प्रकृति व संस्कृति दोनों को संतुलित रखने की जरूरत

Gaya News - आज वैज्ञानिकता का युग है, किसी के कहे को नहीं मानना चाहिए। अगर कोई देश आडंबर, अंधविश्वास को लेकर चलता है, तो आज के...

Oct 20, 2019, 07:31 AM IST
आज वैज्ञानिकता का युग है, किसी के कहे को नहीं मानना चाहिए। अगर कोई देश आडंबर, अंधविश्वास को लेकर चलता है, तो आज के बदलते परिवेश में वह देश आगे नहीं बढ़ सकता है। मगध विवि के समाजशास्त्र विभाग में भारतीय संस्कृति एवं पर्यावरण विषय पर आयोजित व्याख्यान में उक्त बातें मगध विवि के कुलपति प्रो राजेंद्र प्रसाद ने कही। उन्होंने कहा कि हमें महाभारत के गीता के योग का अनुसरण करना होगा। बीएचयू के प्रो आरएन त्रिपाठी ने कहा कि आज प्रकृति और संस्कृति दोनों को बचाने के लिए संतुलित व्यवहार रखने की आवश्यकता है। जबतक प्रकृति सुरक्षित नहीं रहेगी, संस्कृति को सुरक्षित रख पाना मुश्किल है। आज व्यक्ति धार्मिक आडंबर व अंधविश्वास में पड़कर लूट चुका है। इस तरह के पाखंड से बचने के लिए समाज को वैज्ञानिक दृष्टिकोण अपनाने की जरूरत है। आज वसुधैव कुटुम्बकम, मुस्लिम धर्म में रोजा तथा बौद्ध धर्म में अष्टांगिक मार्ग समाप्त होता जा रहा है, मनुष्य केवल अर्धगामी बनकर रह गया है, जो हमारे संस्कृति और प्रकृति दोनों के लिए चिंतनीय है और यही वजह है कि व्यक्ति व्यक्ति से दूर होता जा रहा है। भोग का अंतिम लालसा मनुष्य को पतन की ओर ले जा रहा है। विभागाध्यक्ष डा. प्रमोद कुमार चौधरी ने आगत अतिथियों का स्वागत करते हुए समाजशास्त्र की विषय वस्तु पर चर्चा की और कहा कि समाजशास्त्र में सन्निहित विचारों को अपने जीवन में उतारे तो समाज से विद्वेष मिटाया जा सकता है। इस मौके पर प्रो अशोक कुमार सिन्हा, कुलानुशासक प्रो. एसएनपी यादव दीन, डा. भारत भूषण, प्रो एहतेशाम खान, प्रो. एमएन अंजूम, डा. रतिकान्त दास, दीपारानी, डा. अवध तिवारी सहित सभी विभागों के शिक्षक व छात्र मौजूद थे।

लोगों को संबोधित करते मगध विवि के कुलपति ।

सहोदया अंतर विद्यालय प्रतियोगिता में सिटी पब्लिक ने मारी बाजी

मानपुर। सहोदया अंतर विद्यालय सामूहिक गायन प्रतियोगिता में प्रखण्ड के सिटी पब्लिक स्कूल के छात्रों ने प्रथम स्थान प्राप्त कर विद्यालय का मान बढ़ाया। विजयी छात्रों को विद्यालय निदेशक द्वारा सम्मानित किया गया। इस संबंध में प्राचार्य माधवेन्द्र कुईला ने बताया कि खिजरसराय के जज्बा वर्ल्ड स्कूल में प्रतियोगिता आयोजित किया गया था। विद्यालय की निशा, रौशनी, ईशा, कशिश, प्रिया, प्रियंका, रितिक, हर्ष व दिव्यांशु द्वारा गाए गीत को प्रथम स्थान मिला। निदेशक सत्यदेव मेहता द्वारा सफल छात्रों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की गई।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना