सोनी-विकास हत्याकांड / फॉरेंसिक टीम की जांच में बदला मौका-ए-वारदात, प्रेमी जोड़े की हत्या कर एक ही चिता पर फूंकी थीं दोनों लाशें

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 10:19 AM IST



सोनी और विकास की फाइल फोटो। सोनी और विकास की फाइल फोटो।
शादी रचाने के बाद सोनी की फोटो। शादी रचाने के बाद सोनी की फोटो।
मनियारा सोती पहुंचकर सबूत इकट्‌ठा करती एफएसएल टीम। मनियारा सोती पहुंचकर सबूत इकट्‌ठा करती एफएसएल टीम।
X
सोनी और विकास की फाइल फोटो।सोनी और विकास की फाइल फोटो।
शादी रचाने के बाद सोनी की फोटो।शादी रचाने के बाद सोनी की फोटो।
मनियारा सोती पहुंचकर सबूत इकट्‌ठा करती एफएसएल टीम।मनियारा सोती पहुंचकर सबूत इकट्‌ठा करती एफएसएल टीम।

  • हत्या में लड़की के घरवालों के साथ पैक्स अध्यक्ष का भाई भी था शामिल, आठ पर केस
  • लड़की को झांसा दे झारखंड से ले आए उसके गांव वाले... कहा- हमारी लाश गिर जाएगी, तब कोई तुमको छू पाएगा 

मानपुर (गया).  एफएसएल की टीम ऑनर किलिंग की जांच को पहुंची तो मौका-ए-वारदात बदल गया। नया पीओ पुलिस की बताई जगह से डेढ़ किलोमीटर दूर निकला। लड़की के पिता ने कहा कि एफएसएल की ढूंढ़ी गई जगह पर प्रेमी युगल की हत्या कर शवों को एक ही चिता पर जला दिया गया था। अंतरजातीय प्रेम विवाह करने की वजह से विकास और सोनी उर्फ स्नेहा की हत्या कर दी गई थी। 

 

पटना से सीनियर साइंटिफिक अधिकारी पार्थ बनर्जी के साथ रही चार सदस्यीय टीम ने सोमवार को शव जलाने के स्थल को दूसरा बताया। लड़की के पिता को साथ में लेकर निकली एफएसएल की टीम मनियारा हुबली नदी के किनारे चिरारी के बजाय वहां से करीब डेढ़ किलोमीटर दूरी पर रहे मनियारा सोती गई। सोनी के पिता बालेश्वर यादव ने एफएसएल की टीम को बताया कि यहीं पर दोनों के शवों को एक चिता पर जलाया गया था। इस स्थान से टीम ने प्रयुक्त किए गए पेट्रोल के जरकिन का ढक्कन भी बरामद किया। एफएसएल की टीम ने उक्त नए बताए गए शव जलाने वाले स्थान से सबूत जुटाए। अस्थियों के अवशेष और अन्य प्रदर्श को लेकर एफएसएल की टीम वापस लौट गई। 

 

वजीरगंज में दबिश बढ़ने पर विकास सोनी को लेकर पिछले साल 23 नवंबर को अपने एक रिश्तेदार के घर झारखंड के एरा गांव चला गया। वहां किसी तरह पता लगाते हुए लड़की के परिजन व आसपास के गांव के लोग पहुंचे। इसके बाद वहां पंचायत लगाई गई। प्रेमी युगल को इस शर्त पर परिजनों के हवाले किया गया कि वे उसे कोई हानि नहीं पहुंचाएंगे। वीडियो में एक शख्स लड़की से कहते सुना जा रहा है कि हमारी लाश गिरने के बाद ही तुम्हें कोई छू पाएगा। इस तरह से झांसा देकर प्रेमी युगल को मुफस्सिल थाने ले जाया गया। फिर कोर्ट में 26 नवंबर को लड़की का बयान दर्ज कराया गया। 

 

सोनी ने कहा था- विकास को दो साल से जानती हूं, भाग कर हम शादी रचा चुके हैं 
मैं अपने माता-पिता के साथ न्यायालय आई हूं। मैं अपनी मर्जी से बिना किसी लालच या दबाव के बयान दे रही हूं। मैं 11-9-2018 को कोचिंग जा रही थी तो मनियारा पुल पर महेश यादव खड़े थे। उनके रिश्तेदार रमेश यादव गाड़ी से गया जा रहे थे। महेश यादव बोले कि इनको कोचिंग तक छोड़ दो। मैं रमेश यादव की मोटरसाइकिल पर बैठ गई। उन्होंने मुझे कोचिंग के पास छोड़ दिया। महेश यादव मेरे गोतिया में दादा लगते हैं। मैंने विकास को पहले से वहां बुलाया था। हम दोनों ने मंगला गौरी स्थान जाकर शादी कर ली। फिर वजीरगंज क्षेत्र में रेंट पर रहने लगे। 23-11-2018 को झारखंड में आरा गांव में विकास के रिश्तेदार के घर गए। उन्होंने हमें निकाल दिया कि हम बदनामी नहीं लेना चाहते। मेरे गांव वालों को मालूम हो गया। 24-11-2018 को मेरे गांव के सत्येंद्र यादव, विकास और अवधेश सिंह मुझे मुफस्सिल थाना ले आए। विकास को मैं दो साल से जानती हूं। मेरे परिवार वाले मेरी दूसरी जगह शादी करना चाहते थे, इसलिए मैं भाग गई थी। महेश यादव, प्रमोद व रमेश यादव निर्दोष हैं। विकास को मैंने ही फोन करके बुलाया था। मैं अपने माता-पिता के साथ रहना चाहती हूं। (26 नवंबर को सोनी का कोर्ट में दर्ज बयान।) 

 

लड़की के पिता ने कहा- विकास ने दो बार मेरे गांव आने की हिम्मत की, इसलिए मार डाला 
ऑनर किलिंग को आठ लोगों ने मिलकर अंजाम दिया था। लड़की पक्ष के पिता-चाचा समेत तीन को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वहीं अन्य की तलाश में छापेमारी की जा रही है। हत्या व शव को जलाए में शामिल अन्य लोगों के संबंध में सोनी कुमारी उर्फ स्नेहा के पिता बालेश्वर यादव ने बताया कि हत्या में कईया पैक्स अध्यक्ष का भाई अरविंद यादव समेत आठ लोग शामिल थे। बताया कि विकास ने उसकी बेटी सोनी कुमारी उर्फ स्नेहा से मंदिर में शादी करने के बाद उसे अपने घर ले जाने के लिए दो बार मनियारा आने की हिम्मत दिखाई थी, इसके बाद घटना करने की पूरी योजना बनाई गई थी। 

 

मुखिया लाया था सोनी को, पंचायत भी लगाई 
सोनी के फरार होने के बाद कईया पंचायत के मुखिया नवीन प्रकाश, पैक्स अध्यक्ष सतेंद्र यादव व अवधेश सिंह द्वारा सोनी कुमारी उर्फ स्नेहा को झारखण्ड से गया लाया गया था। इसके बाद कोर्ट में उसका 164 का बयान मुफस्सिल पुलिस ने कराया था। मुखिया ने पंचायत भी लगाई थी। इस क्रम में पुलिस ने विकास की गिरफ्तारी की थी। सोनी के गायब होकर शादी रचाने के बीच परिजनों ने मुफस्सिल थाना में केस दर्ज कराया था, जिसमें महेश यादव, रमेश यादव व प्रमोद के खिलाफ केस दर्ज कराया था। 

 

दोनों जगहों से इकट्‌ठा की गईं अस्थियों की कराई जाएगी फॉरेंसिक जांच 
एफएसएल की टीम ने मंगलवार को पहुंचकर साक्ष्य जुटाए हैं। अस्थियों के अवशेष व अन्य प्रदर्श लिए गए हैं। पूर्व में बताया गया घटनास्थल और इस बार के घटनास्थल से जब्त प्रदर्श दोनों की ही फोरेंसिक जांच होगी। विकास और सोनी की हत्या में शामिल रहे लोगों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छापेमारी चल रही है। अभिजीत कुमार सिंह, डीएसपी, वजीरगंज 

COMMENT