पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आदर्श नगर निकाय योजना से मिले ‌‌Rs. 1 करोड़ से नगर का होगा विकास

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी रिपोर्टर| बोधगया ग्रामीण

आदर्श नगर निकाय योजना के तहत सरकार से प्राप्त एक करोड़ रुपए की राशि काे नगर पंचायत क्षेत्र में नाली, गली एवं पीसीसी पथ निर्माण योजना में खर्च किया जाएगा। यह निर्णय गुरुवार को बोधगया नगर पंचायत कार्यालय में आयोजित नगर पंचायत की बैठक में लिया गया। अध्यक्षता नगर पंचायत अध्यक्षा बेलमंती देवी तथा संचालन कार्यपालक पदाधिकारी अजय कुमार ने की।

आउटसोर्सिंग के माध्यम से होगी क्षेत्र की सफाई

बैठक में पर्यटक सीजन को देखते हुए गया के डीएम के निर्देश पर 15 दिसंबर से 15 जनवरी तक नगर पंचायत क्षेत्र की साफ-सफाई आउटसोर्सिंग के माध्यम से कराने का निर्णय लिया गया। उपाध्यक्षा मनोरमा देवी ने बताया बोधगया में पर्यटकों का आना प्रारंभ हो गया है। इसे लेकर साफ-सफाई तथा प्रकाश की व्यवस्था दुरुस्त कराने का निर्णय बैठक में लिया गया।

नगर पंचायत कार्यालय में नगर पंचायत की बैठक में लिया िनर्णय
स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में शामिल सदस्य।

शीघ्र उपलब्ध कराई जाएगी आवास योजना की राशि
बैठक के दौरान कार्यपालक पदाधिकारी श्री कुमार ने सबके लिए आवास योजना के तहत वैसे लाभुकों का जिनके किस्तों का आवंटन कागजात की कमी के कारण नहीं हुआ है। वैसे लाभुकों की सूची तथा कमी कागजातों की विवरणी के साथ संबंधित वार्ड पार्षद को उपलब्ध कराने का निर्देश संबंधित कर्मियों को दिया। ताकि वार्ड पार्षद लाभुकों से कागजात उपलब्ध करा सकें।

सड़क पर रखा मलबा तो लगेगा जुर्माना
बैठक के दौरान नगर पंचायत क्षेत्र में निर्माण सामग्रियों एवं मकानों के मलबों को सड़क किनारे रखने पर जुर्माना वसूलने का निर्णय लिया गया। अधिकारियों ने बताया कि सड़क किनारे रखे जाने वाले निर्माण सामग्रियों अथवा मकानों के मलबों को फेंके जाने पर संबंधित व्यक्ति से प्रतिदिन सौ सीएफटी के लिए एक हजार रुपए जुर्माना वसूलने का निर्णय लिया गया। दूसरी ओर स्थाई व अस्थाई फुटपाथी दुकानदारों से 5 रुपए प्रति वर्गफीट किराया लेने का भी निर्णय लिया गया।

कर्मियों पर अनुशासनिक कार्रवाई की स्वीकृति
बैठक के दौरान नगर पंचायत के कंप्यूटर आॅपरेटर का कार्य संतोषजनक नहीं पाए जाने और बिना सूचना के कार्यालय से गायब रहने के आरोप में सेवामुक्त करते हुए विभाग को सूचना देने का निर्णय लिया गया। वहीं, सुपरवाइजर नवीन कुमार एवं कनीय अभियंता कुंदन कुमार वर्मा के विरुद्ध कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में अनुशासनिक कार्रवाई का भी निर्णय लिया गया।

खबरें और भी हैं...