• Hindi News
  • Bihar
  • Buxar
  • Buxar News big vehicles jammed in the same way even after the route chart of shiva procession was fixed

शिव बारात का रूट चार्ट तय रहने के बाद भी उसी रास्ते में घुस आए बड़े वाहन, जाम

Buxar News - शहर के लोगों के लिए जाम अब पूरी तरह नासूर बन गया है। थोड़ी दी अनदेखी होते ही शहर में ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह...

Feb 22, 2020, 07:06 AM IST
Buxar News - big vehicles jammed in the same way even after the route chart of shiva procession was fixed

शहर के लोगों के लिए जाम अब पूरी तरह नासूर बन गया है। थोड़ी दी अनदेखी होते ही शहर में ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह चरमरा जाती है। कुछ ऐसा ही हाल शुक्रवार को महाशिवरात्री के दिन हुई। जिसने शहर में यातायात व्यवस्था में लगे लोगों की पोल खोल दी। मौका था शिव-पार्वती विवाह महोत्सव के बारात शोभा यात्रा का। यात्रा को लेकर ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गई। जिसके कारण घंटों जाम में लोग फंसे रहे। दूसरी ओर, प्रशासनिक चूक के कारण बारात के रूट में ओवरलोड ट्रक व बड़े वाहनों के कारण स्थिति और भी दयनीय हो गई। बताते चलें कि महाशिवरात्री के अवसर पर शहर में भव्य शोभा यात्रा निकाली जाती है। जिसमें विभिन्न मोहल्लों के लोग हिस्सा लेते हैं। यात्रा में हाथी घोड़े व ऊंट भी शामिल होते हैं। उसके बाद ट्रैक्टर पर विभिन्न भगवानों के प्रतिरूप के रूप में बच्चों को बैठाया जाता है। प्रतिवर्ष यह यात्रा निकाली जाती है। जिसका रूट प्रशासनिक अधिकारियों को पूर्व में ही बताया जाता है। जिसके बाद प्रशासन यात्रा के लिए हरी झंडी दिखाती है। लेकिन, प्रत्येक बार की तरह इस बार भी प्रशासन व पुलिस के अधिकारी यात्रा की अनुमति देने के बाद अंतरधान हो गए। जिसका खामयाजा आम जनता को झेलना पड़ा।

दैनिक भास्कर ने पिछले सात दिनों में दो बार जाम की स्थिति से कराया अवगत

जाम की समस्या को देखते हुए दैनिक भास्कर ने पिछले सात दिनों में दो बार प्रशासन व पुलिस का ध्यानाकर्षण कराया। जिसमें जाम की मुख्य समस्याओं व तत्कालीन डीएम अरविंद कुमार वर्मा के एक्शन प्लान की जानकारी दी गई। उसके बावजूद जिम्मेदार अधिकारी इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। पूछे जाने पर वह सिर्फ आश्वासन दिया जाता है कि अतिक्रमण हटाया जाएगा। लेकिन, शहर में अतिक्रमण की समस्या के अलावा भी जाम लगने के कई कारण है। जिनपर सभी को ध्यान देना होगा।

स्टेशन फंसे में जाम में फंसे लोग।

रूट तय होने के बाद भी नहीं लगाई गई नो-इंट्री : बारात की शोभायात्रा की लंबाई पांच सौ मीटर से अधीक थी। विभिन्न समितियों ने इसके लिए आवेदन के साथ रूट चार्ट दिया था। लेकिन, प्रशासन ने रूट चार्ट के आधार पर ट्रैफिक व्यवस्था नहीं की। प्रशासन व पुलिस ने रूट चार्ट के तहत नो-इंट्री नहीं की थी। जिसके कारण बाईपास व बाजार समिति के अलावा बस स्टैंड की ओर बड़े वाहनों का आना जाना लगा रहा। ऐसे में बारात के पीछे-पीछे मॉडल थाना के द्वारा तैनात एक पुलिस पदाधिकारी व दो जवानों को लगाया गया था। जो जाम हटाने के लिए नाकाफी थे। जब दोपहर तीन बजे पूरा शहर जाम की चपेट में आ गया। जगह-जगह वाहनों के खड़े होने से स्थिति काबू के बाहर हो गई। जिसके बाद थानाध्यक्ष दलबल के साथ ज्योति प्रकाश चौक पहुंचे।

मैट्रिक परीक्षार्थियों के निकलने के बाद स्थिति और भी बदतर

पुलिस अभी जाम को पूरी तरह हटा भी नहीं पाई थी इस बीच मैट्रिक परीक्षार्थियों की छुट्‌टी हो गई। हालांकि, परीक्षार्थियों की संख्या काफी कम थी, लेकिन जाम में फंसन के कारण बच्चियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। एमपी हाई स्कूल व जवाहर मध्य विद्यालय से परीक्षार्थियों के निकलने के बाद क्रमश: पुलिस चौकी व अंबेडकर चौक के पास वाहन फंस गए। जाम में बारात में शामिल शिवभक्त, छोटे बड़े वाहन, दो पहिया वाहन व ऑटो-ई रिक्शा की कतार लग गई। जिसे हटने में लगभग एक घंटे का समय लग गया।

X
Buxar News - big vehicles jammed in the same way even after the route chart of shiva procession was fixed

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना