कोहवारा में जमीन के विवाद में घर के बाहर सोए ग्रामीण की गोली मार हत्या

Gaya News - खिजरसराय प्रखंड अंतर्गत सरबहदा ओपी के कोहवारा गांव में अपराधियों ने घर के बाहर सोए ग्रामीण की गोली मारकर हत्या कर...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:50 AM IST
Kijarsray News - rural shoot dead slept outside of house in kohwa
खिजरसराय प्रखंड अंतर्गत सरबहदा ओपी के कोहवारा गांव में अपराधियों ने घर के बाहर सोए ग्रामीण की गोली मारकर हत्या कर दी। कनपटी और सीने में गोली मारी गई। अपराधियों का यह दु:साहस था, कि घर के बाहर ही घटना को अंजाम दे दिया और भाग निकलने में कामयाब रहे। बताया जा रहा कि कोहवारा गांव के विद्यानंद यादव उर्फ साधु जी 62 वर्ष अपने घर के बाहर नीम के पेड़ के नीचे सोए थे। इसी बीच देर रात्रि में पहुंचे अपराधियों ने वारदात को अंजाम दे दिया। सुप्तावस्था हालत में ही शरीर के दो स्थानों पर गोलियां दाग दी।

घटना के संबंध में परिजनों ने बताया कि जमीन विवाद में अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया है। विद्यानंद यादव ने सतामस गांव में 72 डिसमिल जमीन खरीदी थी। इसे लेकर कुछ लोगों के साथ पिछले पंद्रह दिनों से विवाद चल रहा था। इसे लेकर विद्यानंद के द्वारा अंचल कार्यालय और थाना में गुहार लगाई गई थी। किन्तु पुलिस-प्रशासन लापरवाह बना रहा।

गांव के लोगों पर ही परिजनों ने लगाया आरोप

जमीन विवाद में हुए मौत के बाद मृतक के शव के पास राेते-बिलखते परिजन।

मौके से बरामद गोली के दो खोखे।

चार दिन पहले मिट्टी भरा और जबरन मेड़ देकर जबरदस्ती कब्जे का प्रयास किया गया था

प|ी बेबी देवी व पुत्र सुनील कुमार ने बताया विवाद वाली जमीन पर चार दिन पहले मिट्टी भरा और जबरन मेड़ देकर जबरदस्ती कब्जे का प्रयास किया गया था। इसे लेकर रोके जाने पर विद्यानंद यादव को उक्त लोगों ने जान से मारने की धमकी दी थी। मृतक के पुत्र सुनील कुमार द्वारा दर्ज की गई एफआईआर में पांच को नामजद आरोपित बनाया गया है। इसमें सतामस गांव के राजाराम यादव, पप्पू यादव, राजेन्द्र यादव, कोहवारा गांव के कविन्द्र यादव और रवीन्द्र यादव का नाम शामिल है।

पहले से चली आ रही है रंजिश हत्या का था आरोप

कहा गया है कि कोहवारा गांव का ही रवीन्द्र यादव और कविन्द्र यादव ने मिलकर पूरे घटना की साजिश रची थी। इधर, विद्यानंद यादव और उसके भाई सतन यादव पर अपने भतीजे गनौरी यादव की हत्या का आरोप था। इसमें वह सालों से फरार चल रहा था। बीते वर्ष इनकी गिरफ्तारी हुई थी और इसके बाद अक्टूबर माह में जेल से बाहर आए थे। गौर करने वाली बात यह है कि कोहवारा के जिन दो लोगों का नाम दिया गया है, वे दस साल पहले मारे गए गनौरी यादव के पुत्र हैं। गनौरी यादव की हत्या हाथ काटकर नृशंस तरीके से कर दी गई थी।

आरोपितोंे की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी


Kijarsray News - rural shoot dead slept outside of house in kohwa
X
Kijarsray News - rural shoot dead slept outside of house in kohwa
Kijarsray News - rural shoot dead slept outside of house in kohwa
COMMENT