• Hindi News
  • Bihar
  • Darbhanga
  • Darbhanga News alleged runners from across the country and abroad made a furore breaking the stage tents and chairs and set them on fire

देश-विदेश से जुटे धावकों ने ठगी का आरोप लगाते हुए किया हंगामा, मंच, टेंट और कुर्सियों को तोड़कर किया आग के हवाले

Darbhanga News - बिहार अंतरराष्ट्रीय मैराथन दौड़ के नाम पर धावकों के साथ किए गए वादे के खिलाफ व्यवस्था और खुद को ठगी का शिकार होता...

Nov 11, 2019, 07:11 AM IST
बिहार अंतरराष्ट्रीय मैराथन दौड़ के नाम पर धावकों के साथ किए गए वादे के खिलाफ व्यवस्था और खुद को ठगी का शिकार होता देख प्रतिभागियों ने रविवार की सुबह संस्कृत विश्वविद्यालय कैम्पस सहित आसपास के इलाकों में बवाल कर क्षेत्र को रणक्षेत्र बना दिया। स्टेज को तोड़कर कुर्सियों को आग के हवाले कर दिया। इतना ही नहीं पथराव एवं तोड़फोड़ की वजह से भगदड़ मचने के कारण कई लोग जख्मी हुए और लगभग तीन घंटे तक रनक्षेत्र में इलाका तब्दील रहा। 1000 रुपए से 1500 रुपए तक की इंट्री फी लेकर लोगों को ऑन लाइन के माध्यम से आवेदन स्वीकृत कर बुलाए जाने के बाद यहां रहने, ठहरने, सोने और खाने-पीने की व्यवस्था नहीं कर जर्सी देने के नाम पर कुछ लोगों के बीच ही उसका वितरण कर आयोजक के फरार हो जाने से आक्रोशित धावकों ने विश्वविद्यालय कैम्पस में तो बवाल किया ही साथ ही साथ बेला मोड़ और बाघ मोड़ के निकट सड़क जाम कर आगजनी की। लोगों को समझाने पहुंचे पुलिस अधिकारियों और कर्मियों से भी धक्का-मुक्की कर उस पर पथराव किए जाने से विश्वविद्यालय सहित कई थाना की गाड़ी क्षतिग्रस्त हुई।

जिला खेल पदाधिकारी को आयोजकों के विरुद्ध प्राथमिकी कराने का निर्देश

टेंट में लगाई गई आग को बुझाते कर्मी।

बैरंग लौटे पूर्व केन्द्रीय मंत्री

कृषि मंत्री प्रेम कुमार, पूर्व केन्द्रीय मंत्री सीपी ठाकुर और पूर्व सांसद राजेश कुमार यादव उर्फ पप्पू यादव एवं को बैरंग लौटना पड़ा। मंत्री प्रेम कुमार और पूर्व केन्द्रीय मंत्री ठाकुर तो उसी कैम्पस के गेस्ट हाउस में थे मगर वह स्थित खराब होने की वजह से बाहर नहीं निकलेे। पूर्व सांसद भी आयोजक की आेर से ठगी करने की बात पर के बाद पीछे हट गए।

टी-शर्ट भी सभी को नहीं दी

गुस्साए लोगों ने बाघ मोड़ पर लगभग दो घंटे तक जाम कर आगजनी की। इस दौरान दोनों ओर वाहनों की लम्बी लाइन खड़ी रही। गया जिले से आए रघु कुमार ने बताया कि 12 सौ रुपए देकर इंट्री पाई। आर्मी आदि में बहाली में सुविधा मिलने के नाम पर पैसे वसूले गए थे। 13 धावकों में चार-पांच को टी-शर्ट देकर अन्य को भगा दिया गया।

भीड़ को नियंत्रित करती पुलिस|

तीन को किया गया नामजद

इस मामले को लेकर टेंट हाउस वाले अजय कुमार ने लड़कों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। वहीं, एक प्रतिभागी संतोष कुमार ने आयोजन रमण जी यादव, गंगा यादव सहित तीन को नामजद किया है। इसकी जानकारी देते हुए सिटी एसपी योगेन्द्र कुमार ने बताया कि इसमें ठगी करने का आरोप लगाया गया है। गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

खेल पदाधिकारी की है लापरवाही जांच के बाद होगी कार्रवाई : डीएम

दरभंगा | रविवार को आयोजित मैराथन दौड़ के दौरान प्रतिभागियों के विरोध प्रदर्शन किए जाने की खबर व आयोजक के बिना पूरी तैयारी के ही आयोजन करने को डीएम ने गंभीरता से लिया है। डीएम डॉ. त्यागराजन एस एम ने कहा है कि प्रतियोगिता स्थल पर अव्यवस्था के चलते अप्रिय घटना हुई है। इसकी जांच के लिए डीडीसी डॉ. कारी प्रसाद महतो की अध्यक्षता में एक त्रिसदस्यीय कमेटी गठित कर दी गयी है। जिला खेल पदाधिकारी विजय पंडित को फेडरेशन के विरुद्ध थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने का निर्देश दिया गया है। विवि प्रशासन ने प्रतियोगिता आयोजन के लिए आयोजक को सीधे अनापत्ति प्रमाण पत्र निर्गत कर दिया था। डीएम ने कहा कि अब बिना एसडीओ की अनुमति के किसी भी संस्थान की ओर से अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं निर्गत किया जाएगा। डीएम ने कहा है कि जिला खेल पदाधिकारी के स्तर पर लापरवाही बरती गई है। जिला में सभी खेल प्रतिस्पर्धाओं के आयोजन का पूरा दायित्व जिला खेल पदाधिकारी का है। जिला खेल पदाधिकारी ने बिना जांच किये ही एक निजी संस्थान को इतनी बड़ी खेल प्रतियोगिता का आयोजन कराने की अनुमति दिला दी। साथ ही आयोजक ने प्रतिभागियों से कथित तौर पर राशि की भी वसूली की है। उन्होंने कहा है कि मामले की जांच में दोष सिद्ध होने पर जिला खेल पदाधिकारी के विरुद्ध भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वहीं दरभंगा जिला खेल पदाधिकारी मधुबनी में भी पदस्थापित है। उन्होंने इस घटना के बाद अपने को आज छुट्टी में रहने की बात कही है।

बेला, बाघ मोड़ को जाम कर किया पथराव

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना