पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Gopalganj News 67 Patients Waited From Eight O39clock In The Morning Doctors Arrived After 4 Hours Cs Said Now Action Will Be Taken

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सुबह आठ बजे से 67 मरीज करते रहे इंतजार,4 घंटे बाद पहुंचे डॉक्टर्स,सीएस बोले-अब होगी कार्रवाई

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सदर अस्पताल में यहां भले मरीजों को घंटों इंतजार करना पड़े, लेकिन डॉक्टरों का समय उनके ही हिसाब से चलता है। ज्यादातर डॉक्टर स्वास्थ्य विभाग की गाइड लाइन को लेकर बेपरवाह हैं।ओपीडी में लेट आना और समय से पहले जाने का ट्रेंड चल पड़ा है। मॉनिटरिंग के अभाव में ऐसे हालात बन रहे हैं। इसका खामियाजा रोगियों, परिजन को भुगतना पड़ता है। जब तक डॉक्टर ना आएं, जांच-उपचार के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है। साेमवार को भी यही हुआ। रविवार के ओपीडी बंद रहने के कारण सोमवार को मरीजों की भीड़ थी। तीन रजिस्ट्रेशन काउंटर में एक बंद था। एक काउंटर पर महिला मरीजों की भीड़ लगी हैं। सुबह 11:55 बजे तक 475 मरीजों का रजिस्ट्रेशन किया हैं। सोमवार को भी 10 बजे के बाद ही डाॅक्टर ओपीडी पहुंचे। सोमवार को 12:00 बजे डॉ एके अकेला और नेत्र विशेषज्ञ डॉ एसके गुप्ता अपने कक्ष में बैठे थे। बाकी कक्ष खाली थे। ऑर्थोपेडिक डॉक्टर के आने के इंतजार में उनके कक्ष के सामने सैकड़ों मरीज फर्श पर बैठे हैं।

डॉक्टर के समय से नहीं आने से मरीजों का नहीं हो पाता इलाज

सोमवार को ओपीडी में चिकित्सकीय कार्य के प्रति संवेदनहीनता भी नजर आयी। सुबह आठ बजे से ही मरीजों का तांता निबंधन काउंटर पर लगा रहा। काफी समय कतार में लगने के बाद जब मरीजों का निबंधन हुआ तो वे अपने पुर्जे को लेकर ओपीडी चिकित्सक के पास जाकर कतारबद्ध हो गये। मगर चिकित्सकों के समय से नहीं आने के कारण मरीजों को इंतजार करना पड़ा। ड्यूटी रोस्टर के अनुसार ओपीडी में दो जनरल फिजीशियन की प्रतिदिन ड्यूटी हैं। वहीं हमेशा एक चिकित्सक अनुपस्थित रहते हैं। जिसके कारण मरीजों का ससमय इलाज नहीं हो पाता और दोपहर 1:00 बजते ही ओपीडी सेवा बंद कर दी जाती है।

सिविल सर्जन बोले- सही तरीके से जिम्मेदारी नहीं निभाने वाले डॉक्टर पर होगी कार्रवाई
ओपीडी में लगा हुआ है शौचालय का गंदा पानी।

6 घंटे की ड्यूटी देने में भी चिकित्सक नहीं हैं सक्षम
ओपीडी के चिकित्सकों को ओपीडी में 6 घंटे की सेवा देनी होती है। सुबह 8 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक। मगर अक्सर चिकित्सक आधे से एक घंटे लेट पहुंचते हैं। वहीं इनकी ड्यूटी दोपहर 1:00 बजने से कुछ मिनट पहले चले जाते है। डॉक्टरों के आने जाने का समय सीसीटीवी कैमरा में कैद होती हैं। अगर सीसीटीवी कैमरा को देखा जाए तो कौन डॉक्टर कब आए और कब गए। इसकी जानकारी हो जाएगी।

जांच करते डॉक्टर

दोपहर 12: बजे तक ऑर्थोपेडिक डॉक्टर नहीं पहुंचे ओपीडी कक्ष में

दोपहर 12: बजे ऑर्थोपेडिक डॉक्टर के इंतजार में उनके कक्ष के सामने 50 से 60 मरीज फर्श पर बैठे हैं। मरीज रमेश कुमार,सोनी देवी, कविता कुमारी ने बताया कि सुबह से डॉक्टर के इंतजार में बैठे हैं। कोई भी डॉक्टर अभी तक नहीं आया। इसको देखने वाला कोई अधिकारी भी नहीं हैं।

महिला डॉक्टर का कक्ष खाली।

दोपहर 12:20 बजे पहले चेकअप कराने के लिए मरीजों में धक्का-मुक्की डॉ संजीव कुमार ऑर्थोपेडिक कक्ष में पहुंचे। चेकअप कराने के लिए गेट पर मरीजों की भीड़। पहले हम तो पहले हम चेकअप कराने के लिए मरीजों में धक्का मुक्की। गेट पर होमगार्ड का जवान मरीजों को शांत करता हैं। मरीजों का आरोप हैं कि अगर डॉक्टर समय से आते तो इतना भीड़ नहीं रहता।

सदर अस्पताल के रजिस्ट्रेशन काउंटर पर महिलाओं की लगी भीड़

दोपहर 12:30 बजे ओपीडी के महिला कक्ष खाली

दोपहर 12:30 बजे। महिला कक्ष खाली। ड्यूटी रोस्टर के अनुसार सोमवार को डॉ अनीता का ड्यूटी हैं। वह दोपहर 12:30 बजे अपने कक्ष में नहीं थी। उनके इंतजार में महिला मरीज बैठी हैं। सुरक्षा के लिए तैनात महिला होमगार्ड के जवान ने बताया कि दीदी एक घंटा पहले आई थी। आपरेशन थिएटर में गई हैं।

जिम्मेदारी नहीं निभाने वाले डॉक्टर पर होगी कार्रवाई

अपनी जिम्मेदारी सही तरीके से नहीं निभाने वाले डॉक्टर पर अब कड़ी कार्रवाई की जायेगी। चिकित्सकों को सख्त हिदायत दी गयी है कि वे ससमय सेवा भाव से कार्य करें। अनुपस्थित पाये जाने वाले चिकित्सकों पर विधि सम्मत कार्रवाई की जायेगी।

डा. एनके प्रसाद सिंह,सिविल सर्जन,गोपालगंज

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें