वाहन चोरों की बढ़ी सक्रियता एक माह में 43 बाइक चोरी

Gopalganj News - शहर से लेकर गांव के हाट बाजारों से वाहन चोरी का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। चोरों की सक्रियता के आगे पुलिस...

Nov 11, 2019, 07:30 AM IST
शहर से लेकर गांव के हाट बाजारों से वाहन चोरी का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। चोरों की सक्रियता के आगे पुलिस लाचार सी बन गई है। वाहन चोरों का पता नहीं लगा पाने से अब पुलिस की कार्यप्रणाली पर लोग उंगली उठाने लगे हैं।

चोर किसी न किसी इलाके में हर एक दो दिन में वाहन की चोरीकर रहे हैं। सरकारी कर्मियों तक वाहन चोरों के निशाने पर हैं। इस साल में अब तक सौ से भी अधिक वाहन पर चोर हाथ साफ कर चुके हैं। पिछले एक माह से चोरों ने 43 बाइक चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया। इसके बावजूद पुलिस वाहन चोरी के बढ़ते मामले पर लगाम लगाने की कारगर व्यवस्था नहीं कर सकी है।

पुलिस रात में नहीं करती है गस्ती

शहर से लेकर ग्रामीण इलकों में वाहन चोरों की सक्रियता काफी बढ़ गई है। इसका प्रमुख कारण है कि पुलिस रात में गस्ती नहीं करती हैं। अगर गस्ती पर निकलती हैं तो उसे बड़ी गाड़ियों पर नजर रहती हैं। जांच के नाम कुछ रकम मिल जाए।

वाहन चोर गिरोह के सदस्य की सक्रियता का आलम यह है कि जिला मुख्यालय में कलेक्ट्रेट परिसर में खड़ी किए गए वाहन सुरक्षित नहीं है। प्रखंड में खड़े वाहन सुरक्षित नहीं हैं। उचकागांव प्रखंड में सरकारी कर्मचारी की बाईक दिन दहाड़े चोरी कर ली गई।

एक वर्ष में 200 से 250 से अधिक बाइक की हुई है चोरी

आंकड़े बताते हैं कि पूरे जिले में इस साल अबतक 200 से 250 भी अधिक वाहनों को चोरी हुई हैं। दो-चार मामलों को छोड़ अधिकांश मामलों का उद्भेदन कर पाने में पुलिस अबतक विफल रही है। जिला मुख्यालय के साथ ही सुदूर ग्रामीण इलाकों में भी वाहन चोरी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। हद तो यह कि कई वाहन चोरी के मामलों में चोरों का पता लगा पाने में विफल रहने पर पुलिस घटना को सत्य, लेकिन सूत्रहीन बताकर जांच बंद कर दे रही है। ऐसे में कई चोरी के मामले पुलिस की फाइलों में ही दफन होकर रह जाते हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना