• Hindi News
  • Bihar
  • Gaya
  • Gaya News plant plants with name plate in memory of ancestors the forest department will take care of it

पूर्वजों की याद में नेम प्लेट के साथ लगाएं पौधे, वन विभाग करेगा इसकी देखभाल

Gaya News - जिले को हरा-भरा बनाने के लिए वन विभाग ने पितृपक्ष महासंगम में एक अच्छी पहल की है। अब पिंडदानी वन विभाग के शिविर से...

Sep 14, 2019, 07:46 AM IST
Gaya News - plant plants with name plate in memory of ancestors the forest department will take care of it
जिले को हरा-भरा बनाने के लिए वन विभाग ने पितृपक्ष महासंगम में एक अच्छी पहल की है। अब पिंडदानी वन विभाग के शिविर से नि:शुल्क पौधा प्राप्त कर पूर्वजों की याद में नेम प्लेट के साथ पौधा लगाएंगें। वन विभाग लगाएं गए पौधा को छह महीने तक देखरेख करेगा। घेराव तक की व्यवस्था होगी, ताकि अगले वर्ष जब पिंडदानी दोबारा गया आए तो वे इस वाटिका में आकर अपने पितरों के नाम लगे पौधों को देखेंगे। इससे उन्हें एक असीम खुशी भी मिलेगी। विभाग की माने तो इसका उद्देश्य जिले को हरा-भरा बनाने के साथ-साथ तीर्थयात्रियों को एक अच्छी याद देना है, ताकि वे जब अपने निवास स्थल पर जाएं तो इसका जिक्र करें। बता दें कि इसके लिए पिंडदानियों को वन विभाग द्वारा पीपल, नीम, महुगनी का पौधा उपलब्ध कराया जाएगा। पौधा लेने के लिए एक फॉर्म भरना होगा, जिसमें नाम व पते अंकित करने होंगे। वन विभाग द्वारा तीर्थयात्रियों को पौधा उपलब्ध कराने के लिए रूक्मिणी सरोवर के पास शिविर लगाया गया है।

शुक्रवार को वन संरक्षक पदाधिकारी एस.चंद्रशेखर, डीएफओ अभिषेक कुमार व रेंजर अरविन्द कुमार के नेतृत्व में शिविर का उद्घाटन किया गया। इस शिविर में आकर तीर्थयात्री पौधे लेंगे और यहां से करीब 250 मीटर की दूरी पर बने पितृवाटिका में जाकर पौधरोपण करेंगे। इस नई पहल से पिंडदानियाें का जुड़ाव रहेगा।

पितृवाटिका में लगाए पौधा, पौधा लेने के लिए भरना होगा फॉर्म, देना होगा पता

वन विभाग द्वारा पौधा वितरण के लिए खोला गया काउंटर

हरियाली बढ़ाने को लेकर मिलेगा एक अच्छा संदेश

वन प्रमंडल पदाधिकारी अभिषेक कुमार ने बताया कि इस पहल से हरियाली को लेकर एक अच्छा संदेश जाएगा। सनातन धर्म में वृक्षों की भी पूजा होती है। इसी उद्देश्य से वन विभाग द्वारा इस पहल को शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि पिंडदानियों द्वारा लगाए गए पौधों की अच्छी देखरेख होगी। दोबारा जब पिंडदानी गया आएंगे तो वे इस पौधे को देख काफी खुशी महसूस करेंगे।

आज से 28 सितंबर तक प्रतिदिन संध्या 06:30 बजे से शुरू होगी फल्गु महाआरती

शहर के देवघाट-गजाधर घाट पर शनिवार से प्रतिदिन फल्गु महाआरती संध्या 06:30 बजे से शुरू होगी, जो 28 सितंबर तक चलेगा। इसकी जानकारी प्रतिज्ञा के संस्थापक बृजनंदन पाठक ने दी। उन्होंने बताया कि वाराणसी में आयोजित गंगा आरती के तर्ज पर पांच निपुण पंडितों के समूह द्वारा कलात्मक रूप से महाआरती की जाएगी। आरती स्थल के आगे पाइप द्वारा मंदिर की आकृति भी बनेगी। बढ़िया लाइट और साउण्ड सिस्टम भी लगाया जा रहा है। रंगीन वस्त्रों में पांच पंडितों द्वारा इसे कलात्मक रूप दिया जाएगा।

प्याऊ से पिंडदानियों को पिलाया जाएगा शरबत

बोधगया| स्थानीय धर्मारण्य में पिंडदान करने के लिए आने वाले श्रद्धालुओं का स्वागत तैलिय साहु सभा शरबत से करेगी। इसके लिए शुक्रवार को तैलिय साहु सभा के विवाह समिति अध्यक्ष धर्मवीर प्रसाद ने एक प्याऊ का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि निःशुल्क ठंडे पानी की व्यवस्था की जा रही है। इस मौके पर अजीत साव, अजय साव, मुकेश कुमार, गोपाल साव आदि उपस्थित थे।

श्रद्धालुओं के लिए बीटीएमसी ने लगाया नि:शुल्क स्वास्थ शिविर

बोधगया | बोधगया मंदिर प्रबंधकारिणी समिति ने पितृपक्ष मेला को देखते हुए श्रद्धालुओं के लिए स्वास्थ्य शिविर लगाया है। इस नि:शुल्क शिविर का उद्घाटन पूर्व प्रमंडल आयुक्त टीएन विंध्येश्वरी ने किया। शिविर नौ घंटे का है, प्रात: आठ बजे से 12 बजे तक व अपराह्न 02 बजे से सायं 07 बजे तक चिकित्सक मौजूद रहेगें। डा दिव्या भारती व डा मंजीत प्रकाश सहित तीन चिकित्सकों की सेवा उपलब्ध रहेगी। दवा भी नि:शुल्क दिए जाएगें। इस मौके पर बीटीएमसी सचिव नांजे दोरजे, मुख्य बौद्ध भिक्षु चालिंदा, केयर टेकर बौद्ध भिक्षु दीनानंद, भिक्षु बोधानंद मौजूद थे।

X
Gaya News - plant plants with name plate in memory of ancestors the forest department will take care of it
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना