स्मार्ट क्लास से छात्र-छात्राओं की संख्या बढ़ी मुश्किल सब्जेक्ट समझने में शिक्षकों की जरूरत

Darbhanga News - बिहार उन्नयन योजना के तहत जिले के 194 हाई स्कूलों में स्मार्ट क्लास की शुरुआत की गई है। स्मार्ट क्लास के शुरुआती दौर...

Sep 14, 2019, 07:27 AM IST
Darbhanga News - smart class increases the number of students need of teachers to understand difficult subjects
बिहार उन्नयन योजना के तहत जिले के 194 हाई स्कूलों में स्मार्ट क्लास की शुरुआत की गई है। स्मार्ट क्लास के शुरुआती दौर में बच्चों को पढ़ाई करने में मजा आ रहा है। स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति में भी बढ़ोतरी हुई है। लेकिन, स्क्रीन पर वीडियो के माध्यम से छात्रों को समझने में थोड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। संबंधित विषय के शिक्षक यदि टीवी स्क्रीन पर होने वाली पढ़ाई का विश्लेषण कर देंगे तो ज्यादा समझा पाएंगे। शुक्रवार को शहर के 4 बड़े हाई स्कूलों का भास्कर की टीम ने जायजा लिया।

स्क्रीन के साथ शिक्षक के ब्लैक बोर्ड पर विश्लेषण से बेहतर होगी पढ़ाई

पूर्वांचल हाई स्कूल में दिन के 12.20 बजे स्मार्ट क्लास का संचालन किया जा रहा था। क्लास रूम में नौवीं कक्षा के 57 छात्र-छात्राएं मौजूद थे। टीवी स्क्रीन पर मैथ्स के प्रश्नों को हल करने की बारीकियां बताई जा रही थीं। वर्ग शिक्षक सुधीर कुमार झा टीवी स्क्रीन पर बताए जा रहे विषय से बच्चों को अवगत करा रहे थे। वे बार-बार टीवी पर बताई जा रही विधि को रोक कर बच्चों को संबंधित विषय की बारीकियों को बता रहे थे। खुशी कुमारी, सावित्री कुमारी, कशिश कुमारी आदि छात्र-छात्राओं ने कहा कि स्मार्ट क्लास में पढ़ाई करने में तो मजा आता है। लेकिन विषय से संबंधित कुछ चीजों को समझने में कठिनाई होती है। यदि शिक्षक टीवी स्क्रीन पर बताई जा रही बातों का विश्लेषण साथ में कर दें तो ज्यादा समझ में आएगी।

शुक्रवार को शहर के 4 बड़े हाई स्कूलों का भास्कर की टीम ने जायजा लिया, बच्चों में दिखा उत्साह

जिला हाई स्कूल में स्मार्ट क्लास में पढ़ते छात्र-छात्राएं।

शेड्यूल में संस्कृत और उर्दू की पढ़ाई नहीं होने से छात्र चिंतित

एमकेपी विद्यापति उच्च विद्यालय में स्मार्ट क्लास का संचालन लंच के बाद किया जाता है। स्मार्ट क्लास संचालन के चौथे दिन प्रदेश से निर्धारित निर्धारित रूटीन के अनुसार बच्चों के लिए सोशल साइंस और अंग्रेजी की पढ़ाई हुई। टीवी स्क्रीन के माध्यम से की गई पढ़ाई पर बच्चों ने संतोष जताया। लेकिन यहां के कुछ बच्चों का कहना था की टीवी स्क्रीन की पढ़ाई के साथ ही यदि शिक्षक ब्लैक बोर्ड पर संबंधित विषय का विश्लेषण कर देंगे तो समझने में ज्यादा आसानी होगी। प्रभारी प्रधानाध्यापक मो. मकसूद आलम, अंग्रेजी विषय के शिक्षक मो. मुख्तार आलम एवं सोशल साइंस की शिक्षिका शक्ति कुमारी ने कहा कि स्मार्ट क्लास के संचालन से बच्चों में खुशी है। लेकिन संस्कृत एवं उर्दू विषय की पढ़ाई शेड्यूल में नहीं होने के कारण परेशान हैं। स्मार्ट क्लास के संचालन से सबसे बड़ी एचीवमेंट छात्रों की उपस्थिति में इजाफा हुआ है। छात्र शौक से स्कूल आ रहें हैं।

जिला स्कूल में दिखा स्मार्ट क्लास में पढ़ने का क्रेज, नई तकनीक का आनंद ले रहे बच्चे

जिला स्कूल में स्मार्ट क्लास के आरंभ होने से शिक्षक और छात्र दोनों खुश हैं। यहां के छात्र अपनी सभी पढ़ाई स्मार्ट क्लास के माध्यम से ही करना चाहते हैं। गुरुवार को छात्रों के आग्रह पर साढ़े 10 बजे ही स्मार्ट क्लास का संचालन आरंभ कर दिया गया था। स्मार्ट क्लास के नोडल शिक्षक अवधेश कुमार ने कहा कि बच्चों को नई तकनीक से हाेने वाली पढ़ाई में आनंद आ रहा है। स्कूल में उपस्थिति में भी इजाफा हुआ है। शिक्षक डॉ. जय नारायण दूबे ने कहा कि क्लास संचालन के समय कक्षा भर जाता है। इससे बच्चों के साथ ही शिक्षकों का भी मन लग रहा है। टीवी स्क्रीन पर विषय से संबंधित कुछ बच्चों को समझने में कठिनाई होती है तो शिक्षक फिर से समझाते है। इसमें सबसे अच्छी बात यह है कि बच्चे खुद से पढ़ाई में रूचि ले रहे हैं। प्रभारी प्रधानाध्यापक सह डीपीओ समग्र शिक्षा अभियान संजय कुमार देव कन्हैया ने बताया कि यह प्रारंभिक चरण है। छात्रों को बेहतर शिक्षा देने का प्रयास है। छात्र स्मार्ट क्लास के संचालन से उत्साहित हैं। योजना का यह सकारात्मक पहलू है। इसे अाैर बेहतर करने का प्रयास किया जाएगा। इसी प्रकार रामानंदन मिश्र बालिका उच्च विद्यालय में भी स्मार्ट क्लास का संचालन हो रहा था।

X
Darbhanga News - smart class increases the number of students need of teachers to understand difficult subjects
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना