पुलिस पर फायरिंग कर भागने वाले तीन तस्करों की हुई पहचान, हो रही छापेमारी

Buxar News - शुक्रवार की सुबह जवही दियर गांव के पास कोईलवर तटबंध पर पुलिस पर फायरिंग करने वाले शराब तस्करों में तीन की पहचान का...

Oct 13, 2019, 07:25 AM IST
शुक्रवार की सुबह जवही दियर गांव के पास कोईलवर तटबंध पर पुलिस पर फायरिंग करने वाले शराब तस्करों में तीन की पहचान का दावा पुलिस ने किया है। एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा के निर्देश पर इस मामले में स्पेशल टीम गठित कर फायरिंग में शामिल शराब तस्करों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी हो रही है। पुलिस का दावा है कि उन्हें जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। छापेमारी के साथ ही दियारे इलाके में गश्त और वाहन चेकिंग अभियान भी तेज कर दिया गया है। शराब तस्करों के नेटवर्क को पूरी तरह से ध्वस्त किया जाए। शराब तस्करों द्वारा की गई फायरिंग की घटना में भले ही कोई पुलिसकर्मी जख्मी नहीं हुए है।

अल सुबह पुलिस पर फायरिंग झोंक भाग निकले थे तस्कर : गंगा के रास्ते शराब तस्करी की सूचना पर शुक्रवार की सुबह जवही गांव के पास कोईलवर तटबंध पर पुलिस ने जाल बिछाया था। शराब तस्कर पुलिस की पकड़ में आ भी गए थे। लेकिन पुलिस को देखते ही चार-पांच बाइकों पर सवार तस्कर अंधाधूंध फायरिंग करते हुए यूपी की तरफ भाग निकले। पुलिस की मानें तो गुप्त सूचना के आधार पर तस्करों की घेराबंदी की गई थी। लेकिन तस्करों द्वारा पुलिस पर फायरिंग जैसा दुस्साहस करने का अनुमान पुलिस को नहीं था।

अपराधियों की कर ली गई है पहचान


तस्करी का सेफ जोन बना दियारा क्षेत्र, नाव से भी होती है तस्करी

बिहार में शराबबंदी कानून के लागू होने के बाद से ही दियारा क्षेत्र में शराब की तस्करी बड़े पैमाने पर की जा रही है। शराब तस्करी के लिए गंगा का रास्ता सेफ जोन बन गया है। तस्कर रात के अंधेरे में भी नाव के सहारे शराब की तस्करी करह रहे है। भरियार ओपी के साथ ही तिलक राय के हाता ओपी, रामदास राय के डेरा ओपी व नैनीजोर थाना पुलिस द्वारा कई बार यूपी से तस्करों द्वारा लाई जा रही शराब की खेप को पकड़ा गया है। जो इस बात को प्रमाणित करता है कि गंगा का दियारा क्षेत्र शराब तस्करी का सबसे सेफ जोन है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना