मिथिला में होटल इंडस्ट्री व इंफ्रास्ट्रक्चर को सुदृढ़ करना जरूरी : प्रो. राज किशोर

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:21 AM IST

Darbhanga News - एलएनएमयू स्नातकोत्तर अर्थशास्त्र विभाग में पर्यटन उद्योग मिथिलांचल के विशेष परिप्रेक्ष्य में विषय शुक्रवार को...

Darbhanga News - mithila needs to strengthen the hotel industry and infrastructure prof raj kishor
एलएनएमयू स्नातकोत्तर अर्थशास्त्र विभाग में पर्यटन उद्योग मिथिलांचल के विशेष परिप्रेक्ष्य में विषय शुक्रवार को संगोष्ठी हुई। पूर्व कुलपति प्रो. राज किशोर झा ने कहा कि पर्यटन किसी भी अर्थव्यवस्था में सबसे अहम स्थान रखता है। उन्होंने पर्यटन की महत्ता को मिथिला से संदर्भित करते हुए कहा कि सबसे पहले होटल इंडस्ट्री व इंफ्रास्ट्रक्चर को सुदृढ़ करना होगा। कोई भी पर्यटक जब पर्यटन के लिए आएंगे तो सबसे पहले गुणवत्तापूर्ण होटल की जरूरत होगी। उन्होंने कहा कि बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर के बिना मिथिला में पर्यटक को आकर्षित नहीं किया जा सकता है। पर्यटक मिथिला में आये इसके लिये सरकार को चाहिए कि बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर पर्यटन स्थल को मुहैया कराए।

रोजगार देने में उपयोगी है पर्यटन उद्योग : प्रो. हिमांशु शेखर

विभागाध्यक्ष प्रो. हिमांशु शेखर ने कहा कि पर्यटन उद्योग विश्व का सबसे बड़ा उद्योग है। विश्व के जीडीपी में पर्यटन उद्योग का योगदान 11 प्रतिशत है और कुल 10 प्रतिशत लोगों को रोजगार प्रदान करता है। दुनिया के सभी विकसित राष्ट्र पर्यटन उद्योग में आगे है। भारत पर्यटन उद्योग में 43 वां पायदान पर है। विश्व के कुल पर्यटकों का 0.4 प्रतिशत पर्यटक भारत आते हैं। सबसे ज्यादा 40 प्रतिशत कर भारत को होटलों से मिलता है। तब जबकि विकसित राष्ट्रों के कर का दायरा 3 से 6 प्रतिशत है। मिथिलांचल में अनेकों पर्यटक स्थल हैं जिसका चतुर्मुखी विकास कर पर्यटन उद्योगों से काफी अधिक आय प्राप्त किया जा सकता है।

नेशनल सर्किट से जुड़े मिथिला के पर्यटन स्थल : प्रो. विजय

प्रो. विजय कुमार यादव ने मिथिला के परिप्रेक्ष्य में पर्यटन पर जोर देते हुए मिथिला के पर्यटन स्थल को नेशनल सर्किट से जोड़ने पर विशेष बल दिया। प्रो. प्रणतारती भंजन ने कहा कि दरभंगा काफी पहले से संस्थागत चिकित्सा में अव्वल रहा है। जहां नेपाल तक के लोग आते रहे हैं। अतः इसे चिकित्सीय पर्यटन के केंद्र के रूप में विकसित करने का प्रयास होना चाहिए। डॉ. श्वेता वरवड़े ने कहा कि मिथिला के क्षेत्रों में कोई भी राष्ट्रीय या अंतर्राष्ट्रीय स्तर का आमजनों के लिये एयरपोर्ट नहीं है। पर्यटन के दृष्टिकोण से एयरपोर्ट की काफी महत्ता है। इसलिए एयरपोर्ट आमजनों के लिये मिथिला में शुरू किया जाय। ताकि पर्यटक इस क्षेत्र में आने के लिये आकर्षित हों। शोध छात्र चंदन कुमार ठाकुर ने कहा कि भूमि अधिग्रहण, होटल, इंफ्रास्ट्रक्चर, बेहतर कानून व्यवस्था, नेशनल सर्किट, ब्रांड अंबेसडर व गुणवत्तापूर्ण सड़क के माध्यम से ही हम पर्यटक को मिथिला के क्षेत्र में आकर्षित कर सकते हैं। मौके पर द्वितीय व चतुर्थ सेमेस्टर के ब्रजेश्वर, अरविंद, रघुवर, सुनील, राखी, अमृता, विमल, प्रशांत, रोहित ने भी विचार रखे।

सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ें विद्यार्थी सफलता जरूर मिलेगी : डॉ. प्रेम कुमार

एजुकेशन रिपोर्टर |दरभंगा

सीएम साइंस कॉलेज के रसायन शास्त्र विभाग में दूसरे सेमेस्टर के छात्रों ने शुक्रवार को पीजी चौथे सेमेस्टर के छात्रो ंको फेयरवेल दिया। प्रधानाचार्य डॉ. प्रेम कुमार प्रसाद ने छात्रों को संबोधित करते हुए उन्हें सकारात्मक सोच के साथ जीवन में आगे बढ़ने की सलाह दी। साथ ही छात्रों के उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। रसायन शास्त्र के विभागाध्यक्ष प्रो. योगेन्द्र झा ने कहा कि हमेशा से उनका छात्रों के साथ भावनात्मक जुड़ाव रहा है। यहां के छात्र काफी मेधावी है।

परीक्षा नियंत्रक प्रो. अशोक कुमार झा ने कहा कि छात्र जीवन सबसे बेहतरीन जीवन होता है। जहां छात्रों को अपने गुरुजनों से सिर्फ किताबी ज्ञान ही नहीं अपितु जीवन जीने की कला भी सीखने को मिलती है। बॉटनी विभागाध्यक्ष डॉ.सुनिला दास, गणित के विभागाध्यक्ष डॉ. हरिश्चंद्र झा, रसायन शास्त्र के प्रो. अजय मिश्रा, प्रो. बाल गोविंद ठाकुर, प्रो. निधि झा, प्रो. गौतम कुमार ने विचार रखे। पीजी चतुर्थ सेमेस्टर की आस्था मिश्रा, वर्षा कुमारी, मुकेश कुमार, संजीव कुमार, गूंजा कुमारी सहित दर्जनों छात्र छात्राओं ने अपने कॉलेज के यादगार दिनों को मंच से साझा किया। पीजी द्वितीय सेमेस्टर से संदीप कुमार, सना अकरम,निखिल कुमार,रजनीश कुमार,उजमा परवीन, कंचन कुमारी, राहुल रौशन, अनिल कुमार,अंकिता कुमारी, निखिल मिश्रा, शिव शंकर कुमार आदि ने विदाई दी।

X
Darbhanga News - mithila needs to strengthen the hotel industry and infrastructure prof raj kishor
COMMENT