• Hindi News
  • Bihar
  • Gopalganj
  • Gopalganj News co ordinators and consultants go to the farmers39 house and explain the benefits of high yields at low cost

को-ऑर्डिनेटर अौर सलाहकार किसानों के घर जा कम खर्च में अधिक पैदावार के गुर बताए

Gopalganj News - किसानों को रबी मौसम के लिए कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी दी गई। मौसम में फसलों की उत्पादकता तथा...

Nov 09, 2019, 08:22 AM IST
किसानों को रबी मौसम के लिए कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी दी गई। मौसम में फसलों की उत्पादकता तथा किसानों की आमदनी बढ़ाने को ले एक दिवसीय प्रशिक्षण कृषि कार्यालय परिसर में शुक्रवार को आत्मा के तत्वावधान में आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला कृषि पदाधिकारी वेद नारायण प्रसाद सिंह ने की। कार्यक्रम की शुभारंभ जिलापदाधिकारी अरशद अजीज ने दीप प्रज्जवलित करके किया। डीएम ने कहा कि यहां की 80 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है। सीमित संसाधन के बीच हम किसान भाइयों को प्रशिक्षित कर खाद्यान्न के मामले में लक्ष्य तक पहुंचना होगा। तभी आमजन में सुख समृद्धि आ पायेगी। कहा कि कोऑर्डिनेटर, किसान सलाहकार किसान भाई के घर तक जाकर कम खर्च में अधिक पैदावार के गुर बताये ताकि उनकी आमदनी दोगुनी की जा सके।

कृषि कार्यालय में प्रशिक्षण में शामिल कृषि कर्मी

फसल अवशेष जलाने पर जनजीवन पर पड़ता है बुरा असर

उन्होंने फसल अवशेष जलाने के जन जीवन को होने वाले नुकसान के विशष में विस्तार से समझाया। कहा कि फसल अवशेष में आग लगाने से केवल पर्यावरण खराब होता है, बल्कि अवशेषों में मौजूद पोषक तत्व भी आग में जलकर स्वाह हो जाते हैं। अवशेष आग के हवाले करने से ग्रीन हाउस गैसों का अधिक मात्रा में उत्सर्जन होता है जिससे ओजोन की परत को नुकसान पहुंच रहा है। जलने से सल्फर डाईआक्साइड नाइट्रोजन ऑक्साइड जैसी गैस निकलती हैं जिससे आंखों में जलन पैदा होती है। फसल अवशेष जलाने की वजह से कैंसर जैसी बीमारी के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। आग से होने वाले नुकसान को लेकर वैज्ञानिकों के चेहरों पर चिंता की लकीरें हैं।

कृषि कार्यालय के प्रांगण में एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ करते डीएम

पंचायत में चौपाल लगाकर किसानों को दी जाएगी जानकारी

परियोजना निदेशक आत्मा भूपेन्द्र मणी त्रिपाठी ने बताया कि रबी मौसम में फसलों की बुआई अग्रिम रूप से करने के लिए यह जागरुकता अभियान पंचायत में चौपाल लगाया जायेगा। इस अभियान के माध्यम से किसानों को कृषि संबंधी तकनीकी प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी मिलेगी। विभिन्न उपादानों का वितरण पारदर्शी तरीके से सुनिश्चित किया जाएगा। इस अवसर पर कृषि समन्वयक इम्तेयाज आलम,बैजनाथ बैठा,रूपेश कुमार,अरविंद कुमार तिवारी,प्रमोद कुमार सिंह, एवं किसान सलाहकार कौशल किशोर,गौतम पडित आदि मौजूद थे।

अनुदानित बीज योजना का लें लाभ

डीएओ ने ऑनलाइन पद्धति से अनुदानित बीज योजना का लाभ अधिक से अधिक किसानों को उपलब्ध कराने सहित अन्य कृषि योजनाओं का लाभ ज्यादा से ज्यादा किसानों तक पहुंचे इसपर बल दिया।मुख्यमंत्री तीव्र बीज विस्तार योजना में प्रत्येक राजस्व गांव के दो किसानों को 90 प्रतिशत अनुदान पर आधा एकड़ खेत के लिए प्रत्यक्षण बीज दिया जायेगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना