अयोध्या की तर्ज पर सरयू नदी के रामघाट का होगा सौंदर्यीकरण

Chhapra News - यूपी-बिहार बॉर्डर के बीच बहने वाली सरयू नदी के पावन तट पर स्थित मांझी के प्रसिद्ध रामघाट की मरम्मती, पक्कीकरण व...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:36 AM IST
Manjhi News - ramghat of saryu river will be beautified on the lines of ayodhya
यूपी-बिहार बॉर्डर के बीच बहने वाली सरयू नदी के पावन तट पर स्थित मांझी के प्रसिद्ध रामघाट की मरम्मती, पक्कीकरण व सौंदर्यीकरण कर अयोध्या की तरह पर्यटन-स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। कार्य पूरा होने पर यह क्षेत्रीय सहित बाहर से पहुंचने वाले लोगों के लिए भी आकर्षण का केन्द्र बन जाएगा। करीब 30 करोड़ रुपए खर्च होंगे। उक्त बातें सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने केंद्रीय टीम के साथ प्रस्तावित कार्य-स्थल राम घाट के निरीक्षण के बाद हनुमान गढ़ी मंदिर परिसर में पत्रकारों से कही। इसके पूर्व बुडको कम्पनी के सहायक अभियंता आनंद मोहन सिंह तथा कम्पनी के सीनियर आर्किटेक्ट अभिषेक कुमार, सीओ दिलीप कुमार के साथ निरीक्षण किया। रेलपुल तथा जयप्रभा सेतु के बीच नदी तल से ऊपर 18 मीटर चौड़ा तथा 400 मीटर लम्बा पक्का घाट के साथ उसके बीचो-बीच एक अटल स्मृति भवन का निर्माण किया जाएगा। घाट पर चबूतरा युक्त एक दर्जन शेड व एक दर्जन शौचालय, ड्रेस चेंजिंग रूम आदि भी बनाये जाएंगे। घाट के ऊपर फुटपाथ, पेयजल तथा पार्किंग जोन का निर्माण किया जाएगा। वहीं घाट पर एक दर्जन हाई मास्ट लाईट लगाए जाएंगे। मांझी-छपरा मुख्य मार्ग पर स्थित मांझी चट्टी तथा जयप्रभा सेतु के ओवर ब्रिज से सेतु के समानांतर राम घाट तक 20 फीट चौड़े दो सम्पर्क पथों का निर्माण किया जाएगा।

मांझी में घाटों का जायजा लेते केन्द्रीय टीम।

जल्द होगा शिलान्यास | सवाल के जबाब में सिग्रीवाल ने बताया कि डुमाईगढ़ से एकमा तथा मांझी सोनबरसा से जैतपुर सड़क का निर्माण कार्य बरसात बाद प्रारम्भ हो जाएगा। इस सड़क का निर्माण के टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। उन्होंने बताया कि एन एच 19 तथा जयप्रभा सेतु की मरम्मत तथा मांझी बरौली सड़क के नवीनीकरण का शीघ्र ही शिलान्यास होगा। निरीक्षण में सांसद के साथ संत रामप्रिय दास, हेम नारायण सिंह, राणा प्रताप डब्ल्यू, पूर्व जिप सदस्य पंकज सिंह, मनोज प्रसाद सरपंच, रामायण दास, बबलू शर्मा, जय किशोर सिंह, रंजन शर्मा आदि मौजूद थे।

मांझी चट्टी में पूर्व प्रधानमंत्री की स्मृति में अटल द्वार बनेगा

मांझी चट्टी पर दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री की स्मृति में अटल द्वार बनेगा। उन्होंने बताया कि देश के लगभग पांच दर्जन घाटों में रामघाट को भी वाजपेयी जी की अस्थि विसर्जन के लिए केन्द्र सरकार द्वारा चयनित किया गया था। इसलिए उक्त घाट का महत्व बढ़ गया है। रामघाट तथा बहोरन सिंह के टोला के समीप स्थित सैकड़ों वर्ष पुराने बरगद व पीपल के पेड़ को चबूतरा के माध्यम से संरक्षित किया जाएगा। इसके अलावा मांझी श्मशान घाट पर 100 फीट चौड़ा पक्का घाट भी बनेगा तथा उक्त घाट पर शेडयुक्त चार शवदाह गृह और दो शौचालय तथा मांझी प्रखंड मुख्यालय के समीप से घाट तक 12 फीट चौड़ी पक्की सड़क, मोक्ष धाम, प्रवेश द्वार का निर्माण व प्रकाश की बेहतर व्यवस्था की जाएगी।

X
Manjhi News - ramghat of saryu river will be beautified on the lines of ayodhya
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना