विज्ञापन

सरकारी जमीन के अतिक्रमण के खिलाफ मुख्यमंत्री को भेजा पत्र / सरकारी जमीन के अतिक्रमण के खिलाफ मुख्यमंत्री को भेजा पत्र

Bhaskar News Network

Dec 09, 2018, 03:17 AM IST

Gaya News - प्रखंड क्षेत्र में वन विभाग, पशु अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग सहित अन्य सरकारी विभागों की जमीन, आहर, दूरसंचार विभाग की...

Gaya News - letter sent to chief minister against encroachment of government land
  • comment
प्रखंड क्षेत्र में वन विभाग, पशु अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग सहित अन्य सरकारी विभागों की जमीन, आहर, दूरसंचार विभाग की सरकारी भूमि का चकबंदी द्वारा गलत तरीके से खाते खुलवाकर हड़पने वालों के खिलाफ डीएम को आवेदन देने के बाद अब सीएम के पास पत्र भेजकर भूमि को बचाने की गुहार भूमि बचाओ संघर्ष मोर्चा के माध्यम से स्थानीय लोगों ने लगाई है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि प्रखंड में उक्त विभाग की जमीनों पर भू-माफिया का नजर लगा हुआ है और चकबंदी के द्वारा गलत तरीके से अपने नाम खतियान बनवाकर उसे हड़प रहे हैं। इस संबंध में पूर्व में मोर्चा के द्वारा डीएम के सलैया व बांकेबाजार के लुटुआ में ‘आपका प्रशासन आपके द्वार’ कार्यक्रम के दौरान भू-माफियाओं के खिलाफ आवेदन दिया गया था, लेकिन कार्रवाई न होते देख मोर्चा के सदस्यों ने सीएम नीतीश कुमार को आवेदन देकर सरकारी भूमि को बचाने की मांग की है। इस संबंध में मोर्चा के सचिव अशोक कुमार ने बताया कि स्थानीय प्रखंड सह अंचल कार्यालय को अपना भवन बनाने के लिए जमीन नहीं मिल रही है, लेकिन सरकारी कर्मचारी व अधिकारी के मिलीभगत से प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, श्मशान घाट, वन विभाग व अन्य सरकारी विभागों की 2 एकड़ 63 डिसमिल जमीन कुछ भू-माफियाओं के नाम खाता खुलवाकर कब्जा किया जा रहा है। सीएम को दिए गए आवेदन में बताया गया है कि बांकेबाजार के पीएचसी, वन विभाग के चेक पोस्ट की जमीन, श्मशान घाट व सरकारी पिंड की जमीन पर चकबन्दी में अपने-अपने नाम खाता गलत तरीके से खुलवाकर भू-माफिया उसे कब्जा कर रहे हैं। जबकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा उक्त भूमि पर करोड़ों रुपए की लागत से 30 बेड के अस्पताल का नया भवन बनकर तैयार है, लेकिन जमीन का भी भू-माफियाओं ने अपने नाम से खाता खुलवा लिया है। वन विभाग के चेकपोस्ट की जमीन का खाता खुलवाकर भू-माफियाओं द्वारा कब्जा किया जा रहा है।

सीएम को दिए गए आवेदन में मोर्चा के द्वारा सोनदाहा गांव के लक्ष्मण यादव, मेधनाडीह के इन्द्रद्रेव यादव उर्फ हीरा यादव व युवराज यादव, नावाडीह के वासुदेव यादव तथा बाराचट्टी के यदुनंदन यादव को भू-माफिया बताया गया है। पत्र में यह भी जिक्र है कि यदुनंदन यादव के पिता पहले बांकेबाजार में राजस्व कर्मचारी के रुप में पदस्थापित थे। वहीं वासुदेव यादव पूर्व उपप्रमुख कामेश्वर यादव के भाई हैं।

2001 में दिया था खातों को रद्द करने का आदेश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भेजे गए पत्र में मोर्चा के द्वारा बताया गया है कि गया के तत्कालीन डीएम ने 25 सितंबर 2001 को ग्रामीणों की शिकायत पर उक्त जमीन के माफियाओं द्वारा गलत तरीके से खुलवाए गए खाते को रद्द करते हुए सभी पर कानूनी कार्रवाई का आदेश शेरघाटी के अनुमंडल पदाधिकारी को दिया था, लेकिन 17 साल के बाद भी इस ओर किसी पदाधिकारी ने कार्रवाई नहीं की। इस आवेदन में मोर्चा के सदस्यों लुटुआ पंचायत के सरपंच अलखदेव यादव, छेदी यादव, पारसनाथ अग्रवाल, जिप सदस्य कौशल कुमार, मुखिया मुन्नी देवी, सरपंच ललिता देवी, पंसस आरती देवी सहित सैकड़ों लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं।

X
Gaya News - letter sent to chief minister against encroachment of government land
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन