नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का मिले दर्जा, आउटसोर्सिंग प्रथा खत्म हो : सुदिष्ट

Darbhanga News - बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ गोपगुट की ओर से सरकार के श्रम विरोधी कार्यों के खिलाफ 8 जनवरी को होने वाली...

Dec 30, 2019, 07:10 AM IST
Darbhanga News - state workers should get status of employed outsourcing practice is over
बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ गोपगुट की ओर से सरकार के श्रम विरोधी कार्यों के खिलाफ 8 जनवरी को होने वाली देशव्यापी हड़ताल को सफल बनाने को लेकर रविवार को कन्वेंशन का आयोजन दरभंगा मेडिकल कॉलेज (डीएमसी) के लेक्चर थियेटर में किया गया। इसकी अध्यक्षता तीन सदस्यीय अध्यक्ष मंडल विनोद भारती, ऐक्टू नेता उमेश साह, संतोष कुमार यादव व मंच संचालन महासंघ गोपगुट के जिला उपाध्यक्ष नंदन कुमार सिंह ने की। महासंघ गोपगुट के प्रदेश उपाध्यक्ष सुदिष्ट नारायण झा ने कहा कि आज देश को रोजगार और रोटी की आवश्यकता है। यह हमारी हड़ताल का मुख्य बिंदु होगा। नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा देने, ठेका कर्मियों का स्थायीकरण, न्यूनतम मासिक मजदूरी, एनपीएस हटाने व ओपीएस लाने, आउटसोर्सिंग प्रथा खत्म करने सहित देश को विभाजनकारी कानून से मुक्त रखने आदि सवालों पर देशव्यापी हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया है।

मानदेय पर नियोजन प्रथा समाप्त हाे, समान काम के बदले समान वेतन मिले

कन्वेंशन में अतिथि का स्वागत करते बलराम राम।

निजीकरण नीति के खिलाफ एकजुट होने की अपील

वहीं कन्वेंशन के मुख्यवक्ता सह महासंघ गोपगुट के प्रदेश महासचिव प्रेम चंद्र सिन्हा ने कहा कि 8 जनवरी को केंद्र सरकार के श्रमिक विरोधी व निजीकरण नीति के खिलाफ राष्ट्रीय हड़ताल को सफल करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि ठेका मानदेय पर नियोजन प्रथा को समाप्त करने, समान काम के बदले समान वेतन, नियोजित शिक्षक कर्मचारी की सेवा नियमित करने, नई पेंशन स्कीम वापस लेने के लिए हड़ताल को जरूरी बताया। कन्वेंशन को महासंघ गोपगुट के समस्तीपुर जिला सचिव अजय कुमार ने केंद्र सरकार के मजदूर विरोधी कानूनों की आलोचना की।

ठेका अौर आउटसोर्सिंग से मुक्ति को चिकित्सा कर्मी भी होंगे हड़ताल में शामिल

वहीं महासंघ गोपगुट के मधुबनी के नेता संजय झा ने कहा कि सरकार का मजदूर व कर्मचारी विरोधी नीतियों को महासंघ बर्दास्त नहीं करेगी। वहीं दरभंगा के प्राथमिक शिक्षक संघ गोपगुट के जिला संयुक्त सचिव इमरान अहमद ने कहा कि सरकार को कर्मचारी विरोधी नीतियों के चलते हम आगामी हर एक चुनाव में सबक सिखाएंगे। जिसका आगाज झारखंड से हुआ है। ऐक्टू नेता पप्पू पासवान ने कहा कि आगामी हड़ताल को सफल बनाने के लिए रसोइया व आशा कार्यकर्ताओं की बड़ी संख्या में भागीदारी होगी। ईस्ट सेंट्रल रेलवे एंप्लाइज यूनियन के मंडल सचिव संजीव मिश्रा ने कहा कि रेल कर्मी भी हड़ताल के साथ खड़े रहेंगे। वहीं ठेका व आउटसोर्सिंग से मुक्ति के लिए चिकित्सा सेवा के कर्मी भी हड़ताल में शामिल होंगे। बिहार राज्य प्रारम्भिक शिक्षक संघ के कार्यकारी जिला अध्यक्ष बलराम राम ने चादर और मालाओं से अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि हम नियोजित शिक्षक आगामी 8 जनवरी के हड़ताल को सफल करेंगे। शिक्षा सेवक संघ के नेता मनोज कुमार ने भी कहा कि टोला सेवकों और तालिमिमरकजों की सेवा स्थायी करने को लेकर आगामी हड़ताल में टोला सेवक व शिक्षा सेवक भी हड़ताल में हिस्सा लेंगे।

X
Darbhanga News - state workers should get status of employed outsourcing practice is over
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना