गया / 2563वीं बुद्ध जयंती आज, देश-विदेश से हजारों श्रद्धालु पहुंचे, कई कार्यक्रमों का होगा आयोजन



महाबोधी मंदिर में पूजा करते श्रद्धालु। महाबोधी मंदिर में पूजा करते श्रद्धालु।
बोधिवृक्ष की छांव में विश्व शांति के लिए विशेष प्रार्थना करते श्रद्धालु। बोधिवृक्ष की छांव में विश्व शांति के लिए विशेष प्रार्थना करते श्रद्धालु।
2563th Buddha Jayanti today
बुद्ध पूर्णिमा पर मशहूर सैंड आर्टिस्ट मधुरेंद्र ने अपनी सैंड अार्ट के जरिए उन्हें याद किया। मधुरेंद्र ने 1000 टन बालू पर भगवान बुद्ध की जीवन को चरितार्थ करते हुए उनकी विशालकाय प्रतिमा उकेर लोगों को विश्व शांति का संदेश दिया। बुद्ध पूर्णिमा पर मशहूर सैंड आर्टिस्ट मधुरेंद्र ने अपनी सैंड अार्ट के जरिए उन्हें याद किया। मधुरेंद्र ने 1000 टन बालू पर भगवान बुद्ध की जीवन को चरितार्थ करते हुए उनकी विशालकाय प्रतिमा उकेर लोगों को विश्व शांति का संदेश दिया।
X
महाबोधी मंदिर में पूजा करते श्रद्धालु।महाबोधी मंदिर में पूजा करते श्रद्धालु।
बोधिवृक्ष की छांव में विश्व शांति के लिए विशेष प्रार्थना करते श्रद्धालु।बोधिवृक्ष की छांव में विश्व शांति के लिए विशेष प्रार्थना करते श्रद्धालु।
2563th Buddha Jayanti today
बुद्ध पूर्णिमा पर मशहूर सैंड आर्टिस्ट मधुरेंद्र ने अपनी सैंड अार्ट के जरिए उन्हें याद किया। मधुरेंद्र ने 1000 टन बालू पर भगवान बुद्ध की जीवन को चरितार्थ करते हुए उनकी विशालकाय प्रतिमा उकेर लोगों को विश्व शांति का संदेश दिया।बुद्ध पूर्णिमा पर मशहूर सैंड आर्टिस्ट मधुरेंद्र ने अपनी सैंड अार्ट के जरिए उन्हें याद किया। मधुरेंद्र ने 1000 टन बालू पर भगवान बुद्ध की जीवन को चरितार्थ करते हुए उनकी विशालकाय प्रतिमा उकेर लोगों को विश्व शांति का संदेश दिया।

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 03:02 AM IST

गया. बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर शनिवार को देश-विदेश के हजारों श्रद्धालुओं बोधगया स्थित बौद्ध मंदिर में पूजा करने पहुंचे। यहां श्रद्धालुओं ने विश्व शांति के लिए प्रार्थना की। भगवान बुद्ध की 2563वीं जयंती के मौके पर मंदिर में कई तरह के धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। 

 

बुद्ध पूर्णिमा कार्यक्रम की शुरुआत धम्म यात्रा के साथ हुई। इसके बाद बोधगया मंदिर प्रबंधकारिणी समिति (बीटीएमसी) द्वारा विश्व धरोहर महाबोधि मंदिर परिसर में स्थित पवित्र बोधिवृक्ष की छांव में विश्व शांति के लिए विशेष प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। इसमें देश-विदेश से आए बौद्ध श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया। 

 

बुद्ध पूर्णिमा पर ज्ञान भूमि आने वाले अतिथियों व श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए बीटीएमसी सहित बोधगया में स्थित विभिन्न बौद्ध मठों पूरे ज्ञान भूमि को पंचशील ध्वजों, तोरण द्वार व अत्याधुनिक कृत्रिम प्रकाश से सजाया गया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना