सहूलियत / 5 फरवरी से इंडिगो शुरू करेगी दिल्ली-गया की फ्लाइट

इंडिगो विमान (फाइल फोटो) इंडिगो विमान (फाइल फोटो)
X
इंडिगो विमान (फाइल फोटो)इंडिगो विमान (फाइल फोटो)

  • गया-कोलकाता-चेन्नई उड़ान का है प्रस्ताव, स्पाइस जेट ने भी गया-दिल्ली व गया दुबई का दिया प्रस्ताव

दैनिक भास्कर

Dec 24, 2019, 10:33 AM IST

बोधगया. गया-दिल्ली रूट पर इंडिगो अपनी उड़ानें शुरू करने जा रही है। पांच फरवरी 2020 से इसके शुरू होने की संभावना है। एयरपोर्ट डायरेक्टर दिलीप कुमार ने बताया कि इंडिगो की फ्लाइट शुरू होगी।

फ्लाइट सायं 6:30 से 7:00 बजे के बीच दिल्ली से गया के लिए उड़ान भरेगी व गया से वापसी उसी दिन रात्रि 8:30 से 9:00 बजे के बीच होगी। इसके अलावा गया-कोलकाता-चेन्नई फ्लाइट शुरू करने करने के लिए सर्वे शुरू किया गया है। हालांकि इंडिगो ने पहले दोपहर 1:00 से 2:00 बजे का टाइम स्लॉट दिया था, जिसे एयरपोर्ट अथॉरिटी ने रद्द कर दूसरा टाइम स्लॉट मांगा था। इसी के बाद नया टाइम स्लॉट दिया गया है। इसके अप्रूवल के बाद 5 फरवरी 2020 से दिल्ली-गया फ्लाइट शुरू हो जाएगी।

वर्तमान में इस रूट पर एयर इंडिया की फ्लाइट संख्या एआई 433 का परिचालन होता है। इंडिगो की फ्लाइट शुरू होने से यात्रियों की सुविधा मिलेगी व विकल्प भी मिलेगें। वर्तमान में इंडिगो वाराणसी व कोलकाता के लिए अपनी उड़ानों को परिचालित कर रही है, जिसे इसी साल अगस्त में शुरू किया गया है। गया से इंटरनेशनल उड़ानों का ही अधिक परिचालन है।

स्पाईस जेट ने भी किया गया-दिल्ली रूट पर सर्वे
गया एयरपोर्ट से जल्द ही स्पाइस जेट की गया-दिल्ली रूट में विमान सेवा शुरू होने की संभावना है। कंपनी के अधिकारियों की एक टीम ने गया एयरपोर्ट पर उपलब्ध सुविधाओं का सर्वे किया है। एयरपोर्ट डायरेक्टर दिलीप कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि स्पाइस जेट के अधिकारी ने 20 नवंबर को सर्वे किया था।

स्पाइस जेट द्वारा मध्य-पूर्व के देशों के लिए फ्लाइट उपलब्ध कराने की भी संभावना है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, दुबई व जेद्दा के लिए सेवा शुरू करने की संभावनाओं पर भी मार्केट सर्वे किया गया है। दोनों राज्य से इन देशों के लिए सीधी उड़ान नहीं है। बिहार व झारखंड के हजारों वर्कर इन देशों में काम करते हैं। इन दोनों राज्यों में गया के अतिरिक्त दूसरा इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी नहीं है।

गया से अन्य शहरों की उड़ानों की जरूरत
गया एयरपोर्ट से कोलकाता, वाराणसी, दिल्ली के अतिरिक्त अन्य महत्वपूर्ण शहरों के लिए एयर कनेक्टिविटी की जरूरत है। मुंबई, बंगलुरू, चेन्नई, भुवनेश्वर जैसे शहरों के लिए उड़ानों की संभावना तलाशने की जरूरत है। इससे स्थानीय यात्रियों के अलावा पर्यटकों को भी सुविधा मिलेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना