--Advertisement--

भारी पड़ी लापरवाही / आमस में नक्सलियों ने चौकीदार को घर से ले जाकर एके-47 से भून डाला



युवक की हत्या के बाद रोते बिलखते परिजन युवक की हत्या के बाद रोते बिलखते परिजन
X
युवक की हत्या के बाद रोते बिलखते परिजनयुवक की हत्या के बाद रोते बिलखते परिजन

  • नक्सलियों ने पर्चा चिपकाकर दी थी धमकी, पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 12:05 PM IST

गया. दीपावली की रात आमस प्रखंड के झरी पंचायत के रंेगनियां में हथियारबंद माओवादियों ने चौकीदार की घर से ले जाकर हत्या कर दी। पुलिस की मुखबिरी कर संगठन को नुकसान पहुंचाए जाने को लेकर नक्सलियों ने चौकीदार राजेश्वर पासवान उर्फ राजू पासवान को एके-47 से भून डाला।

 

घटना में मौके पर ही चौकीदार की मौत हो गई। घटना के बाद माओवादी मौके पर झारखंड रीजनल यूनिफाइड कमांडर के पर्चा भी छोड़ गए। चौकीदार हत्याकांड के एक दिन पूर्व आसपास के इलाके में माओवादी चहलकदमी करते देखे गए थे।

 

चिपकाया था नक्सली पर्चा
आमस बाजार में कई जगह पर पर्चा चिपकाया, लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। फलतः स्थानीय पुलिस की चूक की कीमत रेंगनियां निवासी चौकीदार राजू पासवान को अपनी जान गंवाकर चुकानी पड़ी। घटना की सूचना मिलते ही आमस पुलिस मौके पर पहुंची और शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल गया भेज दिया। पुलिस ने नक्सलियों की गिरफ्तारी के लिए जंगल में छापेमारी तेज कर दी।

 

पुलिस पहुंची तो घटनास्थल से मिली एके-47 की गोली 
गुरूवार की सुबह डीएसपी रविश कुमार, पुलिस इंस्पेक्टर अरूण कुमार सिंह गांव में पहुंचे और छानबीन शुरू की। मौके से एके-47 की गोली बरामद की गई। इधर घटना के बाद पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। वहीं मृतक के घर में चीत्कार मचा था। महिलाओं का कुन्दन सबकी आंखों को नम कर रहा था। ग्रामीण कुछ ज्यादा नहीं बता रहे थे, जबकि कुछ वृद्ध लोग बताए कि बेचारा अच्छा अच्छा आदमी था। न जाने किसकी नजर लग गई। चौकीदार को नक्सलियों ने क्यों मारा, इसका जबाव किसी के पास नहीं था।

 

कहा था-दिवाली की पूजा के बाद मिलकर मिठाई खाएंगे 
दिवाली के शाम में बाजार से मिठाई लेकर आए थे और कहा कि पूजा पाठ के बाद सबलोग मिलकर मिठाई खाएंगे। इस बीच दो लोग आए और घर से बुलाकर ले गए, पर किसे पता था कि घर से बाहर जा रहे हैं तो अब कभी नहीं लौटेंगे। मृतक के तीन पुत्र हैं। बड़ा पुत्र रवि पासवान का विवाह हो चुका है, जबकि कवि और जानकी अभी बच्चे हैं। वहीं पत्नी चमेली देवी का तो रो रोकर बुरा हाल है। वह किसी से कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं है। 

 

चल रहा सर्च ऑपरेशन 
डीएसपी रविश कुमार ने बताया कि नक्सलियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। जंगल में भी सर्च ऑपरेशन चलाने का निर्देश दिया गया है। नक्सलियों की टोह में पुलिस लगी हुई है। उनके ठिकाने का पता लगाया जा रहा है।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..