• Hindi News
  • Rajya
  • Bihar
  • Chhapra
  • Chhapra News every person should forget about their mutual differences and engage in nation building and security of the nation shiv bachchan

हर व्यक्ति को अपने आपसी मतभेद भुलाकर राष्ट्र निर्माण व राष्ट्र की सुरक्षा में लगना चाहिए : शिवबचन

Chhapra News - प्रत्येक व्यक्ति को अपने आपसी मतभेद भुलाकर राष्ट्र निर्माण एवं राष्ट्र की सुरक्षा में लगना चाहिए। राष्ट्र...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:06 AM IST
Chhapra News - every person should forget about their mutual differences and engage in nation building and security of the nation shiv bachchan
प्रत्येक व्यक्ति को अपने आपसी मतभेद भुलाकर राष्ट्र निर्माण एवं राष्ट्र की सुरक्षा में लगना चाहिए। राष्ट्र सुरक्षित है तभी हम सुरक्षित है। यह संदेश इसुआपुर प्रखंड के सामकौरिया बजरंग चौक पर हनुमान मंदिर परिसर में चल रहे हनुमान जयंती समारोह के 37वें अधिवेशन के आध्यात्मिक मंच से प्रवचन करते हुए अम्बिका स्थान आमी के प्रख्यात मानस प्रवाचक शिवबचन जी ने दी। राष्ट्र निर्माण के लिए किस प्रकार हम मतभेद भुलाकर सहायक बन सकते हैं। इसके लिए उन्होंने राम कथा का वर्णन किया। राजा दशरथ का दरवार अयोध्या में सजा था। इसी बीच महर्षि विश्वामित्र राजा दशरथ के पास पहुंचे और कहे कि कुछ आसुरी शक्तियां यज्ञ में बाधा उत्पन्न कर रहे है। उन शक्तियों को नष्ट करने के लिए श्री राम को वो लेने के लिए आये हुए है यह सुनते ही दशरथ जी बोल परे की आप चाहे तो मेरे प्राण ले ले लेकिन श्री राम को इस आयु में ऐसे कार्य के लिए नहीं भेज सकता। यह सुनकर विश्वामित्र जी महर्षि वशिष्ठ से कहे कि हमलोग के बीच जो मतभेद है उसे भुलाकर आप मेरी मदद करें और राजा दशरथ को समझाये कि वे इस पुनीत कार्य के लिए श्री राम को मेरे साथ जाने दें। राष्ट्र पर संकट है। शिवबचन जी महाराज ने बताया कि अगर राष्ट्र ही सुरक्षित नहीं बचेगा तो हम सब का कोई अस्तित्व नहीं रहेगा। इसके समाधान के लिए श्री राम को जाना ही होगा।

सभी स़प्रदाय के लो आपसी वैमनस्य को भुलाकर राष्ट्र के निर्माण में लगे लोग

प्रवचन करते हए अम्बिका स्थान आमी के प्रख्यात मानस प्रवाचक शिवबचन जी।

यज्ञ समाज और राष्ट्र के कल्याण के लिए होता है

महर्षि विश्वामित्र ने महर्षि वशिष्ठ से राजा दशरथ पर दबाव डालने का अनुरोध किया। यह सुनकर महर्षि वशिष्ठ राजा दशरथ को समझाये और कहे यज्ञ का बहुत बड़ा ही महत्व है। यज्ञ समाज और राष्ट्र के कल्याण के लिए होता है । यज्ञ से ही आपको चार पुत्रों की प्राप्ति हुई है। आज उसी यज्ञ को नष्ट किया जा रहा है। आसुरी शक्तिया हावी हो गई है और यज्ञ में बाधा उत्पन्न कर रही हैं। इस विषम परिस्थितियों में आप अपने चार पुत्र में से दो पुत्र को महर्षि विश्वामित्र के साथ जाने दे तभी यह संकट टलेगा। महर्षि जी की बातों की सुनकर राजा दशरथ राम और लक्ष्मण को महर्षि विश्वामित्र के साथ भेजने को तैयार हो गए। आपसी वैमनस्य को भुलाकर राष्ट्र के निर्माण में लगे।

विकारग्रस्त चित्त को गोविंद की प्राप्ति संभव नहीं :श्री ठाकुर

सिटी रिपोर्टर| दरियापुर

प्रखंड के सुंदरपुर ग्राम में भागवत कथा के छठें दिन सुप्रसिद्ध भागवत कथा वाचक परम गौ भक्त श्री संजीव ठाकुर जी ने सैकड़ों उपभोक्ताओं के बीच प्रवचन करते हुए कहा कि भागवत कथा में से रासलीला निकाल दिया जाए तो पूरी भागवत रास यानी रसविहीन हो जाएगी। रासलीला अर्थात भोग की नहीं योग की लीला है और विकार ग्रस्त चित्र प्रभु की दिव्यातिदिव्य लीलाओं के मधुर रस का अनुभव नहीं कर सकता। जब जीव परमात्मा के पूर्णरूपेण सरणागत नहीं हो जाता तब तक गोविंद की प्राप्ति संभव नहीं भगवान के प्रति पूर्ण समर्पण ही रासलीला है। वहीं भगवान श्रीकृष्ण के बाल लीला का एक प्रसंग सुनाते हुए कहा कि एक बार गुस्से में यशोदा बालस्वरूप भगवान कृष्ण के नटखटपन पर छड़ी से मारने दौड़ी तो वह पकड़ में न आये और काफी थक चुकी यशोदा मईयां बैठी थी। तब स्वयं कृष्ण भगवान मइया के सामने खड़ी हुए तब और क्रोधित हो मइया न रस्सी से बांधने लगी तो दो अंगुल रस्सी छोटी पड़ जाती है। फिर मईया के प्रेम देख भवसागर को पार करने वाले भगवान श्री कृष्ण रस्से से बंध गये यानि भगवान को तब तक मईया भी नहीं बांध पा रही थी जब तक मईया को अहंकार था। भगवान को तो निश्छल मन चाहिये। उन्हें कौन बांध सकता है, जिसके रस्सी से पूरी सृष्टि बंधी है लेकिन भक्त के प्रेम में भगवान वशीभूत हो जाते हैं। इस अवसर पर यज्ञ समिति के अध्यक्ष जितेंद्र सिंह ने भागवत कथा वाचक परम श्रद्धेय संजीव ठाकुर को फूल माला से स्वागत किया।

दरियापुर में प्रवचन के दौरान सुनते श्रोता।

Chhapra News - every person should forget about their mutual differences and engage in nation building and security of the nation shiv bachchan
X
Chhapra News - every person should forget about their mutual differences and engage in nation building and security of the nation shiv bachchan
Chhapra News - every person should forget about their mutual differences and engage in nation building and security of the nation shiv bachchan
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना