--Advertisement--

यात्रीगण कृप्या ध्यान! दें इस हॉल्ट पर ट्रेनें रुकेंगी लेकिन टिकट नहीं मिलेगी

Buxar News - दानापुर-मुगलसराय रेलखंड के बक्सर जिले में स्थित वीर कुंवर सिंह धरौली हॉल्ट पर ट्रेन ठहरती तो है पर आप चाहें तो भी...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 02:51 AM IST
Buxar News - travelers please pay attention do not stop the train on this halt
दानापुर-मुगलसराय रेलखंड के बक्सर जिले में स्थित वीर कुंवर सिंह धरौली हॉल्ट पर ट्रेन ठहरती तो है पर आप चाहें तो भी इसकी सवारी टिकट के साथ नहीं कर सकते क्योंकि रेलवे यहां टिकट नहीं जारी करती। चौंक गए न..। जी हां, हम बात कर रहे हैं धरौली हाल्ट की। जिसकी सुधि लेने वाला कोई नहीं है। वर्ष 1999 में बने इस हॉल्ट पर यात्री सुविधाएं नदारद हैं। रेलवे ने यात्री टिकट के लिए टेंडर एक प्राइवेट व्यक्ति को दी है। लेकिन, टिकट काउंटर बंद रहता हैं। ठेकेदार अपने हिसाब से काउंटर खोलता है। उसका कोई फिक्स टाइमिंग नहीं है। हॉल्ट पर रात को अंधेरा पसर जाता है। चापाकल खराब पड़े हुए हैं। टिकट नहीं मिलने से बेटिकट यात्रा की मजबूरी बनी हुई है। जबकि सघन टिकट चेकिंग अभियान के कारण बेटिकट यात्रा करने वाले यात्रियों को फाइन भी देना पड़ रहा है।

बंद रहता हैं टिकट काउंटर

प्राइवेट टिकट काउंटर के भरोसे चलने वाले वीर कुंवर सिंह धरौली हाल्ट की समस्या बताते हुए रहथुआ गांव की ऋतु राजकहती हैं कि प्लेटफार्म नहीं होने की वजह से ट्रेन में सवार होने में महिलाओं को बहुत परेशानी होती है। टिकट काउंटर अक्सर बंद रहता है। कई बार टिकट नहीं मिलने पर यात्रियों को बिना टिकट ही यात्रा करना पड़ता है। शनिवार को पटना जाने के लिए टिकट नहीं मिला। हालांकि, हाल्ट संवेदक मुकेश ने बताया कि जब ट्रेनों का समय होता है तब टिकट काउंटर खोला जाता है।

दानापुर रेल खंड पर वर्ष 1995 में बना है वीर कुंवर सिंह धरौली हॉल्ट

गेट में लटका ताला

प्लेटफॉर्म पर नहीं है एक भी लाइट

कैथी निवासी यात्री आलोक कुमार कहते हैं कि स्थापना काल से हीं यहां लाइट नहीं है। लेकिन, रेल प्रशासन ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। लाइट नहीं होने की वजह से रात के वक्त अंधेरे में चोर-लुटेरों का खौफ भी रहता है। चोर कई बार अंधेरे का फायदा उठाकर यात्रियों का सामान लेकर चंपत हो जाते हैं।

खराब हैं स्टेशन पर लगे सभी चापाकल

स्थानीय निवासी राजकुमार कहते हैं कि हॉल्ट पर लगे दो चापाकल में से दोनों खराब पड़े हैं। एक अन्य प्लेटफॉर्म से दूर है। जहां जाने में यात्रियों को ट्रेन छूटने की चिंता सताती है। डेली पैसेंजर आरसी प्रसाद बताते हैं कि अप प्लेटफार्म के चापाकल से कभी पानी नहीं निकला। वहीं डाउन प्लेटफार्म पर लगा चापाकल भी पिछले 20 दिनों से खराब पड़ा हुआ है।

तथ्य एक नजर में :

X
Buxar News - travelers please pay attention do not stop the train on this halt
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..