• Hindi News
  • Bihar
  • Buxar
  • Dumranv News satyam shivam sundaram and lag ja ja throat se phir hearing enchanted the audience

सत्यम शिवम सुंदरम व लग जा गले सेे फिर... सुनकर मंत्रमुग्ध हो गए दर्शक

Buxar News - कार्यक्रम प्रस्तुत करते कलाकार। सिटी रिपोर्टर | डुमरांव बिस्मिल्लाह खां की पुण्यतिथि के अवसर पर बुधवार को...

Aug 22, 2019, 09:00 PM IST
कार्यक्रम प्रस्तुत करते कलाकार।

सिटी रिपोर्टर | डुमरांव

बिस्मिल्लाह खां की पुण्यतिथि के अवसर पर बुधवार को हरि जी हाता स्थित बिस्मिल्लाह खां संगीत एकेडमी के तत्वावधान में एक विशेष सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रवीण होमियो रिसर्च सेंटर के सभागार में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता संगीत के क्षेत्र में विशिष्ट स्थान रखने वाले संगीत गुरु काजू चौबे ने किया। उन्होंने कहा कि इस संगीत एकेडमी ने बिस्मिल्लाह खां की याद को जीवित रखने एवं संगीत की पहचान तथा उसकी विरासत को आगे बढ़ाने का कार्य किया है। बदलते दौर में अब खेल-कूद के साथ-साथ संगीत के क्षेत्र में भी जीविका के ने आयाम सुलभ हो रहे हैं।

भारतर| शहनाई वादक उस्ताद बिस्मिल्लाह खां की पुण्यतिथि पर हुआ कार्यक्रम का आयोजन

खां साहब की स्मृति में खुलेगा विश्वविद्यालय

एकेडमी के प्रबंध निदेशक डॉ बी एल प्रवीण ने लोगों को एकेडमी की गतिविधियों से परिचित कराते हुए इस बात पर खुशी जाहिर की कि बिहार सरकार द्वारा बिस्मिल्लाह खां के नाम पर सूबे में पहला संगीत विश्वविद्यालय खुलने जा रहा है। सरकार द्वारा इसके लिए जमीन तलाशने की प्रक्रिया चालू की जा चुकी है।

कलाकारों ने प्रस्तुत किए कार्यक्रम

नगर के चर्चित संगीतकार मनोज जायसवाल ने रफी की आवाज में कई गीत प्रस्तुत किए जिस पर जम कर तालियां बजीं। अम्बरीश पाठक ने अपनी सुरीली आवाज में गीत पेश कर काफी वाहवाही लूटी। तबले पर संगत करते हुए प्रसिद्ध तबला वादक जगदम्बा सिंह ने बेहतर प्रस्तुति की। मंच संचालन अनुराग मिश्रा ने किया।

राष्ट्रीय युवा क्रांति संघर्ष समिति ने मनाई पुण्यतिथि

भारत र| उस्ताद विस्मिल्लाह खां की पुण्यतिथि पर राष्ट्रीय युवा क्रांति संघर्ष समिति ने कपिलमुनी मार्ग स्थित सभागार में पुष्प अर्पित किया। नौके संयोजक संजय, अशोक, भरत, कैमुद्दिन, प्रकाश, धीरज, टिंकू, मुख्तार खां, विमल, कमरूद्दिन आदि रहे।

प्रस्तुतियों पर दर्शकों ने खूब बजाईं तालियां

कुमारी सुमन ने अपनी जादुई आवाज में ‘सत्यम शिवम सुंदरम’ और ‘लग जा गले फिर ये हंसी रात हो न हो ‘ गाना सुनाकर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। श्रोताओं ने सत्यम शिवम सुंदरम पर खूब तालियां बजायी। कार्यक्रम के दौरान राम सिंह, शैलेन्द्र, भृगुनाथ, शिव, दीपक, अजय, डॉ शशांक,बबन, गुलशन आदि थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना