पैंगबर हजरत मोहम्मद साहब के यौम-ए-पैदाइश पर मुए मुबारक की हुई जियारत, निकाला जुलूस

Gaya News - पैंगबर हजरत मोहम्मद साहब की यौम-ए- पैदाइश पर रविवार को नवी की शान में गुलामान-ए-मुस्तफा कमेटी इकबाल नगर मदीना...

Nov 11, 2019, 07:22 AM IST
पैंगबर हजरत मोहम्मद साहब की यौम-ए- पैदाइश पर रविवार को नवी की शान में गुलामान-ए-मुस्तफा कमेटी इकबाल नगर मदीना मस्जिद से जुलूसे-मोहम्मदी निकाला गया। यह जुलूस पंचायती अखाड़ा, किरानी घाट, दु:खहरणी मंदिर, टावर चौक, कोतवाली, छत्ता मस्जिद, पीरमंसूर, नादरागंज होते हुए खानकाह मुनामिया पहुंचा। इस बीच रास्ते भर बज रही नातों की आवाज ने माहौल को पूरी तरह से रूहानी बना दिया। फिजा में मोहम्मदी गीतों के रंग छाए दिखे। अकीदतमंद युवक सर पर हरे व उजले रंग की पगड़ी, हाथों में इस्लामी झंडा के साथ-साथ तिरंगा भी खूब लहलहाया। इस बार मोहम्मदी जुलूस नादरागंज, शाहमीर तक्या, गेवाल विगहा, मुस्तफाबाद, घुघड़ीटाड़, वारिसनगर, करीमगंज, न्यू अलीगंज, मक्सुविगहा, केंदुआ, अबगिला, भुसुंडा, सलेमपुर, मानपुर पठानटोली आदि मुहल्लों से निकाला गया। जुलूस को लेकर कई मुहल्लों में आकर्षक सजावट की गई थी। नादरागंज मुहल्ले की सजावट को खूब सराहा गया। जुलूस का नेतृत्व गुलामान-ए-मुस्तफा कमेटी के अध्यक्ष सह खानकाह मोनामिया के प्रभारी हाफिज अता फैसल ने किया। दोपहर 12:15 से 01:30 बजे सुफियाना कव्वाली हुई, जिसमें सासाराम से आए कव्वाल मो. मुफील ने हुजूर के शान में एक से बढ़कर एक कव्वाली सुनाई।

मुएं मुबारक का दर्शन कर मांगी दुआं : नवागढ़ी स्थित खानकाह में जियारत के बाद जुलूस-ए-मोहम्मदी का समापन किया गया। जुलूस में शामिल अकीदतमंदों ने पैगंबर साहब के मुएं मुबारक का दर्शन कर दुआं मांगी। पुरुष व महिला श्रद्धालुओं के लिए जियारत के अलग-अलग समय की व्यवस्था की गई थी। खानकाह के सज्जादानशी सैयद शाह मोहम्मद सबाहउद्दीन चिश्ती मोनमी द्वारा कुरान शरीफ की तिलावत और फातिहा पढ़ा गया। पुरुष श्रद्धालुओं के लिए जोहर की नमाज तक जियारत का सिलसिला चला।

फिजा में गूंज रही नाथों की आवाज ने माहौल को बनाया रूहानी, कर्बला से निकाला गया जुलूस

जुलूस के दौरान पुलिस के जवान ने मोटरसाइकिल से की निगरानी।

मेला सा दिखा नजारा, शाम तक बनी रही रौनक

ईद-मिलादुन्नवी पर्व को लेकर नवागढ़ी स्थित खानकाह में मेला सा नजारा देखने को मिला। शाम तक रौनक रही। फूल-माला, शरीनी, चाट-पकौड़ी की कई अस्थायी दुकानें खुली दिखीं। श्रद्धालुओं के लिए लंगर, पानी की विशेष व्यवस्था थी। मिठाईयां, खीर व मीठी चावल का भी वितरण किया गया। बता दें कि जुलूस के दौरान सराय रोड, छत्ता मस्जिद, पीरमंसूर, नादरागंज, इकबाल नगर, पंचायती अखाड़ा में पानी, खीर, चाय, फल का स्टॉल लगाया गया था।

गया सांसद भी जयंती समारोह में हुए शामिल

रसूल के जयंती समारोह में गया सांसद विजय मांझी भी शामिल हुए। इसके अलावे जदयू नेता एलेक्जेंडर खां भी जियारत में आए। जुलूस में इकबाल हुसैन, मो. मजर हुसैन, जया अहमद, मो. हलीम खां, मो. जावेद, मो. मासूम, मो. सलीम, मो. मुस्तकीम, मो. शहनवाज अयुब उर्फ गुड्‌डू, मो. मुशरफ, मो. शमीम, मो. सहाबुद्दीन जमाली, मो. शाहीद, मो. जुबैर कुरैशी, मो. अफजल आदि मौजूद थे।

जुलूस निकालकर अमन व शांति पैगाम देते लोग।

पैगम्बर साहब की यौम-ए-पौदाइश पर गुरारू में गंगा - यमुनी तहजीब की दिखी मिसाल

गुरारू| गुरारू में रविवार को पैगम्बर हज़रत मोहम्मद साहब का 1440 वीं जयंती पर गंगा जमुनी तहजीब का मिसाल देखने को मिला।पैगम्बर के जन्मदिन पर जहां शांतिपूर्ण जुलूस निकालकर अमन व शांति का पैगाम दिया गया। वही जुलूस में शामिल लोगों को बारा गांव के समीप हिंदू समाज के लोगों ने पेयजल पिलाया और एक - दूसरे को बधाई दी। जुलूस बारा मदरसा से गुरारू बाजार के सभी प्रमुख सड़कों पर निकाली गई। इसके जरिए उन्होंने समाज में अमन व भाई चारे का संदेश दिया। इस मौके पर जदयू बुनकर प्रकोष्ठ के मो० नईम, मो० शौकत अली, डा० नवाब, हिन्दुस्तान रेडिमेड के मो० चांद, रईस खान, मो० साबिर अली, हिंदू समाज की ओर से मंगलानंद मिश्र, समाजसेवी सुबोध पासवान, सामाजिक कार्यकर्ता जितेंद्र कुमार बहादुर, मुकुल कुमार, अमित कुमार सहित कई लोग शामिल हुए। साथ ही बारा, महमदपुर, रुकुनपुर, रौना बहेरा आदि गांवों से सैकड़ों मुस्लिम धर्मावलंबियों ने जुलूस में भाग लिया। गुरूआ से सिटी रिपोर्टर के अनुसार गुरुआ प्रखंड के मदरसा डुमरी, तकिया, कोलौना, वैदपुरा समेत कई क्षेत्र में पैगंबर मोहम्मद साहब के जयंती पर गाजे बाजे के साथ विशाल जुलूस निकाली गई। तकिया मोहल्ले से निकाली गई जुलूस को गुरुआ बाजार के सभी प्रमुख मार्गों में घुमाया गया। वहीं मदरसा डुमरी से मोहम्मद साहब के जयंती पर जुलूस निकालकर बेलविगहा, सेनीचक, जयबिगहा समेत कई गांव में भ्रमण कर मौलाना कौशर अली खान तब्बसुन के द्वारा उनकी संदेश सेना अवगत कराया गया है।

सुबह 08:00 बजे नाथ व तकरीर से हुई शुरुआत

पैंगबर हजरत मोहम्मद साहब की जयंती की शुरूआत सुबह 08:00 बजे नात व तकरीर से हुई। इस बीच रसूल के पैदाइश का बयान किया गया। खड़े होकर लोगों ने सलातोसलाम पढ़े और उनके गुणों का बखान किया गया। प्रभारी हाफिज अता फैसल ने बताया कि मोहम्मदी जुलूस का समापन शांतिपूर्ण तरीके से किया गया। प्रशासन के अधिकारी का काफी अच्छा सहयोग पूरा। एसडीओ, सिटी डीएसपी व थानाध्यक्ष भी जुलूस में पैदल चलते दिखे। प्रभारी हाफिज ने प्रशासन को धन्यवाद भी दिया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना