• Hindi News
  • Bihar
  • Gaya
  • Gaya News the holy monastery of buddhist monks going on for four months will be completed special worship will be done today

चार महीनों से चल रहा बौद्ध भिक्षुओं का पवित्र वर्षावास होगा संपन्न,आज की जाएगी विशेष पूजा

Gaya News - बौद्धों का पवित्र वर्षावास रविवार को संपन्न होगा। स्थानीय वट लाओ बुद्धगया इंटरनेशनल बौद्ध मठ में वर्षावास के...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 06:11 AM IST
Gaya News - the holy monastery of buddhist monks going on for four months will be completed special worship will be done today
बौद्धों का पवित्र वर्षावास रविवार को संपन्न होगा। स्थानीय वट लाओ बुद्धगया इंटरनेशनल बौद्ध मठ में वर्षावास के दौरान थाइलैंड, वियतनाम, भारत, लाओस के 70 बौद्ध भिक्षु वर्षावास कर रहे हैं। मॉनेस्ट्री के प्रभारी बौद्ध भिक्षु सायसाना बौंथवोंग ने बताया कि रविवार को विशेष पूजा का आयोजन होगा। उन्होंने कहा कि बौद्ध परंपरा में आषाढ़ मास की पूर्णिमा से वर्षावास प्रारंभ होता है और आश्विन मास की पूर्णिमा को समाप्त होता है। यह वर्षावास 4 माह का होता है, इसलिए इसे चतुर्मास भी कहते हैं। इस दौरान बौद्ध भिक्षु किसी एक बौद्ध विहार में रहकर अध्ययन करते हैं, ध्यान साधना करते हैं, ज्ञान अर्जन करते हैं। बोधगया के थेरवादी बौद्ध परंपरा को मानने वाले देश के बौद्ध मठों में इसका अनुपालन किया जा रहा है। रविवार को आश्विन पूर्णिमा पर यह वर्षावास समाप्त हो जाएगा। वर्षावास की अवधि में स्थान त्याग प्रतिबंधित था। भगवान बुद्ध भी इसका कड़ाई से पालन किया करते थे। भगवान बुद्ध ने सबसे ज्यादा 26 वर्षावास श्रावस्ती में व्यतीत किया था। वर्षावास का कारण पर्यावरण संरक्षण था। महावग्ग के अनुसार हरे तृण(घास) को मर्दन(दवाना) करते एक इंद्रियवाले जीव वृक्ष-वनस्पति को पीड़ा देने तथा अन्य छोटे-छोटे प्राणि समुदाय को हिंसा से बचाने के लिए वर्षावास की व्यवस्था की गयी थी। वर्षा के दौरान हरियाली बढ़ती है तथा कई प्रकार के जीवों का जन्म होता है। भिक्षुओं के विचरण से इसके नष्ट की संभावना बनी रहती थी। वर्तमान संदर्भ में इसे पर्यावरण संरक्षण का धार्मिक-अध्यात्मिक कड़ी माना जा सकता है। वर्षावास के दौरान भिक्षु या श्रमण धर्म और अध्यात्म से जुड़ते हैं। आपसी चर्चा से बौद्धिक संपदा की अभिवृद्धि होती है। बौद्ध विहार में रहकर भिक्षु अध्ययन, ध्यान-साधना व ज्ञान अर्जन करते हैं।

वर्षावास के दौरान अध्ययन करते बौद्ध भिक्षु।

X
Gaya News - the holy monastery of buddhist monks going on for four months will be completed special worship will be done today
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना