• Hindi News
  • Bihar
  • Darbhanga
  • Darbhanga News university administration should take initiative to increase the number of students in colleges take cooperation with public representatives also

कॉलेजों में छात्रों की संख्या बढ़ाने की पहल करें विवि प्रशासन, जनप्रतिनिधियों से भी ले सहयोग

Darbhanga News - केएसडीएसयू का 43 वीं सीनेट की बैठक कई मायनों में अभूतपूर्व रहा। निर्धारित समय से करीब आधे घंटे विलंब से शुरू हुई...

Jan 19, 2020, 07:10 AM IST
Darbhanga News - university administration should take initiative to increase the number of students in colleges take cooperation with public representatives also

केएसडीएसयू का 43 वीं सीनेट की बैठक कई मायनों में अभूतपूर्व रहा। निर्धारित समय से करीब आधे घंटे विलंब से शुरू हुई इस बैठक में 11.58 बजे ज्योंहि कुलसचिव कर्नल नवीन कुमार गवर्नर के पत्र पढ़ने लगे तो सिंडिकेट सदस्य डॉ. अजीत कुमार चौधरी खड़े हो गए। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय अधिनियम अधिनियम के मुताबिक डेस्ट की व्यवस्था नहीं है। ऐसे लोग मंच पर बैठे हुए हैं जिन्हें वहां नहीं रहना चाहिए। उनका संकेत मंच पर बैठे कुछ पूर्व कुलपतियों की ओर था। उनकी इस बात को कुछ देर तक तो कई सदस्य समझ ही नहीं सके। लेकिन, बाद में कुलपति ने प्रो. सर्व नारायण झा ने व्यवहारिक पक्ष को रखते हुए डॉ. चौधरी से कार्यक्रम आगे बढ़ने देने की अपील की। लेकिन डॉ. चौधरी इस पर अड़े रहे। उसके बाद विधान पार्षद डॉ. दिलीप कुमार चौधरी ने मंच पर जाकर बीच बचाव किया। उन्होंने कहा कि अगले साल से नियमाकुल सदस्यों को ही डेस्क पर बैठने का प्रावधान होना चाहिए। उन्होंने कुलपति से इसे आगे से निर्वहन करने का आग्रह किया। इस पर सभी सदस्य मान गए। फिर 12.24 में कुलपति प्रो. झा अपना अभिभाषण प्रारंभ किये। उनके अभिभाषण पर चर्चा के लिए प्रस्ताव डॉ. विनय कुमार चौधरी ने रखा। पूर्व मंत्री डॉ. राम लखन राम रमण ने वीसी की कार्यशैली पर मुहर लगाते हुए विश्वविद्यालय के आंतरिक स्रोतों को विकसित करने की बात कही। साथ ही विवि को सतत सहयोग देने का भी आश्वासन दिया। वहीं पद्मश्री डॉ. मोहन मिश्र ने भी विवि के प्रति कृतज्ञता जताते हुए सहयोग करने की बात कही।

छात्रों की कम संख्या पर उठाए सवाल


डॉ. विमलेश कुमार ने कहा कि विवि की व्यवस्था में सुधार भले ही हुई हो पर छात्रों की संख्या में उत्साहजनक वृद्धि नहीं हुई है। विवि प्रशासन को इसे गंभीरता से लेना चाहिए। जदयू के नेता सुनील भारती ने कहा कि विवि प्रशासन को राज्य सरकार के दिशा-निर्देश के मुताबिक ही सब काम करना चाहिए। कुमरजी झा ने कहा कि विवि में कई विकास के कार्य हुए हैं। साथ ही जहां जो कमी है उसे समय पर पूरा करने के लिए जनप्रतिनिधियों से भी सहयोग लेने की जरूरत है। डॉ. रामप्रवेश पासवान ने विवि के विकास में अपना संपूर्ण योगदान देने का आश्वासन कुलपति को दिया।

बीएड विभाग की समस्या को उठाया


डॉ. विनय कुमार चौधरी ने कहा कि विवि में बीएड विभाग की स्थिति ठीक नहीं है। इस विभाग के शिक्षक एवं कर्मियों को कई महीनों तक वेतन नहीं मिलता है। व्यवस्था में कमी रहने के कारण इसकी मान्यता पर भी तलवार लटकी रहती है। साथ ही उन्होंने विवि को दूरस्थ शिक्षा निदेशालय खोलने की दिशा में पहल करने की बात कही। डॉ. कन्हैया चौधरी ने कहा कि कुलपति के नेतृत्व में कई विकास के काम हुए हैं। सभी कार्यों में पारदर्शिता आई है।

X
Darbhanga News - university administration should take initiative to increase the number of students in colleges take cooperation with public representatives also
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना