आंगनबाड़ी केंद्रों पर सरकार के निर्देश का नहीं हो रहा अनुपालन

Darbhanga News - प्रखंड में चल रहे आंगनबाड़ी केन्द्रों में सरकारी दिशा निर्देश को दरकिनार कर अनियमितता बरती जा रही है। जिसे देखने...

Feb 15, 2020, 08:25 AM IST
Kusheswarsthan News - compliance of government39s instruction at anganwadi centers is not being done

प्रखंड में चल रहे आंगनबाड़ी केन्द्रों में सरकारी दिशा निर्देश को दरकिनार कर अनियमितता बरती जा रही है। जिसे देखने वाला कोई अधिकारी नहीं है। सीडीपीओ एवं पर्यवेक्षिका कभी भी केन्द्र के निरीक्षण करने नहीं जाती हैं। जिस कारण आंगनबाड़ी केंद्रों के संचालन में सेविका एवं सहायिका की मनमानी चलती है। वहीं केन्द्रों पर मूलभूत सुविधाओं का भी घोर अभाव ह़ै। परियोजना अन्तर्गत 183 केन्द्र संचालित हैं, जिसमें मात्र 33 केंद्रों को ही सरकारी भवन आवंटित हैं। 150 केंद्र किराए के मकान में चल रहे है। जिसका मासिक किराया 200 रुपए प्रति माह निर्धारित है। लेकिन केंद्र को मिलने वाला मासिक किराया विगत एक वर्ष से विभाग ने भुगतान नहीं किया है। साथ ही बच्चों को वर्ष 2019 से पोशाक राशि भी नहीं मिली है।

केंद्र पर मौजूद बच्चों से अधिक बच्चों की बनाई गई थी उपस्थिति

दिन के डेढ़ बजे बेर पंचायत के कुमारी गांव में आंगनबाड़ी केन्द्र संख्या-43 पर सेविका और सहायिका बिना ड्रेस के थीं। केन्द्र पर 12 बच्चे बिना ड्रेस के उपस्थित थे। जबकि सेविका सुनीता देवी ने उपस्थिति पंजी पर 40 बच्चों की उपस्थिति बना रखी थी। सेविका ने बताया कि बच्चों को वर्ष 2018 के बाद ड्रेस की राशि नहीं मिली है। इसलिए बच्चे बिना ड्रेस के आते हैं। उपस्थिति पंजी के अनुसार बच्चों की उपस्थिति नहीं होने के सवाल पर उन्होंने चुप्पी साध ली।

केंद्रों पर बच्चाें काे नहीं मिल पा रहा है उनका पूरा हक

कुशेश्वरस्थान के आंगनबाड़ी केन्द्र पर भोजन करते बच्चे।

मेनू के अनुकूल पोषाहार व शत प्रतिशत उपस्थिति दर्ज कराने का निर्देश

इस संबंध में पूछे जाने पर सीडीपीओ मुन्नी देवी ने कहा कि सभी आंगनबाड़ी सेविकाओं को केंद्र पर सभी 40 बच्चों की उपस्थिति सुनिश्चित करने एवं मेनू के अनुकूल बच्चों को पोषाहार देने का सख्त निर्देश दिया गया है।

आंगनबाड़ी केंद्र संख्या-48 पर फर्जी उपस्थिति बना पोषाहार का गबन


इससे पूर्व 11 फरवरी को केंद्र संख्या 48 पर भी यही स्थिति देखने को मिला था। केन्द्र पर सेविका और सहायिका मौजूद तो थी किन्तु सेविका एवं सहायिका ड्रेस में नहीं थी। केन्द्र पर 30 बच्चे भी बिना ड्रेस के थे। आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 44 में सेविका एवं सहायिका का पद विगत सालभर से रिक्त है। केंद्र संख्या 44 को केंद्र संख्या 48 में टैग कर दिया गया है। जिससे केंद्र संख्या 48 पर दोनों केंद्र के कुल बच्चों को मिलाकर 80 बच्चे होने चाहिए। लेकिन बच्चों की उपस्थिति मात्र 30 थी। जबकि सेविका ने बच्चों के उपस्थिति पंजी पर 76 बच्चों की हाजिरी बना रखी थी। 46 बच्चों की फर्जी उपस्थिति बना कर पोषाहार गबन किया जा रहा है।

X
Kusheswarsthan News - compliance of government39s instruction at anganwadi centers is not being done

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना