कांटे की लड़ाई में दोनों खेमा कर रहे जीत के परस्पर दावे

Chhapra News - लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 12 मई को महाराजगंज संसदीय क्षेत्र में मतदान संपन्न हो गया। सीधी लड़ाई में बीजेपी के...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:15 AM IST
Chhapra News - mutual claims of winning both the camps in the battle of the fork
लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 12 मई को महाराजगंज संसदीय क्षेत्र में मतदान संपन्न हो गया। सीधी लड़ाई में बीजेपी के निवर्तमान सांसद जर्नादन सिंह सिग्रीवाल तथा आरजेडी के रंधीर कुमार सिंह आमने-सामने हैं। लालू प्रसाद के साले पूर्व सांसद साधु यादव भी बहुजन समाज पार्टी से टिकट लेकर मैदान में तो जरूर हैं लेकिन वे मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने में सफल होते नहीं दिख रहे हैं। अलबत्ता सिग्रीवाल व रंधीर के बीच कांटे की लड़ाई होती दिख रही है। छह विधानसभा क्षेत्र में बंटे महाराजगंज संसदीय क्षेत्र के तीन-तीन क्षेत्रों में दोनों दलों को विशेष उम्मीदें हैं। आरजेडी के लिए तरैया, बनियापुर तथा मांझी निर्णायक साबित हो सकता है। वहीं बीजेपी के लिए एकमा के अलावा सीवान जिला अंतर्गत आने वाले गोरियाकोठी व महाराजगंज विधानसभा क्षेत्र से बढ़त मिलने की उम्मीद है। हालांकि सार्वजनिक तौर पर बातचीत में दोनों पक्ष सभी छह विधानसभा क्षेत्रों से बढ़त मिलने के साथ-साथ अपनी-अपनी जीत का मजबूत दावे भी कर रहे हैं। लेकिन अंदरूनी तौर पर उन्हें भी अपने मजबूत व कमजोर क्षेत्रों का अंदाजा है। आरजेडी खेमा को तरैया व मांझी के साथ-साथ बनियापुर से भारी बढ़त मिलने की उम्मीद है।

तीनों क्षेत्रों पर महागठबंधन का ही कब्ज

महाराजगंज के राजद प्रत्याशी रंधीर सिंह

महाराजगंज के निर्वतमान सांसद जर्नादन सिंह सिग्रीवाल

इन तीनों क्षेत्रों पर महागठबंधन का ही कब्जा है। तरैया से जहां आरजेडी के मुंद्रिका प्रसाद राय, बनियापुर से आरजेडी के ही केदारनाथ सिंह विधायक हैं। वहीं मांझी से महागठबंधन में शामिल कांग्रेस के विजयशंकर दूबे जीते हैं। उधर बीजेपी खेमा को एकमा, महाराजगंज तथा गोरियाकोठी में बड़ी बढ़त मिलने का भरोसा है। एकमा व महाराजगंज में जहां बीजेपी के सहयोगी जदयू का कब्जा है। वहीं गोरियाकोठी में आरजेडी का काबिज है। मतदान के बाद जो स्थिति दिख रही है उसके मुताबिक भी आरजेडी के लिए तरैया, बनियापुर तथा मांझी मुख्य रूप से निर्णायक साबित होगा। अगर इन क्षेत्रों में आरजेडी ने बड़ी बढ़त ले ली तो फिर वह आगे निकल सकता है।

फिर उसे रोकना बीजेपी के लिए आसान नहीं होगा। लेकिन अगर बीजेपी इन तीन क्षेत्रों में आरजेडी की बड़ी बढ़त को रोकने में कामयब रहा तो फिर मुश्किल हो सकती है। काउंटिंग के अब पांच दिन शेष रह गए है। अंतिम रूप से जनता किसे महाराजगंज का ताज देती है उस दिन का इंतजार करना होगा।

जनता रंधीर सिंह को उनके पिता पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह के महाराजगंज विरासत को सौंपती है या फिर जर्नादन सिंह सिग्रीवाल चुनाव न हारने वाले अपने रिकॉर्ड को बरकरार रखते हैं। जो भी उसे लड़ाई कांटे की दिख रही है और परिणाम भी काफी दिलचस्प होगा।

Chhapra News - mutual claims of winning both the camps in the battle of the fork
X
Chhapra News - mutual claims of winning both the camps in the battle of the fork
Chhapra News - mutual claims of winning both the camps in the battle of the fork
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना