पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Madhura News The Conspiracy Was Hatched To Kill The Person In Madhaura The Criminals Fired 20 Rounds On The Sit The Jailbreak And The Soldiers Escaped

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मढ़ौरा में चर्चित व्यक्ति की हत्या की रच रहे थे साजिश, एसआईटी पर अपराधियों ने 20 राउंड की फायरिंग, जान बचा भागे दारोगा व सिपाही

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मढ़ौरा में बदमाशों की गिरोह को गिरफ्तार करने पहुंची एसआईटी छपरा की टीम के एसआई मिथिलेश कुमार के नेतृत्व में टीम वापस छपरा की तरफ लौट रही थी। टीम मढ़ौरा के आसपास से छापेमारी कर बोलेरो से छपरा वापस लौट रही थी। इसी दौरान टीम मढ़ौरा बाजार के पुराने एसबीआई चौक के करीब पहुंची थी। सड़क पर पानी जमा होने से टीम की बोलेरो की रफ्तार कम था। तभी कुछ अज्ञात अपराधियों ने एसआईटी की बोलेरो को घेर लिया । उसके बाद एसआईटी की टीम अभी संभल पाती और हमला करती कि बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। करीब 20 राउंड से अधिक फायरिंग की। इस बीच एक दारोगा और सिपाही ने गाड़ी से कूदकर भागकर जान बचाई। एसआईटी में पांच ही जवान व ऑफिसर थे और बदमाश दर्जनों की संख्या में हथियार से लैस थे। लोगों ने बताया कि 20 राउंड से अधिक गोली चली होगी। करीब पांच मिनट तक लगातार गोली की ही आवाज सुनाई देती रही। लोग दहशत में थे और इधर-उधर भागने लगे। लोगों दहशत का आलम यह था कि जो वहां मौजूद थे वे कुछ बता नहीं पा रहे थे। कुछ लोगों ने बताया कि छपरा एसआईटी की बोलेरो आगे थी तभी सफेद रंग की गाड़ी ने ओवरटेक करके एसआईटी की गाड़ी को ठोकर मार दी। फिर हल्ला होना शुरू हुआ इसके बाद फायरिंग की आवाज आने लगी। फायरिंग के बाद लोग भागने लगे जब फायरिंग शांत हुई तो दो पुलिसकर्मी की मौत की जानकारी मिली जबकि तीसरा जख्मी था।

लोगों ने कहा- एसआईटी की बोलेरो आगे थी तभी सफेद रंग की गाड़ी ने ओवरटेक करके एसआईटी की गाड़ी में मारी ठोकर
अपराधियों बक गोली के शिकार हुवे जवान

डीआईजी, एसपी व ऑफिसर रहे तैनात
इस घटना की जानकारी मिलने के बाद घटना स्थल पर एसपी और सारण डीआईजी पहुंचे और देर रात तक मामले की तहकीकात में जुटे थे।

एके-47 और पिस्टल लूटकर ले गए बदमाश
सूत्रों की मानें तो बदमाश जब एसआईटी टीम पर हमला बोेले तो एके-47 और पिस्टल भी लूट ले गये। हालांकि पुलिस इस बात से इनकार कर रही है। पुलिस का कहना है कि ऐसी घटना नहीं हुई है। सूत्रों ने बताया कि बदमाश अधिक संख्या में होने के कारण पहले ताबड़तोड़ फायरिंग की और उसके बाद दो हथियार भी लूट ले गये।

चर्चा है कि वहां के जनप्रतिनिधि के सदस्य को मारने की थी प्लानिंग, पुलिस ने कहा- ऐसा कुछ नहीं है
मढ़ौरा के एक चर्चित व्यक्ति की हत्या करने का प्लान बदमाशों ने बनाया था। इसकी खबर मिलने पर एसआईटी पुलिस छापेमारी करने गई थी। इसी बीच बदमाशों ने एसआईटी पर हमला बोल दिया और दारोगा समेत सिपाही को मौत के घात उतार दिया। चर्चा है कि वहां के एक जनप्रतिनिधि के घर के एक सदस्य को मारने की प्लानिंग बदमाश बना रहे थे। इसकी खबर पुलिस को मिली थी। हालांकि इस बात की पुष्टि पुलिस नहीं कर रही है।

पीड़ितों का मुस्कुरा कर करते थे समस्या का हल
हर दिल अजीज मिलनसार थे मिथिलेश कुमार किसी के समस्याओं का समाधान मुस्कुराकर कर देते थे।लोगो को कभी नही लगा कि थानाध्यक्ष उन्हें परेशान कर रहे है। खेल या कोई स्थानीय कार्यक्रम में भी हिस्सा लेते थे। न्याय एवं ईमानदारी के साथ अपने कार्यों का निर्वहन करते थे।

मिथिलेश का हो चुका था ट्रांसफर
मिथिलेश का दूसरे जिला में ट्रांसफर हो चुका था। लेकिन एसआईटी में होने के कारण इन्हें रोका गया था। इसी बीच यह घटना हो गई।

घटनास्थल पर गोली का खोखा बरामद
घटनास्थल पर अपराधियों द्वारा बरसाएं गए गोली का खोखा बरामद किया गया है। इस बीच बदमाशों द्वारा पुलिस के हथियार लूटे जाने की बात सामने आ रही है। हालांकि पुलिस ऑफिसर इस बात से इनकार कर रहे हैं। अब जांच के बाद ही पता चलेगा।

तरैया व मशरक के तेज-तर्रार व ईमानदार थानाध्यक्ष रह चुके थे मिथिलेश, इस वजह से ही मिली थी एसआईटी की कमान
सिटी रिपोर्टर | तरैया

तरैया व मशरक थाना में तेज-तर्रार एवं इमानदार थानाध्यक्ष के रुप में मिथलेश कुमार रह चुके थे। इसी वजह से उन्हें एसआईटी की कमान संभालने के लिए सौंपी गई थी। एसआईटी में आने के बाद दर्जनों कुख्यात अपराधियों और बड़े से बड़े कांड का उदभेदन किया गया था। यहां बता दें कि मढ़ौरा में अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी। जिसमें गोली लगने से उनकी मौत हो गई। सारण जिला खासकर तरैया,मशरक व बनियापुर के लोगो के लिए मंगलवार का दिन मनहूस बनकर आया जब कर्मठ एवं अपराधियों से किसी क्षण लोहा लेने वाले पूर्व थानाध्यक्ष सह एसआईटी टीम के हेड मिथलेश कुमार पर मढ़ौरा में अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर मौत के घाट उतार दिया।

तरैया के आम लोगों के लिए अजीज थे मिथिलेश कुमार
मिथिलेश कुमार तरैया में 14 अगस्त 2011 से 22 नवम्बर 2013 तक थानाध्यक्ष थे।उनका कार्यकाल इतना अच्छा रहा कि आज भी तरैया की हर जनता उनके लिए आंसू बहाती है। तरैया में ही उन्होंने जिले का सबसे पहली बार थानाध्यक्ष का कमान संभाला और ईमानदार दरोगा के नाम से क्षेत्र में प्रचलित हो गये। लगभग छह माह में ही लोगों के दिलों पर कब्जा जमा लिया। पीड़ित जब फरियाद लेकर उनके पास आते थे तो उन्हें लगता था कि अब उन्हें न्याय मिल जाएगा। अपराधी भी मिथलेश कुमार का नाम सुनकर सिहर जाते है। कभी गरीबो के साथ अन्याय नहीं होने दिया।जिससे तरैया के लोग थानाध्यक्ष के रूप में मिथिलेश कुमार को ही देखना चाहते थे।तरैया से ट्रांस्फर होकर मिथिलेश कुमार मशरक के थानाध्यक्ष बने।

बनियापुर थानेदार रहे मिथिलेश को इस अंदाज में लोगों ने दी थी विदाई

कभी बनियापुर के जनता ने दूल्हे की तरह दी थी विदाई
बनियापुर थानाध्यक्ष बने और बनियापुर के लोगों के दिलों पर ऐसा राज किया कि जब 11 फरवरी 2019 को उनका जिला स्थान्तरण हो गया तो बनियापुर की जनता ने दूल्हे की तरह उनका विदाई रथ पर बैठाकर किया। विदाई जुलूस निकाला जिसमे हजारों की संख्या में लोगों शामिल थे। उनकी विदाई पर आँसू बहा रहे थे।फिर ऐसी हुजूम देखकर सारण एसपी भी मिथलेश कुमार पर काफी खुश हुए और उन्हें 12 फरवरी को वेस्ट थानाध्यक्ष अवार्ड से सम्मानित किया।

पहले भी जांबाज थानेदार व जवानों ने दी है शहादत
22 दिसंबर 2014 को इसुआपुर थानेदार संजय कुमार तिवारी ने जान पर बाजी खेल एक करोड़ बैंक के रुपया लूटने से बचा लिया था। 22 दिसंबर, 2014 को इसुआपुर के शामकौडिया रेलवे ढाले के पास दिनदहाड़े थानेदार को गोलियों से भून दिया गया था। थानेदार संजय कुमार तिवारी की हत्या पेट्रोल पंप मां समलेश्वरी फिलिंग सेंटर के रुपये लूटने से बचाने के दौरान हुई थी। बार-बार प्लान विफल होनेपर अपराधियों ने थानेदार की हत्या कर दी थी। हत्या के कुछ देर पूर्व थानेदार के मोबाइल की घंटी बजी थी। वे स्वयं डॉं. प्रतीक कुमार की होंडा इमेज गाड़ी से चेकिंग करते हुए इसुआपुर की तरफ बढ़े थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें