पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Darbhanga News 39the Contribution Of Darbhanga Maharaj In Education Can Not Be Forgotten39

‘शिक्षा में दरभंगा महाराज के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता’

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर सह कार्यवाह सुरेश सोनी, राज्य सभा सांसद सह राष्ट्रीय महामंत्री भाजपा भूपेंद्र यादव एवं भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष देवेश ने शैक्षणिक परिभ्रमण के तहत गुरुवार को कबरा घाट स्थित मिथिला शोध संस्थान का भ्रमण किया। श्री सोनी ने कहा कि मिथिला सदा से मनीषियों की धरती रही है। ज्ञान के प्रकाश का प्रसार सदा से ही यहां से होता रहा है। शिक्षा जगत में दरभंगा महाराज के अमूल्य योगदान को भुला नहीं जा सकता। कई ऐसे बड़े शिक्षण संस्थान अपने यहां हैं जिनकी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी, यदि दरभंगा महाराज ने उन्हें जीवन नहीं दिया होता। यहां की हजार साल पुरानी पांडुलिपियों को देखकर उस ज़माने की याद आती है जिसकी कहानी हमलोग बचपन में सुना करते थे।

मिथिला शोध संस्थान का निरीक्षण करते सर सह कार्यवाह सुरेश सोनी।

सांस्कृतिक विरासत को जानने का मिला मौका : भूपेंद्र
भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि इधर आने का मौका तो कई बार मिला किन्तु यहां की सांस्कृतिक विरासत को जानने का मौका नजदीक से आज ही मिला है। भाजयुमो जिलाध्यक्ष सह पूर्व शोधार्थी मिथिला शोध संस्थान डॉ निर्भय शंकर भारद्वाज ने कहा कि आज हमलोगों को अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हो रहा है कि आज हमलोगों के बीच आप लोग उपस्थित हैं। संस्थान को 62 एकड़ भूमि दरभंगा महाराज ने दिया हो शिलान्यास देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद ने किया हो तथा जिसके निदेशक के पद पर भारत स्तर के विद्वानों को रहने का मौका मिला हो, वह संस्थान आज वीरान पड़ा है। पुस्तकालय इतना समृद्ध नहीं होगा जितना यहां का है।

‘यह संस्थान पुन: अपना गौरव प्राप्त करेगा’
संस्थान के निदेशक डॉ देवनारायण यादव ने कहा कि आप लोगों के आने से एक उम्मीद बंधी है कि यह संस्थान पुनः एक बार अपने पुराने गौरव को प्राप्त करेगा। कैंसर अस्पताल के निदेशक डॉ. अशोक कुमार सिंह, मृत्युंजय झा, डॉ मित्रनाथ झा, डॉ राजदेव प्रसाद, प्रकाश चंद्र झा, पिंटू गुप्ता, राकेश सिंह, विशाल महासेठ, रुद्रेश रुद्रम, दीपक दास, दीपक झा आदि थे।

खबरें और भी हैं...