बच्चों को चुरा कर ले जा रहीं महिलाओं को पब्लिक ने पीटा, दोनों को मार डालना चाहते थे लोग

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • पब्लिक के उग्र होने की खबर होते पहुंच गई पुलिस, वरना हो जाती हत्या
  • मलियाबाग में हाईवे किनारे घर के बाहर खेल रहे बच्चों को ले जा रही थी महिला, उसकी साथी टेम्पो में कर रही थी इंतजार

सासाराम. बिहार के रोहतास जिले के दावथ थाना क्षेत्र के मलियाबाग चौराहे पर गुरुवार शाम पांच बजे पटना से पहुंचीं दो महिलाओं को भीड़ ने सड़क पर घसीट-घसीटकर पीटा। दोनों महिलाओं संगीता देवी और बेबी देवी के ऊपर एनएच 30 के किनारे मौजूद एक दुकान के पीछे रिहायशी इलाके से तीन बच्चों को बहला फुसलाकर चोरी करने के प्रयास का आरोप था। 

 

महिलाएं सड़क पर कीचड़ से लथपथ होकर बेहोश पड़ी थी। पुलिस को भी आक्रोशित भीड़ का शिकार होना पड़ा। महिलाओं को हिरासत में ले रही पुलिस का लोगों ने विरोध किया। पुलिस के हाथों से छीनकर उन्हें जान से मारने का प्रयास किया गया। पुलिस जब दोनों महिलाओं को एम्बुलेंस में बैठाकर ले जा रही थी तो भीड़ ने पथराव किया, जिससे शीशे टूट गए। हवलदार कन्हैया लाल व एनके सिंह को चोटें आई। 

 

भीड़ की पिटाई से बुरी तरह घायल दोनों महिलाओं व दो पुलिस कर्मियों को इलाज कराने क लिए सीएचसी दावथ भेजा गया। जहां चिकित्सकों ने बताया है कि दोनों महिलाओं को काफी चोट है। पुलिस कर्मियों को हल्की चोटें आई है। मौके पर पहुंचे डीएसपी राजकुमार ने स्थिति का जायजा लिया। उसके बाद महिलाओं से पूछताछ की। दोनों महिलाओं के पास एक बैग था जो भीड़ द्वारा पिटाई के दौरान गायब हो गया। 

 

लाठी-डंडे व लात-घूंसे से भीड़ ने दोनों को पीटा 
एक दुकान के पीछे रिहायशी मकान के बाहर खेल रहे चार, पांच व छह वर्ष के तीन बच्चों को बहला फुसलाकर एक महिला अपने साथ एनएच 30 की ओर जा रही थी। एक बच्चे को गोद में उठाया और दूसरे को आगे चलने को कहते हुए तीसरे के हाथ खिंचकर अपने साथ ला रही थी। तभी वह रोने लगा। लोगों ने महिला से पूछताछ की तो वह घबराकर उल्टे-सीधे जवाब देने लगी। बचाव के लिए सड़क किनारे खड़ी दूसरी युवती को आवाज दी। उसे भी भीड़ ने पकड़ लिया। उधर सड़क किनारे एक टेम्पो भी खड़ा था। जिसे महिला ने तय कर रखा था। वह भाग निकला। इसके बाद लोगों ने लाठी-डंडे व लात घुसों से महिलाओं की पिटाई की। 

 

पटना की हैं महिलाएं 
संगीता देवी और बेबी देवी सगी बहने हैं, जो पटना के आलमगंज की रहने वाली हैं। संगीता के पति राजनाथ सिंह की मौत हो चुकी है। जबकि बेबी पप्पू सिंह की पत्नी है। दोनों ने बताया कि सासाराम की ओर जाने के लिए गाड़ी का इंतजार कर रही थीं। 

 

पांच सौ लोगों पर केस 
महिलाओं को पीटने के मामले में दावथ पुलिस ने पांच सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। थानाध्यक्ष के अनुसार इस घटना में दो हजार अज्ञात लोग शामिल थे, परंतु पांच सौ की भूमिका काफी आक्रामक थी।