस इस बात को ध्यान में रखकर जांच में जुट गई थी कि कहीं किसी ने कॉलेज परिसर में आया था। पूछताछ के दौरान कंचन के प्रेमी अमित कुमार रंजन ने बताया कि वह कभी कंचन से मिले नहीं था। बल्कि एक बार मिस्ड कॉल के जरिये उनसे बात हुई थी और इसके बाद वे लगातार फोन पर उनके संपर्क में थे।

रूम मेट ने बताया था- रातभर नहीं सोई थी कंचन
- 16 जुलाई को कंचन की मौत के बाद उसकी रूम पार्टनर ने उस समय पुलिस को बताया था कि कंचन रात में काफी रोई थी और सुबह चार बजे के पहले उठकर बरामदे पर एवं नीचे मैदान में टहल रही थी।

- लेकिन सुबह जब उसकी रूम पार्टनर और कॉलेज के गार्ड ने देखा कि कंचन रहने वाले कमरे के बरामदे पर गमछे से फांसी लगा ली। इसके बाद सुबह नौ बजे कंचन के पिता को फोन पर इसकी सूचना दी गई और 09:46 बजे उसके परिजन पहले पहुंचकर कंचन की हत्या करने का आरोप लगाया था। इसके बाद पोस्टमार्टम कराकर पुलिस परिजन को शव सौंप दिया था।

क्या था मामला
16 जुलाई को बीटेक थर्ड ईयर की छात्रा कंचन कुमारी ने मरंगा थाना क्षेत्र के एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज के बरामदे पर गमछे से फांसी लगा ली थी। उनका पैर जमीन में सटे रहने के कारण उनके परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी। उनके पिता शिक्षक शंभु रजक और उनके मामा ने कंचन की हत्या किए जाने की बात कही थी। पुलिस ने प्रथम दृष्टया जांच में ही कहा था कि यह मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा है।

पिता ने कहा-उनकी बेटी नहीं कर सकती आत्महत्या
- कंचन के पिता शंभू रजक ने बताया कि उनकी बिटिया पढ़ाई में काफी मेधावी थी और वह इस तरह के आत्महत्या जैसे कायरतापूर्ण काम नहीं कर सकती थी। पुलिस इस मामले के तह तक जुट चुकी है। उनके पिता आज भी सिरे से खारिज कर रहे हैं कि उनकी बिटिया ने आत्महत्या की है।

- उन्होंने पुलिस प्रशासन से मांग की है कि वे गिरफ्तार छात्र अमित रंजन का बयान वीडियोग्राफी कर दर्ज करें ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके और उनके सामने उनके अलावे उनके परिजनों को भी रखा जाए।