• Hindi News
  • Bihar
  • Gaya
  • Gaya News children of scout guides have been engaged in the service of pindadanis for two decades

दो दशक से पिंडदानियों की सेवा में लगे हैं स्काउट-गाइड के बच्चे

Gaya News - मेला क्षेत्र में पुलिस कर्मियों के साथ स्काउट एंड गाइड के बच्चों पर भी जरूर नजर पड़ जाती है। ये लोग धूप और बारिश की...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:42 AM IST
Gaya News - children of scout guides have been engaged in the service of pindadanis for two decades
मेला क्षेत्र में पुलिस कर्मियों के साथ स्काउट एंड गाइड के बच्चों पर भी जरूर नजर पड़ जाती है। ये लोग धूप और बारिश की चिंता किए बगैर अपने-अपने निर्धारित स्थलों पर तैनात रहकर काफी उत्साह के साथ काम करते हैं। पिछले दो दशक से भारत स्काउट एंड गाइड के बच्चे पितृपक्ष मेला में पिंडदानियों की सेवा में जुटे हैं। मंच के समीप भीड़ नियंत्रित करना हो या फिर घाटों पर स्वच्छता प्रहरी का कमान संभालना हो ये लोग पूरी मुस्तैदी के साथ अपनी ड्यूटी करते हैं। अभी मेला क्षेत्र में स्काउट एंड गाइड के 126 बच्चे पिंडदानियों की सेवा में लगाए गए हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को गया रेलवे जंक्शन पर भारत स्काउट और गाइड के सेवा शिविर का शुभारंभ किया गया। डीआरएम मुगलसराय पंकज सक्सेना ने इसका उद्घाटन किया। उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए डीआरएम श्री सक्सेना ने कहा कि सेवा ही मानवता का मूल मंत्र है। स्काउट-गाइड परिवार सेवा के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। मौके पर जिला सचिव प्रदीप पांडे ने डीआरएम को स्कार्फ पहनाकर और शहद प्रसाद से स्वागत किया। साथ ही वरीय मंडल प्रबंधक मुगलसराय राकेश कुमार रौशन, वरीय मंडल अभियंता दो आलोक कुमार, वाणिज्य प्रबंधक रूपेश कुमार, स्टेशन अधीक्षक का स्वागत खादा और स्कार्फ प्रदान कर किया गया। मौके पर वरीय स्काउटर अवधेश कुमार, मेला कंटिजेंट लीडर शंभू कुमार, फेलोशिप के आरके पांडे, स्काउटर कुमार गौतम, माधुरी कुमारी गाइडर व संतोष कुमार राम आदि उपस्थित थे।

विभिन्न घाटों पर ओडीएफ ड्यूटी में भी तैनात हैं बच्चे

पितृपक्ष मेला के मद्देनजर विभिन्न घाटाें पर भारत स्काउट और गाइड के बच्चे तैनात हैं। जिला सचिव श्री पांडे ने बताया कि जंक्शन स्थित सेवा शिविर में 24 स्काउट और छह स्काउटर तैनात हैं। यहां सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक इनकी ड्यूटी रहेगी। मेला क्षेत्र में सीता कुंड, देवघाट, संगत घाट, श्यामा घाट, गजाधर घाट और बोधगया के विभिन्न घाटों आदि जगहों पर स्काउट तैनात हैं। सुबह साढ़े चार बजे से आठ बजे तक और शाम पांच बजे से सात बजे तक इनकी ओडीएफ ड्यूटी है। ये लोग यात्रियों को खुले में शौच करने से मना करते हैं और वृद्धों को सहारा देकर शौचालय तक ले जाते हैं।

बोधगया। पितृपक्ष महासंगम के अवसर पर बोधगया स्थित मातंगवापी, धर्मारण्य, सरस्वती घाट और महाबोधि मंदिर के समीप स्काउट गाइड के बच्चे पिंडदानियों की सेवा में तैनात हैं। शनिवार से इन बच्चों की संख्या बढ़ जाएगी। ये लोग प्लस टू हाईस्कूल के बच्चे हैं।

X
Gaya News - children of scout guides have been engaged in the service of pindadanis for two decades
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना