--Advertisement--

पीएचसी पर सरकार के विरुद्ध आशा कार्यकर्ताओं ने की जमकर नारेबाजी

Darbhanga News - भास्कर न्यूज | कुशेश्वरस्थान पूर्वी आशा कार्यकर्ताओं की लगातार आठवें दिन हड़ताल जारी रहा। आशा कार्यकर्ताओं ने...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:45 AM IST
Kevti News - phase of protest against the government on phc
भास्कर न्यूज | कुशेश्वरस्थान पूर्वी

आशा कार्यकर्ताओं की लगातार आठवें दिन हड़ताल जारी रहा। आशा कार्यकर्ताओं ने पीएचसी पर राज्य व केंद्र सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की गई। कहा कि मांगे पूरी नहीं होगी तब तक हमलोग हड़ताल पर डटे रहेंगे। सरकार को किसी की स्वास्थ्य की चिंता है। और ना ही किसी की परिवार की सिर्फ सरकार अपने वोट बैंक की राजनीतिक करने में लगे हुए हैं। संघ के अध्यक्ष चंचल देवी ने बताया कि आशा कार्यकर्ताओं को सरकारी सेवक घोषित नहीं की जा रही है। आशा द्वारा निबंधित प्रसूति को पीएचसी ले जाने के बाद अन्य पीएचसी में रेफर किए जाने की स्थिति में संबंधित स्वास्थ्य केंद्र के आशा को दे प्रोत्साहन राशि की भुगतान अबतक सुनिश्चित नहीं किया गया है। जो कि सरकार आशा कार्यकर्ताओं पर दोहरी रवैया अपनाये हुए हैं। साथ ही आशा कार्यकर्ताओं ने बताया कि सभी केंद्र के आशाओं को बीपीएल सूची में शामिल करते हुए स्थानीय जनवितरण प्रणाली के दुकान से सस्ते दर पर अनाज उपलब्ध कराना चाहिए। जो की नहीं हो रहा है। इससे आशा कार्यकर्ताओं में पारिवारिक चलाने में कठिनाई हो रही।

धरने पर बैठी आशा कार्यकर्ता।

केवटी में 300 आशा कार्यकर्ता हैं हड़ताल पर, 8 दिनों से आंदोलन जारी

केवटी |प्रखंड भर की करीब 300 आशा कार्यकर्ताओं की पिछले 8 दिनों से चल रही अनिश्चितकालीन हड़ताल से सारा काम बाधित है। ये हड़ताली महिला कार्यकर्ता पूरी तरह रूटीन पूर्वक प्रातः 5 बजे से ही अस्पताल गेट पर पहुंचकर जाम कर देती हैं। एक भी रोगी, प्रसव कार्य के लिए आई महिला को प्रवेश नहीं करने दे रही हैं। नियमित टीकाकरण के लिए अस्पताल से दवा नहीं निकलने दिया जा रहा है। पूरे सिस्टम को इन आशा कार्यकर्ताओं ने अस्त व्यस्त कर रख दिया है। इनके समर्थन में सभी ममता, कुरियर, सफाई कर्मी आदि भी अपनी कार्यों को रोक दिया है। कुरियरों के हड़ताल के कारण चालू सप्ताह में तीन दिन टीकाकरण बाधित हो चुका है और इसके कारण करीब 600 बच्चों का टीकाकरण नही हो सका। आने वाले रोगी और डॉक्टर, कर्मी सभी वापस लौट रहे हैं। शनिवार को हड़ताली आशा कार्यकर्ताओं की बैठक उमा देवी की उमा देवी की अध्यक्षता में धरनास्थल पर संपन्न हुई। 10 दिसंबर को दरभंगा सिविल सर्जन कार्यालय का घेराव किया जाएगा। इसके बाद 13-14 दिसंबर को पटना में मुख्यमंत्री का घेराव करने का निर्णय लिया है।

X
Kevti News - phase of protest against the government on phc
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..