• Hindi News
  • Rajya
  • Bihar
  • Darbhanga
  • Manigachhi News in the sevika sahayika selection the irregularity has been found in many places the grievance the supervisor is not angry

सेविका-सहायिका चयन में अनियमितता की कई जगहों से मिल चुकी है शिकायत, सुपरवाइजर पर कार्रवाई नहीं होने से आक्रोश

Darbhanga News - बाल विकास परियोजना की ओर से मनीगाछी के 178 आंगनबाड़ी केंद्रों के सफल संचालन के लिए 1 से 15 जुलाई तक चयन प्रक्रिया अब...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:05 AM IST
Manigachhi News - in the sevika sahayika selection the irregularity has been found in many places the grievance the supervisor is not angry
बाल विकास परियोजना की ओर से मनीगाछी के 178 आंगनबाड़ी केंद्रों के सफल संचालन के लिए 1 से 15 जुलाई तक चयन प्रक्रिया अब आखिरी चरण में है। इसके तहत सेविका व सहायिका के पद पोषक क्षेत्र के महिलाओं से ऑनलाइन आवेदन लिया गया। इन सभी केंद्रों के लिए जनसंख्या के आधार पर आरक्षण रोस्टर भी निर्धारित किया गया। वहीं, बाल विकास परियोजना में कार्यरत पर्यवेक्षिका के द्वारा सारे नियम कानून को दरकिनार करने से लोग आश्चर्य में है। चयन प्रक्रिया में बहुलता के आधार पर आरक्षण रोस्टर में हेर-फेर करने, मेधा सूची को दरकिनार करते हुए चयन करने का मामला प्रकाश में आने के बावजूद एलएस पर कार्रवाई नहीं करने से लोगों में विभाग के प्रति आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

एलएस के द्वारा कटमा बहुअरवा में भी गलत तरीके से सर्वे कर वार्ड 2 के पोषक क्षेत्र में सबसे अधिक अनुसूचित जाति के 441 बहुलता रहने के बावजूद अति पिछड़ा जाति की आबादी 202 रहने पर भी अति पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित करने का अनुशंसा कर दिया। इस बाबत आवेदिका लक्ष्मी कुमारी सहित वार्ड के बद्री चौपाल, चैतु सदाय, महेंद्र सदाम, सागर चौपाल कई अन्य लोगों के हस्ताक्षर से विभाग के अधिकारी सहित जिलाधिकारी को आवेदन देकर बहुलता के आधार पर सीट आरक्षित करने का गुहार लगाई है। वहीं, भंडारिसम पंचायत में भी 273 सामान्य वर्ग का मतदाता बहुलता रहने के बावजूद अति पिछड़ा वर्ग के 154 मतदाता पोषक क्षेत्र में रहने के बावजूद अति पिछड़ों के लिए आरक्षित कर दिया। नियमानुकूल बहुलता के आधार पर सामान्य वर्ग के लिए सीट आरक्षित होना चाहिए था, लेकिन बदले में पर्यवेक्षिका के द्वारा गलत तरीके से पोषक क्षेत्र के बहुलता को दरकिनार करते हुए अपने सुविधा के हिसाब से सीट निर्धारित कर चयन प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दिया है। सीधे बाल विकास कार्यालय की ओर से केंद्र संख्या 202 व 223 के लिए आनन-फानन में मेधा सूची भी जारी कर दी। आवेदिका के द्वारा बाल विकास परियोजना पदाधिकारी सहित जिलाधिकारी को आवेदन देकर जांच करने के साथ चयन प्रक्रिया को स्थगित कर नियमानुकूल बहुलता के आधार पर केन्द्र निर्धारित करने के बाद ही चयन प्रक्रिया किया जाने का आग्रह किया। इस संबंध में पर्यवेक्षिका गौतम कुमारी ने टालमटोल करते हुए कुछ भी कहने से इंकार किया।

जानकारी के मुताबिक पर्यवेक्षिका के द्वारा जान बूझकर कुछ लोगों के दबाब में अनियमितता करते हुए बहुलता के आधार पर सीट आरक्षित करने की अनुशंसा नहीं करने, विभागीय नियम के विरुद्ध मेधा सूची को अनदेखी कर चयन करने की बाबत विभाग के वरीय पदाधिकारी को गुमराह किया गया है। साथ ही मेधा सूची को दरकिनार करते हुए केन्द्र संख्या 226, 229 में मेधा सूची में पहला स्थान प्राप्त अभ्यर्थी का चयन नहीं करते हुए तीसरा स्थान प्राप्त अभ्यर्थी का चयन करने का गंभीर आरोप एलएस पर लगने के बावजूद विभाग के वरीय पदाधिकारी को उनके विरुद्ध कोई कार्रवाई करने से क्यो हिचक रही रही है। यह चर्चा लोगों के बीच में भी है।

जांच करने के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी : सीडीपीओ

सीडीपीओ गुंजना कुमारी ने कहा कि एलएस के विरुद्ध लोगों के द्वारा आवेदन प्राप्त हुआ है। जांच करने के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। आपत्ति वाले केंद्र पर आवश्यक जांच के बाद ही चयन प्रक्रिया की जाएगी।

X
Manigachhi News - in the sevika sahayika selection the irregularity has been found in many places the grievance the supervisor is not angry
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना